विश्व पर्यावरण दिवस कब और क्यों मनाया जाता है, इसका महत्व एवं इतिहास | World Environment day in hindi

विश्व पर्यावरण दिवस पर निबंध, विश्व पर्यावरण दिवस क्यों मनाया जाता है, पर्यावरण दिवस का विषय एवं महत्व  (World Environment day in hindi, importance of environment day, essay, history, facts, theme 2022 in hindi)

World Environment Day 2022 पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण हेतु पृथ्वी को रहने योग्य बनाए रखने के लिए पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित पर्यावरण दिवस 5 जून को मनाया जाता है।

पर्यावरण विश्व में मनाया जाने वाला सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण त्यौहार है सन 1974 में पहली बार संयुक्त राष्ट्र द्वारा पर्यावरण दिवस मनाया गया था। पृथ्वी का पर्यावरण दिन पर दिन दूषित व क्षतिग्रस्त होता जा रहा है। लोंगों को ग्लोबल वार्मिंग से होने वाले दुष्प्रभावों के बारें जागरूक करने के लिए पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। विश्व में बढ़ते वनों की कटाई और बढ़ता प्रदूषण पर नियंत्रण पाने के लिए यह दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य है।

विश्व के सभी लोगों को पर्यावरण के रक्षा के तरीकों को जानना वास्तव में बहुत ही महत्वपूर्ण है। सभी जीवों को स्वस्थ्य जीवन के लिए पर्यावरण एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

world-environment-day-in-hindi | विश्व पर्यावरण दिवस

विश्व पर्यावरण दिवस कब और क्यों मनाया जाता है (World Environment day in hindi)

पर्यावरण क्या है? इसका महत्व एवं इतिहास

पूरे ब्रह्माण में पृथ्वी ही एक ऐसा ज्ञात ग्रह है जहां जीवों को जीने लायक अनुकूल वातावरण एवं परिवेश मौजूद है जिसके कारण ही पृथ्वी पर जीवन संभव हो पाया है। पर्यावरण के द्वारा ही हमें भोजन, हवा आदि प्रदान होता है।

पर्यावरण का शाब्दिक अर्थ चारों ओर से घेरे हुए है। यह वो इकाई है जो भौतिक, रासायनिक, और जैविक कारको की रूप, जीवन, और जीविता को तय करता है। पर्यावरण वह है जो प्रत्येक जीव के साथ जुड़ा है और वह हमेशा हमारे चारों ओर व्याप्त है।

शिक्षा के माध्यम से पर्यावरण मानव जीवन के विकास के लिए एक प्रबल साधन है प्रत्येक व्यक्ति के अंदर सामाजिक, मानसिक, शारीरिक, सांस्कृतिक, तथा आध्यात्मिक की बुद्धि या परिपक्वता लाना पर्यावरण का मुख्य उद्देश्य है, विश्व के सभी नागरिकों को पौधारोपण के लिए हम सभी को प्रोत्साहन करना चाहिए और पेड़-पौधे अधिक से अधिक लगाना चाहिए।

औद्योगिकीकरण और नगरीकरण के कारण पर्यावरण का अधिक से अधिक दोहन हो रहा है। जिससे पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता ही जा रहा है मनुष्य के जीवन में पर्यावरण के महत्व बनाए रखने के लिए ही पर्यावरण दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य है यह मानव जीवन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

विश्व पर्यावरण दिवस पर निबंध (Environment day essay and facts in hindi)

पर्यावरण मानव के स्वस्थ जीवन के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। पर्यावरण हमारे आसपास की परिस्थितियों को प्रभावित करती हैं और उसके साथ साथ होने वाले विकास को संशोधित भी करती हैं संयुक्त राष्ट्र द्वारा पर्यावरण को अधिक बढ़ावा दिया जाता है पर्यावरण दिवस 5 जून को हर साल मनाया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस मनाने  के लिए कई अन्य देश भी शामिल होते हैं विश्व पर्यावरण दिवस 2017 में 143 देशों ने हिस्सा लिया था जो पर्यावरण के लिए बहुत ही अहम कदम है क्योंकि जब तक पूरी दुनियां विश्व पर्यावरण के विषय में नहीं सोचेगा और सुरक्षा करेगा तब तक पर्यावरण दूषित होता ही जाएगा इसीलिए पर्यावरण को दूषित होने से बचाने के लिए अनेक कारगर उपाय भी किए जा रहे हैं और सभी को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

विश्व पर्यावरण दिवस के मनाए जाने से सभी देशों में पर्यावरण की सुरक्षा एवं संरक्षण पर विशेष ध्यान दिया है और इसी कारण इस पर कई कानून भी बनाए हैं भारत में पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पर्यावरण के प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए अधिनियम, 1986 कानून बनाया गया है विश्व पर्यावरण मनाए जाने के कारण लोगों में जागरूकता फैलती है और पेड़ पौधों को काटने की जगह लगाना शुरू किया गया है जिससे पर्यावरण की सुरक्षा बनी रहेगी जिससे प्रदूषण कम फैलेगा इसीलिए विश्व पर्यावरण दिवस हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

विश्व पर्यावरण दिवस इतिहास, (Environment day history, themes)

सन 1974 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को मनाया जाता है सन 1972 में अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण राजनीतिक विकास के लिए सर्वप्रथम सम्मेलन 5 से 16 जून तक स्वीडन, स्टॉकहोम में कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

इस सम्मेलन का लक्ष्य मानव पर्यावरण को संरक्षित और बढ़ते प्रदूषण पर नियंत्रण पाना था सम्मेलन में ही संयुक्त राष्ट्र द्वारा एक तिथि 5 जून विश्व पर्यावरण के रूप में निर्धारित किया गया विश्व पर्यावरण आयोजन के लिए हर साल एक नई थीम चुना जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस के थीम 2021 में इकोसिस्टम रीस्टोरेशन रखी गई थी। वहीं इस साल की थीम 2022 में ओनली वन अर्थ (Only One Earth) रखी गई है और इस वर्ष 2022 में पर्यावरण दिवस का मुख्य मेजबान देश स्वीडन है इसमें संयुक्त राष्ट्र के पर्यावरण कार्यक्रम (UNRP) के सहयोग से पर्यावरण दिवस पर प्रतिष्ठित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

सन 2015 में एलेन मैंक आर्थर फाउंडेशन द्वारा अध्ययन करने पर पता चला कि विश्व में लगभग 6.3 बिलियन टन प्लास्टिक कचरा उत्पन्न हुआ है।

वैज्ञानिक के अनुसार बताया गया है कि अगर इसी तरह प्रदूषण फैलता गया तो मिट्टी, नल का पानी, बोतलबंद पानी आदि यहां तक की सांस लेने वाले हवा में भी प्लास्टिक के छोटे टुकड़े पाए गए हैं प्लास्टिक प्रदूषण बढ़ाने का सबसे बड़ा कारण है स्वक्ष जीवन, सुरक्षित और समृद्धि भविष्य बनाने के लिए अपने आसपास पर्यावरण पर ध्यान देना अति आवश्यक है और प्रदूषण पर भी ध्यान दें विश्व के सभी जीवो के लिए पर्यावरण सुरक्षा अति आवश्यक है।

विश्व पर्यावरण दिवस का विषय, थीम (Environment day Themes)

विश्व पर्यावरण दिवस 2020 की थीम के जैव विविधता पर आधारित थी। जमीन में पानी के नीचे सभी जीवन का समर्थन जैव विविधता द्वारा ही होता है अर्थात जैव विविधता को इनका नींव भी कह सकते हैं मनुष्य जीवन के लिए स्वच्छ जल, हवा, भोजन आदि इसके द्वारा ही प्राप्त होता है सभी प्रकार की दवाओं का स्रोत माना गया है।

वनों की कटाई, दूषित जलवायु, , कृषि गहन, के होते परिवर्तन से मानवी प्रकृति को नुकसान पहुंचा रहा है जिससे एक विशाल जैविक विविधता को हानि पहुंच सकता है जिसके कारण मनुष्य का जीवन खतरे में पड़ सकता है स्वास्थ्य प्रणाली पर प्रभाव पड़ेगा।

विश्व पर्यावरण दिवस 2019 थीम के अनुसार वायु प्रदूषण था दिन प्रतिदिन विश्व में वायु प्रदूषण बढ़ता ही जा रहा है जिसको नियंत्रित करना बहुत ही मुश्किल हो जाएगा मानव जीवन के लिए यह मुश्किल नहीं होगा। अगर सब मिलकर पर्यावरण को प्रभावित करें और अपने आसपास आने वाले हवा को स्वस्थ और बेहतर बनाने के लिए सब मिलकर कदम उठाए।

विश्व में लगभग 92% लोग दूषित हवा में सांस ले रहे हैं हवा की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए सभी को पर्यावरण पर विशेष ध्यान देना चाहिए विश्व पर्यावरण दिवस 2018 थीम के अनुसार बीट प्लास्टिक प्रदूषण था हम सभी जानते हैं कि प्लास्टिक प्रयोग से पर्यावरण दूषित हो रहा है क्योंकि यह नान बायोडिग्रेडेबल है इसीलिए प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

जिससे पर्यावरण में सुधार आएगा मनुष्य जीवन के लिए दूषित पर्यावरण में जीना असंभव है इसलिए हमें पर्यावरण सुरक्षा पर अधिक ध्यान देना चाहिए वनों की कटाई नहीं करनी चाहिए। अधिक से अधिक पेड़ पौधे लगाएं, भूमि को साफ सुथरा रखें, अपने आसपास के क्षेत्र को स्वच्छ रखें, यह छोटे-छोटे प्रयास पर्यावरण पर बड़ा प्रभाव कर सकती है संयुक्त राष्ट्र के द्वारा हर स्कूल में इस दिन सभी छात्र पेड़ पौधे लगाकर लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करते हैं।

विश्व पर्यावरण दिवस मनाने का उद्देश्य-

1. विश्व के सभी लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने के लिए पर्यावरण दिवस मनाया जाता है।

2. संयुक्त राष्ट्र द्वारा पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए विश्व पर्यावरण दिवस के दिन स्कूल के सभी छात्र पेड़ पौधे लगाते हैं

3. विश्व पर्यावरण दिवस के दिन उद्योगों, समुदायों, और विश्व के सभी लोगों को पर्यावरण के महत्व को कैसे बचाया जा सकता है इस विषय में लोगों को एक साथ करने का प्रयास किया जा रहा है।

4. प्रदूषण के कारण होने वाले समस्याओं को मिटाने के लिए और पर्यावरण को स्वच्छ बनाने की दिशा में आगे बढ़कर काम करना चाहिये। क्योंकि हम सभी लोग मिलकर हैं पर्यावरण को स्वच्छ और प्रदूषण को कम कर सकते हैं।

इन्हें भी जाने-
> विश्व ओज़ोन दिवस कब मनाया जाता है?
> पृथ्वी दिवस का महत्व व इतिहास क्या है?

विश्व पर्यावरण के संरक्षण के सरल उपाय-

पर्यावरण दूषित होने या बिगड़ने में कार्बनडाइऑक्साइड का बढ़ते स्तर का सर्वाधिक स्रोत है गांव और शहरों में वाहनों का कम प्रयोग और हारन बजाने पर रोक लगाना चाहिए पर्यावरण संरक्षण के कई उपाय इस प्रकार हैं-

1. कृषि के लिए खेतों में जैविक खाद एवं गोबर की खाद का प्रयोग करें, और पॉलिथीन या प्लास्टिक का उपयोग ना करें उसकी जगह पर कपड़े का झोला या थैला उपयोग करें।

2. सूरज की किरण को आने देने के लिए खिड़की से पर्दे को हटा कर रखें जिससे सूर्य की किरण सीधा आपके घर में आए।

3. आसपास कहीं नजदीक जाने आने के लिए बाइक की जगह साइकिल का प्रयोग करें ऐसा करने से प्रदूषण कम होगा।

4. प्लास्टिक से बने बोतल को न उपयोग करें उसकी जगह पर कांच की बोतल का उपयोग करना चाहिए या स्टील की बोतल का उपयोग करना चाहिए एवं प्लास्टिक के कप के जगह मिट्टी के कुल्हड़ का उपयोग करना चाहिए।

5. अपने आसपास के वातावरण को शुद्ध बनाए रखने के लिए पेड़ पौधे लगाएं, वनों की अंधाधुंध कटाई कटाई से विश्व के पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता ही जा रहा है इसे रोकने के लिए यह रोकना होगा।

6. सब्जियां धोने और खाना बनाने में होने वाले पानी के उपयोग के बाद इस पानी से पौधे का संरक्षण करना चाहिए, शहर एवं विश्व के नागरिकों को पौधारोपण के लिए प्रोत्साहन करना चाहिए, हमें खाना पकाने के लिए सोलर कुकर का उपयोग करना चाहिए।

2022 में विश्व पर्यावरण दिवस की थीम क्या है?

ओनली वन अर्थ (Only One Earth)

पहला विश्व पर्यावरण दिवस कार्यक्रम कहां मनाया गया था।

1974 में सयुक्त राष्ट्र द्वारा स्टॉकहोम, स्वीडन में 5 से 16 जून तक मनाया गया था।

विश्व पर्यावरण दिवस कब तक है?

5 से 16 जून तक पूरे विश्व में मनाया जाता है।

2022 में विश्व पर्यावरण दिवस का मेजबान देश कौन है?

मेजबान देश स्वीडन है।

इन्हें भी जाने-
1. राष्ट्रीय विज्ञान दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?
2. राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस कब मनाया जाता है
3. राष्ट्रीय पर्यटन दिवस क्यों मनाया जाता है
4. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया जाता है?

Leave a Comment