मनिका बत्रा का जीवन परिचय | Manika Batra Biography hindi

आज के इस लेख में हम टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा के जीवन परिचय (Manika Batra Biography hindi) के बारे में जानेंगे कि ये कौन है किस खेल से संबंधित है और कैसे ये इतनी बड़ी स्टार बनी है और इनके जीवन पर प्रकाश डालेंगे। मनिका बत्रा भारतीय महिला टीम की टेबल टेनिस की सबसे दिग्गज खिलाड़ी में से एक है। जिन्होंने कॉमनवेल्थ खेलों में 2018 में धूम मचा दी थी यहां मनिका ने दो स्वर्ण और एक रजत व कास्य पदक जीतकर टेबल टेनिस में काफी नाम कमाया। मोनिका बत्रा को खेल में अपनी उपलब्धियों के लिये सर्वोच्च राजीव गांधी पुरस्कार खेल भी मिल चुका है।

मनिका बत्रा का जीवन परिचय (Manika Batra Biography hindi)

मनिका बत्रा कौन है?

इनके पिता का नाम गिरीश बत्रा और माता का नाम सुषमा बत्रा है। मनिका बत्रा दिल्ली के नारायणा विहार की रहने वाली है इनका जन्म एक साधारण परिवार में 15 जून 1995 को दिल्ली में हुआ था। माता पिता ने उन्हें कैरियर के तौर पर टेबल टेनिस चुनने का आश्वासन दिया था क्योंकि मनिका को बचपन से ही टेबल टेनिस खेलने का काफी शौक था।

4 साल की छोटी उम्र में ही उन्होंने टेबल टेनिस खेलना आरंभ कर दिया था। मनिका समेत तीन भाई बहन है और वे सबसे छोटी है। भाई साहिल और बहन आँचल व मनिका तीनों इस खेल को खूब शौक से खेलते थे। बड़ी बहन आंचल का मनिका के कैरियर पर काफी प्रभाव पड़ा और उन्होंने टेबल टेनिस की काफी प्रेक्टिस उनके साथ की।

मनिका बत्रा के बारे में जानकारी (Manika Batra biography in hindi)

पुरा नाम (Full Name)मनिका बत्रा
उपनाम (Nick Name)मनि
पिता (Father Name)गिरीश बत्रा
माता (Mother Name)सुषमा बत्रा
जन्म (Date of Birth)15 जून 1995
Birth Placeनारायणा विहार, दिल्ली
राष्ट्रीयता (Nationality)भारत
धर्म (Religion)हिंदु
जाति (Cast)अरोड़ा
पेशा (Occupation)टेबल टेनिस खिलाड़ी
कोच (Coach)संदीप गुप्ता
लम्बाई (Height)5 फिट 9 इंच (1.8 mtr.)
वजन (Weight)67 किग्रा
रंग (Colour)गोरा
आँखों का रंग (Eye Colour)काला
बाल (Hair Colour) काला
शारीरिक माप (Body Measurement)34-27-35

मनिका बत्रा का शैक्षणिक जीवन और कैरियर (Education and career)

अंडर 8 में राज्य स्तर पर टूर्नामेंट में एक मैच जीता जिसके बाद उन्होने कोच संदीप गुप्ता से प्रशिक्षण लेने का मन बना लिया। उन्हें हंसराज मॉडल स्कूल में पढ़ने का सुझाव दिया इसका एक कारण यह था कि इसी स्कूल में टेबल टेनिस की उचित व्यवस्था थी। अपने इस खेल के शौक के आगे इन्होंने बहुत से ऑफर को भी ठुकरा दिया था उन्हें मॉडलिंग का ऑफर मिला और 16 वर्ष की आयु में स्वीडन के पीटर कार्लसन अकादमी में ट्रेनिंग की स्कॉलरशिप लेने से मौका मिला था उन्होंने यह सब अपने शौक टेबल टेनिस के लिए सब ठुकरा दिया।

मनिका ने अपनी माध्यमिक शिक्षा हंसराज मॉडल स्कूल दिल्ली से पूरी की। इसी शहर में ही जीसस एंड मेरी कॉलेज में पढ़ाई की। लेकिन वे शुरू से ही टेबल टेनिस में नाम कमाना चाहती थी। इसलिए वह स्नातक के पहले वर्ष (1st year) कॉलेज की पढ़ाई के बाद कॉलेज छोड़ दिया। ताकि वह अपना पूरा ध्यान अपने खेल पर लगा सके।

इन्हें भी पढ़े :  
> औलम्पिक में रजत मैडल हासिल करने वाली पहली महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू 
> भारत की बैडमिंटन स्टार पी वी सिंधु की जीवनी
> ‘‘सुपर मोम’’ मैरी कॉम का जीवन परिचय

मनिका बत्रा का टेबल टेनिस मे रिकॉर्ड और उपलब्धियां

इन्होंने अपने कैरियर में टेबल टेनिस में काफी नाम कमाया है।

1. मात्र 13 वर्ष की उम्र में इन्होंने 2008 में अंतरराष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट में भारत का प्रतिनिधित्व किया था।

2. चिली ओपन 2011 में अंडर-21 में (Silver Medal) रजत पदक जीता था।

3. कॉनवेल्थ गेम्स 2015 में टेबल टेनिस का युगल स्पर्धा में रजत और सिंगल महिला टेबल टेनिस प्रतियोगिता में कास्य पदक जीता।

4. 2016 में आयोजित दक्षिण एशियाई खेलों में इन्होंने कमाल कर दिखाया और 3 स्वर्ण पदकों को जीते। जिसमें युगल महिला में सहस्त्रबुद्धे के साथ और मिश्रित युगल स्पर्धा में एंथनी अमलराज के साथ मिलकर और सिंगल महिला टीम टेबल टेनिस के तीनों पदकों पर कब्ज़ा करके सबको हैरान कर दिया।

5. 2018 में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की अन्य महिला टीम के सदस्यों के साथ मिलकर मनिका ने भारत का नाम ऊंचा करते हुए एक और स्वर्ण पदक अपने नाम किया था इस मैच में इन्होंने सिंगापुर की यु मेंगयु को हराया था।

6. 2018 में उन्हे सरकार द्वारा अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

7. अगर इनकी और उपलब्धियों की बात की जाए तो ये फेमिना और वोग मैगजीन के कवर पेज (ब्वअमत चंहम) पर भी आकर सबको चौका चुकी हैं।

8. टोक्यो ओलम्पिक 2021 में पहले राउंड का मैच जीतकर दूसरे राउंड में प्रवेश कर लिया था। लेकिन वह तीसरे राउंड में आस्ट्रेलिया की सोफिया पोलकानोवा से हार गई।

मॉडलिंग का भी प्रस्ताव आ चुका था।

उनकी खूबसूरती, सुंदरता और अच्छी हाइट के चलते कई सारी बड़ी कंपनियों से उनको मॉडलिंग का भी प्रस्ताव आ चुका था। लेकिन उन्होंने अपने प्रिय खेल को ही अपने कैरियर के रूप में चुना और सभी प्रस्ताव को। अस्वीकार कर दिया था।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने भारतीय टेबल टेनिस टीम की एक खिलाड़ी मनिका बत्रा (Manika Batra Biography hindi) के जीवन पर प्रकाश डालते हुए जाना की किस प्रकार इन्होंने अपने खेल से सारे देशवासियों का दिल जीत लिया और टेबल टेनिस खेल को एक नई पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। हम उम्मीद करते हैं आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी। कृपया इसे अपने मित्रो व रिश्तेदारों के साथ अवश्य शेयर करें।

Leave a Comment