Advertisements

आइये जाने शिंजो आबे कौन थे, जीवन परिचय, निधन | PM Shinzo Abe biography in hindi

शिंजो आबे कौन थे, आइये जाने शिंजो आबे का जीवन परिचय, राजनीतिक जीवन यात्रा, निधन कब हुआ? (Japan PM Shinzo Abe biography in hindi, life journey, family, age, birth date, wife, mother name, father name)

शिंजो आबे जापान के 57 वें प्रधानमंत्री थे। 8 जुलाई को जापान के प्रधान मंत्री शिंजो आबे की किसी ने गोली मार कर हत्या कर दी। यह घटना तब घटित हुई जब पश्चिमी जापान में चुनावी कार्यक्रम में शिंजो आबे जनता को संबोधित कर रहे थे।

उनके भाषण के दौरान उन पर गोली चला दी गई। गोली लगते ही उन्हें दिल का दौरा पड़ा और शिंजो आबे घायल होकर जमीन पर गिर गए। शिंजो आबे को तुरंत वहां के नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन इस दौरान उनकी मृत्यु हो गई।

Advertisements

शिंजो आबे को जापान की राजनीति का सबसे प्रमुख राजनेता माना जाता है। वह एकमात्र ऐसे राजनेता है जो जापान में प्रधानमंत्री के रूप में सबसे अधिक समय तक सत्तासीन रहे। शिंजो आबे सन 2006 से लेकर 2007 तक जापान के प्रधानमंत्री रहे। इसके पश्चात 2012 में उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री पद के लिए चुना गया जिसके पश्चात पर 2012 से 2020 तक प्रधानमंत्री के रूप में कार्यरत रहें।

प्रधानमंत्री पद के अलावा यह उदार लोकतांत्रिक दल के अध्यक्ष भी रहे और विपक्ष के नेता के रूप में भी अपनी भूमिका निभाई।

उनकी मृत्यु जापान के लिए और वैश्विक लोकतंत्र के लिए बहुत बड़ी क्षति है। उनकी मृत्यु के पश्चात लोग उनके जीवन के बारे में जानना चाहते हैं उनकी उदारवादी प्रकृति और राजनीतिक कुशलता को समझना चाहते हैं। इसलिए आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको उनके जीवन परिचय और उनके राजनीतिक करियर के बारे में बताएंगे।

शिंजो आबे का जीवन परिचय | Shinzo-Abe-biography-in-hindi

शिंजो आबे का जीवन परिचय (Life journey Shinzo Abe biography in hindi)

शिंजो आबे जापान के पूर्व प्रधानमंत्री थे जिनकी हत्या 8 जुलाई को गोली मारकर कर दी गई।

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का जन्म 21 सितंबर 1954 के दिन टोक्यो में हुआ था। हालांकि भले ही उनका जन्म जापान की राजधानी टोक्यो में हुआ था लेकिन उनका पंजीकृत निवास नागाटो में है।

शिंजो आबे जापान के सबसे युवा प्रधानमंत्री का खिताब भी अपने पास रख चुके हैं। यह राजनीति के आबेनामिकस सिद्धांत पर चलने वाले राजनेता थे जिसने उन्हे पूरी दुनिया में लोकप्रिय कर दिया। अपने पूरे जीवन काल में उन्होंने तीन बार भारत का दौरा किया और भारतीय प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके काफी अच्छे तालुक रहे।

भारत सरकार ने इन्हें पदम विभूषण पुरस्कार से भी सम्मानित किया था। अल्सरेटिव कोलाइटिस नामक बीमारी से ग्रसित होने के कारण उन्होंने 2020 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

यह जापान की लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य और सबसे लोकप्रिय नेता थे।

कौन है शिंजो आबे, संक्षिप्त जीवन परिचय (Japan PM Shinzo Abe biography in hindi)

असली नाम (Real Name)शिंजो आबे
जन्म (Date of Birth)21 सितंबर 1954
जन्म स्थान (Place of Birth)टोक्यो (Japan)
लम्बाई5.8 फीट, 173 cm
मृत्यु का स्थाननारा, काशीहारा, जापान
निधन का कारणगोली लगने के बाद हार्ट अटैक से मृत्यु
आयु (Age)67 वर्ष (2002)
पेशा (Professions)राजनीतिज्ञ
राष्ट्रीयताजापान
प्रसिद्धी57वें जापान के प्रधानमंत्री
जापान के प्रधानमंत्री
कार्यकाल
14 जुलाई 2006 – 27 अगस्त 2007
26 दिसंबर 2012 – 16 सितंबर 2020
शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification)साइकेई यूनिवर्सिटी से राजनीतिक विज्ञान से स्नातक
राजनीतिक पार्टीलिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी
पारिवारिक (Family Details)
पिता का नाम (Father name)शिंटारो आबे
माता का नाम (Mother name)योको किशी
वैवाहिक स्थितिविवाहित
पत्नी का नामअकी मात्सुजाकी
बच्चेकोई संतान नहीं है
कुल संपत्ति (Net worth)$11 मिलियन डालर

शिंजो आबे का परिवार (Family)

सिंह राशि का पूरा परिवार राजनीति से बिल्कुल जुड़ा हुआ था। इसलिए इन्हें अपने राजनीतिक जीवन में ज्यादा परिश्रम और कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ा।

शिंजो आबे के पिता का नाम शिंटारो आबे था। जो कि विदेश मंत्री के पद पर लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के सबसे प्रमुख सदस्य के रूप में चुने गए थे। इन्होंने लंबे समय तक मंत्रिमंडल के लिए विदेश मंत्री के पद पर अपनी भूमिका निभाई।

इनकी माता जिनका नाम योको किशी था वह जापान के पूर्व प्रधानमन्त्री नेबोसुके किशी की बेटी थी। लेकिन 1991 में इनके पिता की मृत्यु हो गई। शिंजो आबे तीन भाई हैं जिनके बड़े भाई जापान के एक मशहूर बिजनेसमैन और छोटे भाई जापान के डिफेंस मिनिस्टर के पद पर हैं।

शिंजो आबे का विवाह कब हुआ?(Marriage)

शिंजो आबे का विवाह सन 1987 में हुआ। उनकी पत्नी का नाम अकी मास्तुजकी (अकि अबे) था। 22 साल की उम्र में उनकी पत्नी एक एडवरटाइजिंग कंपनी के लिए काम करती थी इस दौरान उन्होंने अपनी पत्नी से प्रेम हुआ और उन्होंने विवाह के लिए उन्हें प्रपोज किया। शिजो आबे की कोई संतान नहीं है।

शिंजो आबे की शिक्षा (Education)

शिंजो आबे को उन की प्रारंभिक शिक्षा ओसाका के साइकेई एलिमेंट्री नामक शिक्षण संस्थान से प्राप्त हुई। साल 1977 में इन्होंने साइकेई यूनिवर्सिटी से राजनीतिक विज्ञान से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद उनके पिता ने इन्हें आगे की पढ़ाई करने के लिए अमेरिका भेज दिया। अमेरिका जाने के बाद इन्होंने साउथ कैलिफोर्निया से यूएसी प्राइम स्कूल से पब्लिक पॉलिसी का अध्ययन शुरू किया लेकिन बीच में ही उसे छोड़कर यह जापान लौट गए।

शिंजो आबे की सम्पत्ति (Net worth)

मशहूर और नामी पत्रिका फोर्ब के अनुसार इनकी नेटवर्थ लगभग 11 मिलियन डॉलर ऑकी गई है विदेशों में भी इनके कई सम्पत्तियां है यह लग्जरी कारों के भी शौकीन थे।

शिंजो आबे का राजनीतिक सफर व जीवन यात्रा (Life journey of Shinzo Abe)

1979 में पब्लिक पॉलिसी की पढ़ाई पूरी करके वह अमेरिका के साउथ कैलिफोर्निया से जापान लौट गए और वहां कोबे स्टील प्लांट में काम करना शुरू कर दिया। उन्होंने कोबे स्टील प्लांट में लगभग 2 साल काम किया जिसके पश्चात साल 1982 में उन्होंने राजनीतिक कैरियर शुरू करने के लिए कोबे स्टील प्लांट को छोड़ दिया।

कोबे स्टील प्लांट में रोजगार करने के दौरान ही यह लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य भी बने। इसके अलावा लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के सामान परिषद अध्यक्ष के सहायक सचिव भी बनाए गए।

उनके राजनीतिक करियर की शुरुआत साल 1993 में पहली बार हुई जब इन्हें गुच्ची प्रांत के पहले डिस्टिक रिप्रेजेंटेटिव के रूप में चुना गया।

गुची के डिस्ट्रिक रिप्रेजेंटेटिव से धीरे-धीरे जा जापान की राजनीति में घुसते गए इस दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण राजनीतिक पदों पर काम भी किया।

साल 2005 में जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री जुनीचीरो कोइजुमी के कार्य काल में इन्हे मंत्रिमंडल के मुख्य सचिव का पद दिया गया। इसी वर्ष इनका चुनाव एलडीपी के प्रमुख के रूप में भी हुआ।

26 सितंबर साल 2006 में पहली बार शिंजो आबे जापान के प्रधानमंत्री पद पर विराजमान हुए। जिसके बाद 2006 से 2007 तक प्रधानमंत्री पद पर रहे इस दौरान आर्थिक समस्याओं से जूझ रहे जापान को इन्होंने उबरने में काफी अहम भूमिका निभाई और उत्तर कोरिया के साथ कड़ा रुख भी अपनाया।

साल 2007 में एलडीपी की भारी मतों से हार हो गई जिसके पश्चात शिंजो आबे ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

साल 2012 में एक बार फिर से एलडीपी की भारी मतों से विजय हुई जिसके पश्चात नहीं अली की के अध्यक्ष के रूप में चुना गया और दूसरी बार यह जापान के प्रधानमंत्री बने।

2014 से 2020 तक शिंजो आबे फिर से एलडीपी के अध्यक्ष चुने गए और प्रधानमंत्री पद पर कार्यरत रहे। यह जापान के सबसे युवा प्रधानमंत्री थे और सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री पद पर बने रहे।

28 अगस्त 2020 को अल्सरेटिव कोलाइटिस नामक बीमारी का हवाला देते हुए इन्होंने जापान के प्रधानमंत्री पद से अपना इस्तीफा दे दिया।

8 जुलाई 2022 को शिंजो अबे पश्चिमी जापान में जनसभा को संबोधित करने के लिए पहुंचे जहां गोली मारकर घायल कर दिया गया जिसके पश्चात उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली।

आइये इन्हे भी जानें
1. द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय
2. कौन है नंबी नारायणन (Rocketry: the nambi effect)
3. भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी
4. महान वैज्ञानिक सत्येंद्र नाथ बोस का जीवन परिचय 
5. फेमिना मिस इंडिया 2022 सिनी शेट्टी का जीवन परिचय

भारत के साथ शिंजो आबे की दोस्ती –

शिंजो आबे के कार्यकाल में जापान और भारत के बीच मित्रता का संबंध काफी अच्छा रहा। अपने प्रधानमंत्री पद पर विराजमान रहने के दौरान शिंजो आबे तीन बार भारत आए।

साल 2006 – 07 में यह पहली बार भारत आए इसके पश्चात अपने दूसरे कार्यकाल में यह तीन बार भारत आए। 2014 में 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस के अवसर पर यह भारत दौरे पर आए थे। इनका नाम उस वर्ष गणतंत्र दिवस पर आमंत्रित चीफ गेस्ट में था।

इन्होंने अपना दूसरा भारतीय दौरा 2015 में किया इस दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी इन वाराणसी के दशाश्वमेध गंगा घाट पर ले गए जहां इन्होंने गंगा आरती में भाग लिया और गंगा की आरती भी की।

2017 में भी या फिर से भारत दौरे पर आए इस दौरान अहमदाबाद में इनका भव्य स्वागत किया गया। इन्हें इस दौरान साबरमती में गांधी जी के आश्रम का दौरा कराया गया।

इसके अलावा इन्हें 2021 में भारत के सर्वोच्च सम्मान पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया जा चुका है।

शिंजो आबे का निधन का क्या कारण था (Reason of Shinzo Abe Death)

8 जुलाई 2022 की बात है जब शिंजो अबे पश्चिमी जापान के नारा में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। भाषण के दौरान ही कुछ अज्ञात हमलावरों ने उन पर बंदूक से हमला कर दिया। गोली लगने के पश्चात शिंजो आबे जमीन पर गिर गए और उन्हें दिल का दौरा पड़ा। गंभीर रूप से घायल स्थिति में उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया जहां उनका इलाज जारी था जिस दौरान उन्होंने अपनी अंतिम सांसे ली।

शिंजो आबे की मृत्यु जापान के लिए एक अपूरणीय क्षति है। जो आप एक ऐसे होनहार और प्रतिभावान नेता थे जिन्होंने जापान को उसकी आर्थिक समस्याओं की विकट परिस्थिति से उबारने में सबसे अहम भूमिका निभाई और जापान को विकास की नई दिशा और गति प्रदान की।

तो दोस्तों इस आर्टिकल के जरिए हमने शिंजो आबे का जीवन परिचय उनकी शिक्षा उनके परिवार और उनके राजनीतिक कैरियर के विषय में चर्चा की। उम्मीद करते हैं आर्टिकल आपको बेहद पसंद आया होगा।

FAQ

कौन थे शिंजो आंबे?

शिंजो आबे जापानी राजनेता व जापान के पूर्व प्रधानमंत्री थे वह सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहे। उन्होंने 2006-2007 तथा 2012 से 2020 तक पीएम पद पर कार्य किया।

प्रधानमंत्री शिंजो की मृत्यु का कारण क्या था?

8 जुलाई को सुबह के समय जब शिंजो आबे एक सभा संबोधित कर रहे थे नारा शहर में तब एक पूर्व सैनिक ने उनपर गोली चला दी जिसके बाद उन्हें हार्ट अटैक भी आ गया जिससे उन्हें बचाया नहीं जा सका।

शिंजो की नेटवर्थ कितनी है?

11 मिलियन डॉलर

शिंजो किस राजनीतिक पार्टी के नेता थे?

लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी

शिंजो आंबे प्रधानमंत्री पद पर कब से कब तक रहे?

14 जुलाई 2006 से 27 अगस्त 2007 तक इसके बाद 26 दिसंबर 2012 से 16 सितंबर 2020 तक प्रधानमंत्री रहे।

2022 में जापान का प्रधानमंत्री का नाम क्या है?

फुमियो किशिदा, वह 4 अक्टूबर 2021 से इस पद पर कार्यरत है।

Leave a Comment