बप्पी लहरी का जीवन परिचय, निधन | Bappi Lahiri Biography in hindi

बप्पी लहरी कौन थे, बप्पी लहरी की जीवनी, परिवार, जाति, धर्म, उम्र Bappi Lahiri Biography in hindi, Networth, age, family, superhit songs, awards

भारत के मशहूर गायक बप्पी दा जिन्होंने भारत की फिल्म इंडस्ट्री बॉलीवुड में पॉप संगीत को एक अलग पहचान दी। संगीत के अलावा उन्हें सोने (Gold) से बहुत लगाव था।

उनका जन्म सन् 1952 को पंश्चिम बंगाल में हुआ था, जहां की धरती हमेशा मीठे सुरों वाले गायकों को जन्म देती रही है।

उनका असली नाम अलोकेश लाहिड़ी था। वह एक सिंगर, म्यूजिक कॉपोजर, रिकार्डर एवं निर्माता थे। उन्होंने राजनीति में भी हाथ आजमाया था लेकिन सफल नहीं हुये। हाल ही में 15 फरवरी 2022 को 69 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। यह बात जानकार के फिल्म जगत में मायूसी फैल गई।

बप्पी दा ने छोटी सी 4 साल की उम्र से ही तबला बजाना प्रारम्भ कर दिया था। उन्होंने हिंदी, बंगाली, तेलुगू, तमिल, कनाडा, और गुजराती भाषाओं के मशहूर गानों में अपनी आवाज दी है। उन्होंने एक तरीके से Synthesized Disco Music में क्रांति लानी प्रारंभ कर दी थी। वाकई में 15 फरवरी 2022 को बप्पी लहरी का युग समाप्त हुआ।

बप्पी लहरी अपने आप में एक महान कलाकार थे, इसीलिए उनके बारे में जानना बनता भी है। इसीलिए आज के लेख में हम आपको बताएंगे क्या अलोकेश लहरी कौन थे, उन्होंने संगीत जगत में अपना क्या योगदान दिया था, बप्पी लहरी को कौन-कौन से अवार्ड मिले हैं इसके साथ-साथ हम आपको उनके गोल्ड के प्रति लगाव के बारे में भी बताएंगे।

बप्पी लहरी का जीवन परिचय |Bappi-Lahiri-Biography-in-hindi

बप्पी लहरी का जीवन परिचय (Bappi Lahiri Biography in hindi)

बप्पी लहरी कौन थे?

Bappi Lahiri संगीत जगत में क्रांतिकारी संगीत बनाने वाले एक संगीत कंपोजर थे। तथा उन्होंने संगीत जगत में synthesized Disco Music बनाने का काम किया था। और उनकी अनोखी मधुर आवाज के लिए उन्होंने बंगाली फिल्मों में जैसे कि अमर संगी, आशा ओ भालोबाशा, अमर तुमि, अमर प्रेम, मंदिर, बदनाम, रक्तलेखा, प्रिया इन सभी फिल्मों के गानों में अपनी आवाजें दी हैं।

इसके अलावा उन्होंने 1980 से लेकर के 1990 के दशक में हिंदी फिल्म जगत के कई फिल्मों में अपनी आवाज में गाने के तौर पर दी हैं, जैसे की वारदात, डिस्को डांसर, नमक हलाल, शराबी, नौकर बीवी का, नया कदम, मास्टरजी, बेवफाई, मकसद, सुराग, इंसाफ मैं करूंगा, डांस डांस, कमांडो, साहेब, अधिकार, आज का MLA, राम अवतार इत्यादि।

इन सबके अलावा वे एक सिंगर थे, कंपोजर थे, प्रोड्यूसर थे, पॉलीटिशियन भी थे। उन्होंने सन 2014 में भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन करी थी, तथा उन्होंने पश्चिम बंगाल के श्रीरामपुर इलाके से लोकसभा का चुनाव लड़ा था, लेकिन 2014 के जनरल इलेक्शन में वे हार गए थे।

बप्पी लहरी जी का प्रारंभिक जीवन

बप्पी लहरी जी का जन्म बंगाली ब्राह्मण परिवार में दिनांक 27 नंबवर 1952 को प. बंगाल के जलपाईगुड़ी नामक स्थान पर हुआ था।।

उनके माता पिता का नाम अपरेश लहरी तथा बांसुरी लहरी था। वह दोनों ही बंगाली म्यूजिक इंडस्ट्री में संगीतकार थे, तथा क्लासिकल म्यूजिक फॉर्मेट का गाना गाते थे। अपने माता-पिता के वे एकलौती संतान थे। तथा उनके रिश्तेदारों में एक नाम महान किशोर कुमार का भी था, जो उनके मामा लगते थे।

कहा जाता है कि उन्होंने मात्र 3 वर्ष की आयु में ही तबला बजाना शुरू कर दिया था। उन्हें संगीत के यंत्रों से बहुत लगाव व प्रेम था। संगीत उनके परिवार में गहराई से रचा बसा हुआ था। जिसकों आधार बनाकर उन्होंने भारतीय शास्त्रीय संगीत में एक पॉप संगीत का नया दौर शुरु किया और कई रिकार्ड बनाये एवं प्रसिद्धी प्राप्त की।

उनका विवाह सन 1977 में 24 जनवरी के दिन चित्रानी लाहिरी से सम्पन्न हुआ था। उनकी दो संताने है बेटी रेमा, बेटा लाहिरी है उनकी बेटी गायिका के प्रोफेशन में है और बेटा मशहूर संगीत निर्देशक हैं।

बप्पी लहरी जी का करियर

बप्पी लहरी का संबंध सिंगर फैमिली से था। उनके मामा किशोर कुमार, माता-पिता मशहूर शास्त्रीय गायक थे। उन्होंने अपनी छोटी सी उम्र से ही रियाज करना शुरु कर दिया था और गाने की नस का पकड़ लिया था। उन्होंने सबसे पहले 19 साल की उम्र में बंगाली फिल्म दादू के लिये म्यूजीक कॅपोज किया था। उनकी पहली हिंदी फिल्म 1973 में नन्हा शिकारी के लिये संगीत दिया था जिसके बाद 1975 में आई फिल्म जख़्मी और साल 1976 में चलते-चलते के महशूर गाने ‘‘मेरे यह गीत याद रखना’’ के लिये संगीत दिया जोकि आज गोल्डन गानों की हिट लिस्ट में शुमार हैं। Bappi Lahiri 1970, 1980, और 1990 के शुरुआती समय में बहुत ज्यादा फेमस हुए थे।

Bappi Lahiri जी मुख्य रूप से डिस्को स्टाइल के गानों के लिए जाने जाते थे। उन्होंने भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में गानों के संदर्भ में क्रांति लाने के लिए कुछ गाने लिखने भी लगे। उन्होंने डिस्को सॉन्ग के अलावा और भी कई बेहतरीन गाने दिए हैं।

उन्होंने 1983 में आई फिल्म ‘डिस्को डांसर’ के लिये म्यूजिक दिया था। इस फिल्म का गाना बहुत मशहूर हुआ कि जोकि उनके कैरियर की टर्निंग प्यांइट (Turning Point) साबित हुई। मिथुन चक्रवर्ती के द्वारा फिल्माये गये गाने आई एम ए डिस्कों डांसर ने धूम मचा दी थी और पॉप और डिस्को गानों के एक नये दौर की शुरुआत हुई। बप्पी जी ने चार दशकों तक लगभग 600 फिल्मों में उन्होंने लगभग 5000 गाने गाये और संगीत दिया।

बप्पी लहरी के 10 मशहूर गाने

फिल्मसुपरहिट गाने
चलते चलते-1976चलते चलते ये मेरे गीत याद रखना…
आप की खातिर -1977बाम्बे से आया मेरा दोस्त दोस्त को सलाम करों….
डिस्को डांसर -1982आई एम ए डिस्को डांसर..
नमक हलाल -1982पग घूंघरु बांध मीरा नाची थी…
शराबी – 1984इंतहा हो गई इंतजार की…
साहब -1985यार बिना चैन कहा रे…
आज का अर्जुन – 1991गोरी है कलाईया…
आंखें – 1993ओ लाल दुपट्टे वाली…
द डर्टी पिक्चर – 2011ऊ-ला-ला-ऊ……
गुंडे- 2013तूने मारी एंट्रीयां दिल में बजी

बप्पी लहरी की उपलब्धियां (Awards and Achievements)

सन 1982 में उन्हें Best Music Director के लिए Film Fair Award से नवाजा गया।

1983 में भी Best Music Director के लिए Film Fair Award से नवाजा गया।

1985 में भी Best Music Director के लिए Film Fair Award से नवाजा गया।

1991 में भी उन्हें Best Music Director के लिए Film Fair Award से नवाजा गया।

2018 में उन्हें Life time Achievement Awards के लिए Film Fair Award से नवाजा आ गया।

बप्पी लहरी का सोने के प्रति गहरा लगाव क्यों था?

अमेरिकी गायक और म्यूजिक एल्विस प्रेस्ली के स्टाइल से काफी प्रभावित हुए तथा उसके बाद से उन्होंने गहने पहनना शुरू किया। बप्पी जी सोने को अपने लिये बहुत ही लकी मानते थे। धीरे-धीरे उनका यह एक अनोखा स्टाइल ही बन गया था और लोग उन्हें गोल्डन मैंन कहने लगे थे।

बप्पी लहरी का राजनीतिज्ञ के रुप में कैरियर

Bappi Lahiri का Political career लगभग शुरू होने से पहले ही खत्म हो गया था। Bappi Lahiri जी ने 31 जनवरी 2014 को भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन किया था, और उनको राजनाथ सिंह ने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन करवाई थी। और उस समय 2014 के लोक सभा इलेक्शन के लिए वह श्रीरामपुर constituency से बीजेपी के कैंडिडेट के रूप में खड़े हुए थे। तथा उन्होंने बंगाल से भारतीय जनता पार्टी के नेशनल प्रेसिडेंट का कार्यभार भी संभाला। लेकिन 2016 के लोकसभा चुनाव में वह कल्याण बनर्जी के सामने से हार गए।

बप्पी लहरी की नेटवर्थ एवं लाइफस्टाइल

बप्पी लहरी जी संगीत की दुनियां में पॉप को नये रुप में पेश किया। उन्होंने कई महशूर गाने दिये। उनके पास 3 मिलीयन अमेरिकी डॉलर यानी भारतीय रुपयों में 22 करोड़ आकी गई हैं। वह एक लग्जरी लाइफ जीते थे हम सभी लोग उन्हें सोने व हीरे के गहने पहने एक स्टाईलिश परर्सनेलिटी (Personality) के रुप में जानते हैं। बप्पी जी फिल्मों में काम करने म्यूजिक देने या गाने के आठ से दस लाख रुपये लेते थे।

2014 चुनाव में उनके द्वारा हलफनामें के अनुसार उनके पास 754 ग्राम सोना है जिसकी आज के समय में कीमत लगभग 35 लाख रुपये हैं। वह एक ऑलीशान बंगले में रहते थे इसके साथ-साथ उनके पास कई लग्जरी कारें जिसमें बीएमडब्ल्यू व टेस्ला जैसी लग्जरीयस गाड़ियॉ शामिल हैं।

बप्पी लहरी की मृत्यु का कारण क्या था?

Bappi Lahiri जी की मृत्यु रात्रि के समय नींद लेते समय में होने वाली श्वास की दिक्कत के कारण हुई है। इस बीमारी को  Obstructive Sleep Apnea कहा जाता है। इस बीमारी के दौरान यदि हमारा अवचेतन मन जागृत नहीं है या फिर हम नींद में है, तो हमें सास लेने में बहुत बड़ी दिक्कत होने लगती है

इस बीमारी की वजह से 15 फरवरी 2022 को 69 वर्ष की आयु में Bappi Lahiri जी की मृत्यु हो गई। उनके आज के समय दो संतान हैं जिनमें 1 पुत्र जिसका नाम बप्पा लहरी तथा एक पुत्री जिसका नाम रेमा लहरी है। Bappi Lahiri जी की मृत्यु पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केबिनेट मिनिस्टर स्मृति ईरानी, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, और फिल्म जगत के कई सितारों ने भी अपना दुख जताया है।

निष्कर्ष

तो आज के लेख में Bappi Lahiri biography in hindi में हमने बताया कि बप्पी लहरी कौन थे?, Bappi Lahiri जी ने अपने जीवन में क्या-क्या उपलब्धियां हासिल की, और किस प्रकार से भारतीय संगीत में पॉप सिंगिग का रोमांच पैदा किया और भारतीय संगीत जगत में पॉप सिंगिग की शुरुआत में अहम भूमिका निभाई। हमे उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा। कृपया इसको ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि इस प्रकार की उपयोगी जानकारी और लोगों तक भी पहुंचे।

FAQ

प्रश्न- बप्पी लहरी की पहली फिल्म कौन सी थी?

उत्तर- उनकों पहला ब्रेक बंगाली फिल्म ‘‘दादू’’ में मिला था।

प्रश्न- बप्पी लहरी की कुल सम्पत्ती कितनी है?

उत्तर- प्राप्त जानकारी के अनुसार उनकी कुल सम्पत्ती लगभग 23 करोड़ रुपये अनुमानित राशि आकी गई है।

प्रश्न-बप्पी लहरी की पत्नी का नाम क्या है?

उत्तर- चित्रानी लहरी

Leave a Comment