नाज़िहा सलीम कौन है? | Naziha Salim Google doodle in hindi

नाज़िहा सलीम का जीवन परिचय, गूगल ने बनाया नाज़िहा सलीम का डूडल, आइये जाने कौन हैं नाज़िहा सलीम, (Biography of Naziha Salim Google doodle in hindi)

दोस्तों गूगल आए दिनों डूडल के जरिए विश्व की महान हस्तियों को उनके योगदान के लिए याद करता है। गूगल ने आज नाजिहा सलीम के डूडल के जरिए उन्हें याद किया।

ऐसे में हमारे दर्शकों के मन में डूडल देखने के बाद यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि आखिर यह नाजिहा सलीम कौन थी।

तो आइए जानते हैं कि नाजिया सलीम आखिर कौन हैं और गूगल ने इनका डूडल क्यों बनाया।

नाज़िहा सलीम का जीवन परिचय (Biography of Naziha Salim hindi)

असली नाम (Real Name)नाज़ीहा सलीम
प्रसिद्ध नामनाज़ीहा
प्रसिद्धी प्राप्त कीचित्रकार (आर्टिस्ट)
जन्म (Date of Birth)1927
जन्म स्थान (Place of Birth)इस्तांबुल, तुर्की
आयु80-81 वर्ष (2008)
निधन15 फ़रवरी 2008
पेशा (Professions)चित्रकार (आर्टिस्ट) लेखक, प्रोफेसर
राष्ट्रीयताइराक
परिवार (Family Details)
माता का नाम (Mother Name)ज्ञात नहीं
पिता (Father Name)हाजी मोहम्मद सलीम
भाई (Siblings)राशिद, सुआद सलीम, निजारे, जवाद सलीम
वैवाहिक स्थितिवैवाहिक
शिक्षास्नातक (Graduate)
विश्वविद्यालयबगदाद में कला संस्थान, इकोले डेस बीक्स-आर्ट्स (पेरिस)
Naziha Salim Google doodle in hindi नाज़िहा सलीम कौन है?

कौन है नाज़िहा सलीम (Who is Nahzia Salim)

दरअसल नाजिहा सलीम इराक की एक मशहूर चित्रकार और प्रोफेसर थी जिन्होंने अपने चित्रकला के जरिए दुनिया भर को प्रभावित किया। इनके बनाए गए चित्रों में इराक की ग्रामीण महिलाओं के जीवन को इन्होंने बखूबी दर्शाया है। यह एक ऐसी कलाकार थी जिनकी चित्रकला में सजीविता झलकती थी जो किसी को भी भावनात्मक बना सकती थी।

एक आर्टिस्ट होने के साथ-साथ नाजिहा सलीम एक लेखक और शिक्षिका भी थी। आपको बता दें कि इन्हें तत्कालीन इराकी प्रेसिडेंट जलाल तलाबानी ने इन्हें पहली महिला आर्टिस्ट के तौर पर पुरस्कृत किया था।

नाजीहा सलीम फ्रेस्को और म्यूलर पेंटिग की मशहूर कलाकार थी। यह पहली ऐसी महिला थी जिन्हें पेरिस के इकोले नेशनल सुप्रीयर बिक्स आर्ट में आगे की पढ़ाई करने के लिए छात्रवृत्ति दी गई और सम्मानित किया गया।

इन्हें भी जाने – भारत की प्रथम मुस्लिम महिला फ़ातिमा शेख का गूगल डूडल

नाजिहा सलीम का प्रारंभिक जीवन (Naziha Salim Education, Early Life)

नाजीहा सलीम तुर्की के इस्तांबुल में पैदा हुई थी। इनका जन्म सन 1927 में हुआ था। नाजीहा सलीम के माता पिता का इन पर पर बहुत विशेष प्रभाव पड़ा।

कहा जाता है कि उनके पिता एक आर्मी ऑफिसर थे लेकिन एक ऑफिसर होने के साथ-साथ इनके पिता बेहद उम्दा चित्रकार भी थे और माता को कढ़ाई कला का बहुत ज्ञान था। नाजिहा सलीम और उनके तीनों भाई अपने माता-पिता से रचनात्मकता और कलाकारी सीखते थे।

शायद यही वजह थी शुरू से ही नाजिहा सलीम चित्रकला की ओर रुख करने लगी। नाजिहा सलीम के माता पिता के प्रतिभाओं का प्रभाव केवल नाजिहा के ऊपर ही नहीं बल्कि इनके भाइयों के ऊपर भी था। इनके तीन भाई थे और तीनों ही कला के क्षेत्र में काम करते थे।

नाजिहा सलीम के एक भाई इराक के सबसे ज्यादा मशहूर मूर्ति कारों में से एक थे। जबकि इनके दूसरे भाई एक डिजाइनर का काम करते थे तथा तीसरा भाई एक राजनीतिक कार्टून डिजाइनिंग का काम करता था।

बचपन से ही चित्रकला में रुचि होने के कारण नाजिहा सलीम ने इसे ही अपना भविष्य चुनाव और बगदाद फाइन आर्ट से स्नातक डिग्री प्राप्त की। इराक में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद नाजिहा सलीम पेरिस चली गई और वहां से अपनी आगे की पढ़ाई पूरी की साथ ही साथ चित्रकला का भी काफी ज्ञान प्राप्त किया। 

नाजिहा सलीम ने यूरोप की सौंदर्य चित्रकला का काफी गहन अध्ययन किया जिसके बाद उन्होंने वहां की सुंदरी कलाओं को इराक की कला से सम्मिलित किया और अल रूवाद की स्थापना की।

अपने करियर के शुरुआती दिनों में वह ज्यादातर विदेश में रही लेकिन फिर वहां से लौट आई और बगदाद फाइन आर्ट्स में पढ़ाने लगी और यहीं से सन 1980 में उन्होंने रिटायरमेंट ले लिया।

सन 2008 में लगभग 81 साल की उम्र में इराक की महान आर्टिस्ट का निधन हो गया।

आपको बता दे कि नाजिहा सलीम इराक के अल रूवाद के संस्थापकों में से एक थी। दरअसल यह अल रूवाद इराकी कलाकारों का एक समुदाय है जो विदेशों मे अध्ययन करके यूरोप के सौंदर्य शास्त्र के तत्वों को इराकी सौंदर्यशास्त्र में शामिल करता है।

इन्हें भी जाने – पहली महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले का जीवन परिचय

गूगल ने डूडल बनाकर किया नाज़िहा सलीम को याद (Naziha Salim Google doodle in hindi)

नाजिहा सलीम एक बेहतरीन कलाकार होने के साथ-साथ एक बेहतरीन लेखक और सीता के किरदार में भी रही यही कारण है कि उनके योगदान ओं के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने और उनकी प्रतिमाओं के लिए उन्हें पुनर्जीवित कर याद करने के लिए गूगल ने आज 23 अप्रैल को उनका डूडल बनाकर अपलोड किया है।

आपको बता दें कि गूगल द्वारा बनाया गया डूडल दो भागों में बांटा है जिसमें एक तरफ नाजिया सलीम की आधी तस्वीर लगी हुई है और दूसरी तरफ उनकी बनाई गई पेंटिंग की आधी तस्वीर लगी है। नाजिहा सलीम का डूडल बनाकर अपलोड करने के पीछे गूगल का एक ही मकसद है कि लोग इसके जरिए उन्हें और उनकी प्रतिभा को जान सकें।

उम्मीद करते हैं कि आपको नाजिहा सलीम से जुड़ी हुई जानकारियां अच्छी लगी होगी।

FAQ

नाज़िहा सलीम कौन थी?

नाजिहा सलीम इराक की एक मशहूर चित्रकार और प्रोफेसर थी।

नाज़िहा सलीम के पिता का नाम क्या था?

नाज़िहा के पिता का नाम हाजी मोहम्मद सलीम था।

नाज़िहा किस देश की नागरिकता क्या है?

इराक

नाज़िहा का निधन कब हुआ था?

81 वर्ष की उम्र में नाजीहा का निधन 15 फरवरी 2008 को इराक, बगदाद में हुआ था।

आइये इन्हे भी जाने-
1. कथक सम्राट पंडित बिरजू महाराज का जीवन परिचय
2. नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जीवनी
3. महान साहित्यकार रविन्द्रनाथ टैगोर का जीवन परिचय 
4. भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी
5. स्वामी विवेकानंद का जीवन परिचय
6. अमर जवान ज्योति का इतिहास व महत्व

Leave a Comment