चिली में मिला दुनियां का सबसे पुराना पेड़ | World Oldest Tree in hindi

दुनियां का सबसे पुराना जीव हो या सबसे पुराना धर्म हो या सबसे पुराना वेद हो या फिर सबसे पुराना पेड़ (world oldest tree in hindi) हो, इस तरह के कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स होते हैं जिनको जानने की दिलचस्पी हर किसी के मन में होती है। तो आज के इस लेख में हम आप को हाल ही में चिली, अमेरिका में मिले oldest tree यानी सबसे पुराने पेड़ के बारे में बताने वाले हैं। दुनिया का सबसे पुराना पेड़ कौन सा है, यह जानने के लिए आप हमारे साथ इस लेख में अंत तक बने रहे।

पेड़ पौधों का हर एक जीव जंतु से एक अटूट संबंध है। इस धरती पर पेड़ पौधे होने की वजह से ही हर किसी जीव का जीवन संभव है, फिर चाहे वह मनुष्य हो या अन्य कोई भी जीवित प्रजाति हो, सभी पेड़ पौधों पर किसी ना किसी रूप में आश्रित रहते है। पेड़ ऑक्सीजन रिलीज करते हैं जो हर किसी मनुष्य या जीव जंतु के लिए जीवित रहने का आधार है। कुछ शाकाहारी जीवो के लिए यह खाने का source है।

आमतौर पर पीपल और बरगद के पेड़ों के बारे में कहा जाता है कि सबसे अधिक ऑक्सीजन यह पेड़ देते हैं, क्योंकि इनका जीवन काल सैकड़ों साल का होता है। परंतु इन पेड़ों के अलावा भी कुछ ऐसे पेड़ हैं जो दुनियां के सबसे पुराने पेड़ माने जाते है और इन पेड़ों की उम्र हजारों साल बताई जाती है। तो आइए आपको दुनियां के 7 सबसे पुराने पेड़ों के बारे में जानकारी देते हैं।

world-oldest-tree-in-hindi

चिली में मिला दुनियां का सबसे पुराना पेड़ (World Oldest Tree in hindi)

साइप्रस ट्री (Cypress tree)

हाल ही में वैज्ञानिकों ने एक नया पेड़ खोजा है जिसके लिए कहा जा रहा है कि वह 5000 साल से ज्यादा उम्र का है। यह पेड़ दक्षिण चिल्ली में Alerce Costero National park में स्थित है। यह दुनिया के सबसे पुराने पेड़ों में से एक है। इसे साइप्रस ट्री के नाम से भी जाना जाता है और इसे हिंदी में सनौवर भी कहते हैं। सबसे पुराना पेड़ कहने का अर्थ है कि इस पेड़ की उम्र की गणना हजारों वर्षों में है। इसे वैज्ञानिक “ग्रेट ग्रैंडफादर” के नाम से भी बुलाते हैं।

इस वृक्ष का पता इकोलॉजिस्टल जॉनाथन बारिचविच ने लगाया है। जॉनाथन पेरिस में स्थित क्लाइमेट एंड एनवायरमेंटल साइंस लैबोरेट्री मैं एक इकोलॉजिस्ट है। उन्होंने साइप्रस ट्री की उम्र लगभग 5484 साल बताई है। इस पेड़ की उम्र, इसके आकार, इसके फैलाव आदि का पत्ता कंप्यूटर मॉडल से जांच करके लगाया गया है। साइंटिस्ट का दावा है कि जो उम्र उन्होंने कंप्यूटर मॉडल के जरिए पता की है वह 80% तक सही है। इस पेड़ के बताई गई उम्र से कम होने की सिर्फ 20% की संभावना है। इस पेड़ के तने का व्यास 4 मीटर का है, इसलिए इसके रिंग्स की गणना कर पाना कठिन है। यह दुनियां के सबसे बुजुर्ग पेड़ में दूसरे नंबर पर है।

कोलंबिया यूनिवर्सिटी के ट्री रिंग लैबोरेट्री के डायरेक्टर कहते हैं कि यदि किसी पेड़ की रिंग की गणना नहीं की जाए, तो उस पेड़ की सही उम्र का पता लगाना मुश्किल होता है, परंतु साथ ही उनका यह कहना भी है कि जिस तकनीक से जॉनाथन ने इस पेड़ की  उम्र की गणना की है वह काफी हद तक सही गणना हो सकती है, क्योंकि ट्री रिंग लेबोरेट्री के डायरेक्टर एंड कुक के अनुसार यह बात पक्की है कि यह पेड 5000 साल से ज्यादा उम्र का है।

यह वृक्ष देखने में काफी बड़ा और चौड़ा है। सोनावर वृक्ष के इस पेड़ के ऊपर कुछ छोटी-छोटी झाड़ियां और फंगस व एलगी भी लगे हुए देखे जा सकते हैं।

ओल्ड टिज्जिको (Old Tijikko)

यह पेड़ स्वीडन में स्थित है। इस पेड़ को विश्व का सबसे पुराना पेड़ माना जाता है। कहा जाता है कि इसकी उत्पत्ति पिछले हिम युग के समय की है। Old tijjiko, 9,550 साल पुराना है अर्थात इस पेड़ की उम्र 9550 वर्ष बताई गई है।

मतुशेलह ट्री (Methuselah Tree)

यह वृक्ष कैलिफोर्निया USA में स्थित है। यह दुनिया का सबसे पुराना गैर कलोनल वृक्ष है, परंतु इस पेड़ के सही स्थान के बारे में किसी को भी जानकारी नहीं दी गई है ताकि इसे लोगों द्वारा पहुंचाए जाने वाले नुकसान से बचाया जा सके। इस वृक्ष की लोकेशन के लिए कहा जाता है कि यह कैलिफोर्निया के सफेद पहाड़ों में इन्यो राष्ट्रीय वन में कहीं पर स्थित है। इसकी उम्र लगभग 5000 वर्ष बताई जाती है।

लालंगेंर्नेव यू (llangernyw yew)

यह पेड़ इंग्लैंड में स्थित है। इस पेड़ के बारे में माना जाता है कि यह कांस्य युग में लगाया गया था। इस पेड़ की इंग्लैंड में Exact लोकेशन उत्तरी वेल्स में है। इस पेड़ की उम्र 4000 साल बताई जाती है। इस वृक्ष की खास बात यह है कि यह आज भी बढ़ रहा है।

जोरोस्ट्रियन सर्व (Zoroastrian Sarv)

यह वृक्ष लगभग 4000 वर्ष पुराना वृक्ष है। इस वृक्ष को एशिया महाद्वीप का सबसे पुरानी जीवित चीज माना जाता है। यह इरान में स्थित है। इस पेड़ को सर्व-ए अबर्कु के नाम से भी जाना जाता है। यह देखने में शंकु के आकार का है।

पांडो ट्री – हजारों वर्षो पुरानी वन्य वृक्षों की प्रणाली

पांडो ट्री अमेरिका के फ्रेमोंट नदी रेंजर में यूटा राज्य में कोलोराडो पठार के निकट फिशलेक नेशनल फॉरेस्ट में स्थित है। इनकी वृक्षों की खोज 1976 में जेरी केम्परमैन व बटरन बार्न्स के द्वारा की गई थी। यह 170 एकड़ में फैला हुआ वन्य क्षेत्र है। इसके 40000 तने हैं इन वृक्षों की जड़े आपस में जुड़ी हुई हैं संयुक्त रुप से यह सबसे भारी वजन वाली जीवित वृक्षों की प्रणाली है इन सबका संयुक्त वजन लगभग 6000 मीट्रिक टन होने का अनुमान लगाया गया है। इन वृक्षों की उम्र 80,000 साल तक की उम्र बताई जाती हैं। (1)

पेड़ों की उम्र की गणना कैसे की जाती है?

हर किसी वृक्ष में  चक्र यानी वार्षिक वलय होते है। किसी भी पेड़ की उम्र जानने के लिए इन चक्र को गिना जाता है इन  चक्र की संख्या ही हमें पेड़ के उम्र के बारे में बताती है यदि कोई पेड़ dead है तो इसकी खुले भागों में उभरे हुए छल्लो की गणना के द्वारा इसकी उम्र का पता लगाया जाता है और जिन वृक्षों का तना बहुत अधिक व्यास का होता है उसकी उम्र को कंप्यूटर  तकनीकी द्वारा जांचा जाता है। (list of oldest tree)

निष्कर्ष

इस लेख के माध्यम से हमने दुनिया के सबसे पुराने पेड़ों के बारे में जाना है, और आपको हाल ही में मिले एक नए oldest tree के बारे में जानकारी दी है। आशा करते हैं कि पुराने वृक्षों से संबंधित बताए गए facts आपको interesting लगे होंगे। यदि इस लेख से जुड़े कोई भी प्रश्न आपके मन में है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं।

इन्हें भी पढ़े: 
1. दुनिया के अद्भुत कीटभक्षी पौधे जो खाते हैं कीड़े मकोड़े 
2. देश का एकमात्र वीवीआई ट्री (Madhya Pradesh VVIP Tree)
3. दुनिया का सबसें पुराना ओक ट्री
4. दुनिया के सबसे विचित्र व अद्भुद पेड़ 

FAQ

हाल ही में मिले सबसे पुराने वृक्ष का क्या नाम है और इसकी उम्र कितनी है?

सनौवर Cypress tree 5484 वर्ष

धरती पर मौजूद सबसे पुराने वृक्ष की उम्र कितनी है?

Old Tijikko 9550 वर्ष

हाल ही में मिले सबसे पुराने वृक्ष की उम्र का पता किस तकनीक से लगाया गया है?

Computer model technology

सबसे पुराने वृक्ष का पता किस इकोलॉजिस्ट ने लगाया है?

इकोलॉजिस्टल जॉनाथन बारिचविच

Leave a Comment