Advertisements

Sakshi Malik Latest News in hindi : साक्षी मालिक ने लिया संन्यास, इंसाफ न मिलने के कारण लिया बड़ा फैसला

Sakshi Malik Latest News in hindi: साक्षी मलिक ने कुश्ती छोड़ने का फैसला लिया, भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण पर लगाए गए थे यौन उत्पीड़न के आरोप, इतने बड़े संघर्ष के बाद भी नहीं मिल पाया है न्याय

भारत की महिलाएं अब हर फील्ड में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रही है। साक्षी मलिक जो की ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट है। उन्होंने कुश्ती खेल में भारत का नाम कई बार रोशन किया है। इन्हें भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लोग जानते हैं। हरियाणा की रहने वाली साक्षी मलिक ने भारत के लिए कई बड़े मैचो में गोल्ड मेडल हासिल किया है।

Advertisements

लेकिन हाल ही में ही इन्होंने कुश्ती त्याग दी है। कुश्ती खिलाड़ी के रूप में अब इनका करियर अब खत्म हो चुका है। क्योंकि इन्होंने अपनी मर्जी से इस्तीफा दे दिया है। हाल ही में ही साक्षी मलिक ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके यह फैसला लिया है । चलिए हम आपको पूरी जानकारी विस्तार से दे देते हैं इतना बड़ा फैसला एक खिलाड़ी ने कैसे ले लिया है ।

इनके इस फैसले से भारतीय फैंस काफी ज्यादा नाराज भी है और साक्षी मलिक को वह कुश्ती लड़ता हुआ देखना चाहते थे। लेकिन अब शायद ऐसा कभी नहीं हो पाएगा। चलिए पोस्ट के माध्यम से साक्षी मलिक (Sakshi Malik) के बारे में पूरी जानकारी जानते हैं, ऐसा ने कुश्ती छोड़ने का फैसला क्यों किया है।

Sakshi Malik
Sakshi Malik

Sakshi Malik ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण पर लगाए गए थे यौन उत्पीड़न के आरोप (Sakshi Malik Latest News in hindi)

यह बात तो आप सभी को पता ही होगी कि पिछले 1 साल में कुश्ती खिलाड़ियों ने जमकर दिल्ली में अपना प्रदर्शन किया था। महिला कुश्ती प्लेयर के अलावा पुरुष कुश्ती प्लेयर ने भी महिला प्लेयर का साथ दिया था। सभी ने मिलकर दिल्ली में धरना प्रदर्शन किया था। दरअसल मामला यह था कि भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण के द्वारा लगातार महिला प्लेयर का यौन उत्पीड़न किया जा रहा था।

यौन उत्पीड़न से तंग आकर सभी महिला कुश्ती प्लेयर ने बृजभूषण के खिलाफ आवाज उठाने का फैसला किया। इन्होंने अपने करियर के बारे में कुछ नहीं सोचा। क्योंकि उनकी इज्जत दांव पर लगी थी। सबका नेतृत्व साक्षी मलिक(Sakshi Malik) ने  किया। यह खुद कुश्ती प्लेयर है। भारत के लिए यह कई बार खेल चुकी है और गोल्ड मेडलिस्ट भी है।

Krutrim AI हुआ लॉन्च, 22 भाषाओं में कर सकेगा काम, जानिए पूरी जानकारी

ओलंपिक में इन्होंने शानदार परफॉर्मेंस करके भारत के लिए गोल्ड जीता था। सभी प्लेयर ने धरना प्रदर्शन किया और लंबे समय से बृजभूषण के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे थे। कोर्ट में भी मामला चल रहा था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी न्याय की गुहार लगाई गई थी। आखिरकार इनकी कोशिशें के बाद बृजभूषण को भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है। लेकिन अध्यक्ष के पद से हटाए जाने के बाद पूरा मामला खत्म नहीं होता है।

बृजभूषण के करीबी संजय सिंह बबलू को बनाया गया है भारतीय कुश्ती संघ का नया अध्यक्ष

दरअसल हाल ही में ही कुछ दिन पहले जब बृजभूषण को भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष के पद से हटाया गया था, तो उसके बाद दोबारा से चुनाव हुए थे। यानी कि नए पद के लिए उम्मीदवार को चुना था। हाल ही में ही संजय सिंह बाबू को भारतीय कुश्ती संघ का नया अध्यक्ष बना दिया गया है।

दोस्तों आपको बना दें कि यह संजय सिंह बाबू बृजभूषण के ही करीबी माने जा रहे हैं और यह भी बीजेपी के ही नेता है। संजय सिंह बाबू को भारतीय कुश्ती संघ का नया अध्यक्ष बनाने के बाद सभी  प्लेयर काफी ज्यादा टूट गए हैं ।

क्योंकि बृजभूषण को तो उन्होंने पद से हटवा दिया था, लेकिन बृजभूषण के ही करीबी व्यक्ति को सरकार ने भारतीय कुश्ती संघ का अध्यक्ष क्यों बना दिया है। इसी वजह से सभी प्लेयर काफी ज्यादा नाराज हो गए हैं।

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram group Join Now

इतने बड़े संघर्ष के बाद भी नहीं मिल पाया है न्याय

  • संजय सिंह बाबू को भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बनने के बाद यह तो साफ हो चुका है कि अभी भी Sakshi Malik वा अन्य महिला प्लेयर को न्याय नहीं मिला है। क्योंकि जो नया अध्यक्ष बनाया गया है,तो वह बृजभूषण का ही करीबी है। तो ऐसे में सिर्फ चेहरा बदल गया है। 
  • लेकिन जिस प्रकार बृजभूषण महिला प्लेयर व अन्य प्लेयर को टॉर्चर किया करते थे,यह भी आगे देखने को मिल सकता है। बृजभूषण को सिर्फ पद से हटा दिया था । लेकिन उनके खिलाफ अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो पाई है। इसीलिए साक्षी मलिक वा अन्य महिला प्लेयर को अब तक इंसाफ नहीं मिल पाया है।
  • हाल ही में ही साक्षी मलिक ने संजय सिंह बाबू का भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बनने के बाद कुश्ती पद से इस्तीफा दे दिया है। क्योंकि वह नहीं चाहती कि भविष्य में उनके साथ कोई भी यौन उत्पीड़न का मामला फिर से हो।

Pm Drone Didi Yojana kya hai: हर महीने 15000 कमाने का सुनहरा मौका

दिल्ली में कॉन्फ्रेंस करके लिया अहम फैसला

हाल ही में ही गुरुवार को ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट साक्षी मलिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में इन्होंने यह जानकारी दी है कि वह काफी टूट चुकी है और इतनी कोशिश के बाद भी आज तक उन्हें न्याय नहीं मिल पाया है। जब नेशनल और इंटरनेशनल प्लेयर को न्याय नहीं मिल रहा है, तो आम जनता सरकार से न्याय की उम्मीद कैसे कर सकती है।

उन्होंने कॉन्फ्रेंस में बताया कि संजय सिंह बाबू बृजभूषण का ही करीबी है। सिर्फ संजय सिंह बाबू को एक नए चेहरे के रूप में लाया गया है। पीछे जो भी काम किया जाएगा, वह आगे भी बृजभूषण के इशारों पर किया जाएगा। इसलिए सरकार के द्वारा लिए गए इस फैसले से वह काफी ज्यादा दुखी है। उन्हें न्याय नहीं मिला है।

इसीलिए वह हमेशा के लिए कुश्ती छोड़ रही है और इतना कह कर वह रोने लगी और फिर अपने जूते उतार दिए। दोस्तों साक्षी मलिक को न्याय तो मिलना चाहिए था। साक्षी मलिक के अलावा काफी महिला प्लेयर ने यौन उत्पीड़न से संबंधित मामला दर्ज भी करवाया था। लेकिन उन्हें कोई सरकार की ओर से अच्छा रिस्पांस नहीं मिला है। 31 साल की साक्षी मलिक को फैंस ने पूरा सपोर्ट किया है। लेकिन सरकार ने इस तरफ ध्यान ज्यादा नहीं दिया है। 

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram group Join Now

अब देखना यह होगा कि साक्षी मलिक के इस नए कदम से सरकार पर क्या इफेक्ट पढ़ने वाला है और आगे क्या संजय सिंह बाबू जो कि अब भारत कुश्ती संघ के नए अध्यक्ष हैं,उनकी छत्र छाया में क्या महिला प्लेयर सुरक्षित रहेंगी या फिर से यौन उत्पीड़न जैसे मामले देखने को मिलेंगे । यह तो टाइम आने पर ही पता चलेगा। आप कि इस बारे में क्या राय है। कमेंट सेक्शन में कमेंट करके जरूर बताना।

HomeGoogle News

Leave a Comment