आज है विश्व धरोहर दिवस  आइये जानें इसका इतिहास

पहली बार 1972 में स्वीडम, स्काटॅहोम में संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में विश्व धरोहर दिवस के महत्व के बारे में चर्चा की गई।

1983 में यूनेस्कों के 22वें सम्मेलन में विश्व धरोहर दिवस (World Heritage Day) को अधिकारिक मान्यता प्रदान की गई

विश्व धरोहर दिवस  को मान्यता

विश्व की बेशकीमती धरोहरों को संरक्षित करने एवं अपने इतिहास की सांस्कृतिक स्मारक स्थलों की रक्षा करना।

विश्व धरोहर दिवस का उद्देश्य

दुनिया में सबसे अधिक इटली में हेरिटेज साइट्स की संख्या 51 चीन में 48, स्पेन में 44, फ्रांस में 41, जर्मनी में 40, मेक्सिको 33

भारत की वैश्विक धरोहरे के नाम क्या है?

अजंता की गुफाएं, एलोरा की गुफाएं, महाबली पुरम के स्मारक  Full List

जटिल अतित और विविध भविष्य (Complex Pasts: Diverse Future)

विश्व विरासत दिवस 2022 की Theme क्या है?

विश्व विरासत दिवस 2021 की Theme

सभी रोचक जानकारियां सरल हिंदी भाषा में 

पूरा लेख (Article)  यहां पढ़े

रोचक व मजेदार, आकर्षण और जिज्ञासा भरे तथ्यों को जानने के लिये।

White Dotted Arrow