Advertisements

सीडीएस अनिल सिंह चौहान का जीवन परिचय | CDS Anil Singh Chauhan Biography in Hindi

भारत के नए सीडीएस, कौन है अनिल सिंह चौहान जीवन परिचय, धर्म जाति [माता पिता शिक्षा स्कूल धर्म जाति पत्नी, वेतन पुरस्कार, आर्मी करियर, अनिल सिंह चौहान की खबर Latest News] CDS Anil Singh Chauhan Biography in Hindi, New CDS of India Anil Singh Chauhan, Army career, profession, children, education

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल सिंह चौहान को भारत का नया सीडीएस CDS बनाया गया है। भारत के नए सीडीएस अनिल सिंह चौहान पिछले वर्ष 31 मई 2021 को इंडियन आर्मी से रिटायर हुए। इसके पहले इन्होंने लगभग 40 वर्षों तक भारतीय सेना में कई पदों पर अपनी सेवाएं दी।भारत के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत 8 दिसंबर 2021 को हुई एक विमान दुर्घटना में चल बसे थे जिसके बाद से सीडीएस का पद खाली था। लेकिन अब भारत को अपना नया सीडीएस मिल चुका है। ठाकुर अनिल सिंह चौहान बिपिन रावत की जगह लेंगे और भारत के नए सीडीएस के रूप में काम करेंगे।

अनिल सिंह चौहान भारत के दूसरे सीडीएस (CDS) होंगे। तो आइए आज इस लेख /आर्टिकल के जरिए पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल और भारत के नए सीडीएस अनिल सिंह चौहान के जीवन परिचय CDS Anil Singh Chauhan Biography in hindi के बारे में जानते हैं।

Advertisements
Anil-Singh-Chauhan-Biography-in-Hindi

विषय–सूची

कौन हैं अनिल सिंह चौहान, जीवन परिचय (CDS Anil Singh Chauhan Biography in Hindi)

अनिल सिंह चौहान का जन्म और प्रारंभिक जीवन –

भारतीय सेना के सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल और नए CDS अनिल सिंह चौहान 18 मई 1961 को उत्तराखंड राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के गवाणा गांव में पैदा हुए थे। अनिल सिंह चौहान गढ़वाल के राजपूत परिवार से आते हैं।

अनिल सिंह चौहान भारतीय सेना में विभिन्न मुख्य पदों का कार्यभार संभाल चुके हैं। भारतीय रक्षा मंत्रालय ने अनिल सिंह चौहान को भारत का नया सीडीएस घोषित किया है। जनरल बिपिन रावत के बाद अनिल सिंह चौहान भारत के दूसरे CDS होंगे। 8 दिसंबर 2021 को जनरल बिपिन रावत की मृत्यु एक विमान दुर्घटना में हो गई थी तब से लेकर आज तक यह पद खाली था।

भारतीय रक्षा मंत्रालय ने 61 वर्षीय अनिल सिंह चौहान को भारत के नए सीडीएस के साथ-साथ सैन्य मामलों के विभाग का सचिव भी बनाया गया है। CDS के पदभार के साथ-साथ अनिल चौहान सैन्य मामलों के सचिव के रूप में भी काम करेंगे।

CDS अनिल सिंह चौहान भारत के पूर्व रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल है जो 31 मई 2021 को अपने पद से सेवानिवृत्त हुए थे।

आइये जानें- जनरल मनोज मुकुंद नरवणे जी का जीवन परिचय

अनिल सिंह चौहान के बारे में जानकारी (Who is Anil Singh Chauhan bio, age, caste Education, family, father, mother name)

पूरा नाम (Full Name)श्री अनिल सिंह चौहान
पद एव प्रसिद्धिभारतीय आर्मी के नए सीडीएस
जन्म (Date of Birth)18 मई 1961
जन्म स्थान (Place of Birth)उत्तराखंड
उम्र (Age)61 वर्ष (2022)
ऊंचाई (Height)5 Ft 8 इंच
राष्ट्रीयता (Nationality)भारत
धर्म (Religion)हिंदू
जाति (Cast)राजपूत
पेशा (Profession)भारतीय सेना अधिकारी
सर्विस व ब्रांच (Service/Branch)भारतीय सेना
सैन्य रैंक (Rank)4 स्टार जनरल
यूनिट (Unit)11वीं गोरखा राइफल्स से हैं
स्कूल (School)केंद्रीय विद्यालय, कोलकत्ता (फोर्ट विलियम)
शिक्षा (Education Qualification)स्नातक (ग्रेजुएट)
कॉलेज (College)नेशनल डिफेंस एकेडमी, देहरादून, उत्तराखंड
पिता (Father Name)सुरेन्द्र सिंह चौहान
माता (Mother Name)ज्ञात नहीं
वैवाहिक स्थिति (Marriage)विवाहित
पत्नी का नाम (Wife)अनुपमा सिंह चौहान
बच्चे (Children)एक
बेटी का नामप्रज्ञा सिंह चौहान

CDS अनिल सिंह चौहान का परिवार (Family Detail)

CDS अनिल सिंह चौहान उत्तराखंड के रहने वाले हैं। इनके पिता का नाम सुरेन्द्र सिंह चौहान है, वह सेवानिवृत भारतीय सेन्यकर्मी है। इनकी पत्नी का नाम अनुपमा सिंह चौहान है जो एक कलाकार रह चुकी हैं। इनकी एक बेटी भी है जिसका नाम प्रज्ञा सिंह चौहान है।

हालांकि इनके माता-पिता के नाम के बारे में कोई जानकारी नहीं है क्योंकि अनिल सिंह चौहान ज्यादातर चर्चा में नहीं रहते इसलिए उनके परिवार से जुड़ी केवल इतनी ही जानकारियां मिल सकीं।

CDS अनिल सिंह चौहान की शिक्षा –

अनिल सिंह चौहान ने राष्ट्रीय रक्षा अकादमी यानी कि नेशनल डिफेंस एकेडमी, खड़कवासला और भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून, उत्तराखंड से ग्रेजुएशन किया था। इन्होंने पश्चिम बंगाल उन्होंने अपनी आरम्भिक स्कूली शिक्षा फोर्ट विलियम के केंद्रीय विद्यालय, कोलकत्ता से की।

अनिल सिंह चौहान ने भारत की सैन्य सुरक्षा में सेवा देने के दौरान आफ्टरमाथ ऑफ ए न्यूक्लियर अटैक नामकी एक किताब भी लिखी थी जो साल 2010 में प्रकाशित हुई थी।

उनकी यह किताब न्यूक्लियर अटैक से जुड़े दूरदर्शी विचारों को लेकर काफी चर्चा में रही।

सीडीएस अनिल सिंह चौहान का करियर (CDS Anil Singh Chauhan Career)

भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी NDA खड़कवासला से स्नातक की डिग्री हासिल करने के बाद अनिल सिंह चौहान साल 1981 में 11 गोरखा राइफल्स में शामिल हो गए।

इंडियन आर्मी में मेजर जनरल की पोस्ट पर रहते हुए अनिल सिंह चौहान ने उत्तरी कमान के बारामुला सेक्टर में इन्फैंट्री डिवीजन कीकमान भी संभाली थी। इसके अलावा इन्होंने जनरल के पद पर रहते हुए पूर्वोत्तर के की कमान भी संभाली थी।

साल 2018 में अपनी उत्तम सेवा के लिए इन्हें युद्ध सेवा पदक से भी सम्मानित किया गया। जिसके बाद सितंबर 2019 में इन्हें भारत के पूर्वी कमान का जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ बनाया गया।

साल 2020 में अनिल सिंह चौहान को परम विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया था।

पूर्वी सेना कमांडर के अलावा इन्होंने सैन्य अभियानों के महानिदेशक के रूप में भी अपनी भूमिका निभाई। 60 साल की उम्र में 31 मई 2021 को अनिल सिंह चौहान लेफ्टिनेंट जनरल के पद से सेवानिवृत्त हो गए। 1981 से लेकर 2021 तक अनिल सिंह चौहान भारतीय सेना में विभिन्न मुख्य पदों पर रहे और 40 साल का सैन्य अनुभव प्राप्त किया।

अब भारतीय रक्षा मंत्रालय ने इन्हें भारत का नया सीडीएस बनाया है। अनिल सिंह चौहान सीडीएस बनने वाले भारत के दूसरे इंसान होंगे। भारत के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत थे जिनकी 8 दिसंबर 2021 को मौत हो गई थी।

भारतीय रक्षा मंत्रालय ने नए सीबीएस के साथ-साथ अनिल सिंह चौहान को सैन्य मामलों के विभाग का सचिव भी बनाया है।

अनिल सिंह चौहान ने अंगोला में होने वाले संयुक्त राष्ट्र मिशन में भी हिस्सा लिया था। भारतीय सेना में उत्तम सेवा के लिए अनिल सिंह चौहान को कई सारे पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।

CDS अनिल सिंह चौहान को दिए गए पुरस्कार –

रिटायरमेंट के 1 साल पहले साल 2020 में अनिल सिंह चौहान को परम युद्ध सेवा पदक के सम्मान से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा उन्हें उत्तम युद्ध सेवा पदक, विशिष्ट सेवा मेडल और अति विशिष्ट सेवा पदक, सैन्य सेवा मेडल, सेना पदक, ऑपरेशन पराक्रम मेडल तथा 30 वर्षीय लंबी सेवा पदक सेसम्मानित किया जा चुका है।

सीडीएस अनिल सिंह चौहान का योगदान –

अनिल सिंह चौहान ने भारतीय सैन्य सुरक्षा में लगभग 40 वर्षों तक अपनी सेवाएं दी है। भारतीय सेना में इनका करियर साल 1981 में शुरू हुआ था और 31 मई 2021 को यह भारतीय सेना से सेवानिवृत्त हो गए।

भारतीय सेना में रहते हुए इन्हें कई सारे विशिष्ट पदों का कार्यभार सौंपा गया जिनका निर्वहन करते हुए इन्हें कई सारे पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया।

अपनी रिटायरमेंट के बाद भी अनिल सिंह चौहान ने भारतीय सेना से अपना चित्त नहीं हटाया। सेवानिवृत्ति के बाद भी वह लगातार राष्ट्रीय सुरक्षा की रणनीति में अपना योगदान देते रहे।

भारत के दूसरे नए सीडीएस अनिल सिंह चौहान –

8 दिसंबर 2021 को भारत के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत की विमान दुर्घटना में दुखद मृत्यु हो गई थी। 1 जनवरी 2020 को जनरल बिपिन रावत को भारत का पहला सीडीएस बनाया गया था। लेकिन जब इनकी विमान दुर्घटना में मौत हुई तो सीडीएस का पद रिक्त हो गया। तब से लेकर लगभग 9 महीने तक भारत के सीडीएस का पद खाली रहा।

सितंबर 2022 में भारतीय रक्षा मंत्रालय ने दूसरे सीरियस के रूप में पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल अनिल सिंह चौहान के नाम की घोषणा की। सीडीएस का कार्यभार संभालते वक्त भारतीय रक्षा मंत्रालय ने अनिल सिंह चौहान को सैन्य मामलों में सचिव का पद भी दिया है।

FAQ

अनिल सिंह चौहान कौन है?

अनिल सिंह चौहान भारत के दूसरे सीडीएस हैं। सितंबर 2022 में इन्हें भारत का नया सीडीएस घोषित किया गया है।

CDS अनिल सिंह का जन्म कब और कहां हुआ था?

CDS अनिल सिंह चौहान 18 मई 1961 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के गवाणा गांव में पैदा हुए थे।

अनिल सिंह चौहान लेफ्टिनेंट जनरल के पद से कब रिटायर हुए?

21 मई 2021 को अनिल सिंह चौहान लेफ्टिनेंट जनरल के पद से रिटायर अर्थात सेवानिवृत्त हो गए थे।

भारत के पहले सीडीएस कौन थे ?

भारत के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत थे।

भारत के दूसरे सीडीएस का नाम क्या है ?

अनिल सिंह चौहान भारत के दूसरे सीडीएस हैं।

Leave a Comment