कौन है द्रौपदी मुर्मू , आइये जाने इनके जीवन की खास बातें | Draupadi Murmu biography in hindi

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय, जीवनी, द्रौपदी मुर्मू का राजनीतिक सफर, धर्म एवं जाति, शिक्षा, पति, बच्चें, शादी, राष्ट्रपति पद की मजबूत उम्मीदवार (draupadi Murmu biography in hindi, Who is draupadi Murmu, father, husband, age, politics career, awards, caste)

देशभर में इस समय राष्ट्रपति चुनाव को लेकर हर जगह चर्चा हो रही है। अब देखना यह है इस बार भारत का राष्ट्रपति कौन बनता है। राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवारों को लेकर अभी तक कुछ स्पष्ट नहीं था लेकिन हाल में ही बीजेपी समर्थित गठबंधन एनडीए ने द्रोपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनाया है।

द्रौपदी मुर्मू उड़ीसा के आदिवासी समाज से संबंध रखती हैं। लेकिन एक बात यह भी है कि अभी तक ज्यादातर लोगों को द्रौपदी मुरमू के बारे में कोई जानकारी नहीं है ऐसे में लोग उनके जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते हैं।

इसलिए आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको द्रौपदी मुर्मू के जीवन परिचय से परिचित कराएंगे और आपको बताएंगे कि कैसा रहा उनका राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने तक का सफर। चलिए आगे जानते द्रौपदी मुर्मू का जीवन से जुड़ी खास बातें।

विषय–सूची

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय (Draupadi Murmu biography in hindi)

असली नाम (Real Name)द्रौपदी मुर्मू
जन्म (Date of Birth)20 जून 1958
जन्म स्थान (Place of Birth)मयूरभंज, उड़ीसा, भारत
आयु (Age)64 वर्ष (2002)
पेशा (Professions)राजनीतिज्ञ
राष्ट्रीयताभारतीय
धर्म एवं जाति (caste, religion)हिंदू , अनुसूचित जनजाति
शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification)स्नातक
कॉलेज (College)रामादेवी वूमंस कॉलेज
वजन (Weight)74 kg
ऊंचाई (Height)5.4 फीट
पारिवारिक (Family Details)
पिता का नाम (Father)बिरांची नारायण टुडू
वैवाहिक स्थितिविवाहित
पति का नाम (Husband)श्याम चरण मुर्मू
बेटीइतिश्री मुर्मू
कौन है द्रौपदी मुर्मू | Draupadi-Murmu-biography-in-hindi

कौन है द्रौपदी मुर्मू (Who is Draupadi Murmu)

द्रौपदी मुर्मू एक राजनेता हैं और भारतीय जनता पार्टी की सदस्य हैं। हाल ही में होने वाले भारत के राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी समर्थित एनडीए गठबंधन ने द्रोपदी मुर्मू को अपना उम्मीदवार बनाया है। अगर वह इस बार राष्ट्रपति चुनाव जीती हैं तो वह सबसे युवा यानी कि सबसे कम उम्र की राष्ट्रपति होंगे इसके साथ ही साथ में भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति भी होंगी।

इन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1997 में नगर पंचायत चुनाव से की। साल 1997 में बीजेपी की सदस्य बनी और इन्होंने आगे का अपना सफर बीजेपी के साथ तय किया। नगर पंचायत चुनाव जीतने के पश्चात वह वहां की पार्षद बनी और उसके महज 3 साल बाद ही उसी क्षेत्र से राय रंगपुर से राज्य विधान सभा सदस्य के रूप में चुनी गई।

आदिवासी समाज से संबंध रखती हैं द्रोपदी मुर्मू-

द्रौपदी मुरमू का जन्म उड़ीया के मयूरभंज में 20 जून 1958 को एक आदिवासी परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम बिरांची नारायण टुड्डूपेशा है जबकि इनके पति का नाम श्याम चरण मुर्मू है। इनकी एक बेटी भी है जिसका नाम इतिश्री मुर्मू है।

द्रोपदी मुर्मू ने रामादेवी वूमंस कॉलेज से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की लेकिन आर्थिक संघर्ष के कारण ज्यादा पढ़ लिख ना सकी।

स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद इन्होंने राज्य सचिवालय में नौकरी करना प्रारंभ किया इसके बाद इनका विवाह श्याम चरण मुर्मू से हुआ। अपने जीवन के शुरुआती दिनों में इन्होंने एक शिक्षक के रूप में भी कार्य किया साथ ही साथ ही उन्होंने कई और रोजगार भी किए।

Follow us on Google News image

पति और दो बेटों की हो गई थी असामयिक मौत-

द्रौपदी मुर्मू का जीवन काफी संघर्ष भरा रहा है। काफी कम उम्र में ही इनके पति की मृत्यु हो गई और यह विधवा हो गई इसके साथ ही साथ इन्होंने अपने दो बेटों को भी खो दिया। लेकिन इसके बाद भी द्रौपदी मुर्मू ने हार नहीं मानी और संघर्षों का सामना करती रही। इस समय वह अपनी इकलौती बेटी इतिश्री मुर्मू के साथ रहती हैं।

द्रौपदी मुर्मू के राजनीतिक सफर पर एक नजर (1997-2021)

1. द्रोपदी मुर्मू का राजनीतिक सफर सन 1997 में शुरू हुआ जब उन्होंने नगर पंचायत के चुनाव में जीत हासिल की और पार्षद के पद पर नियुक्त हुई। इसी वर्ष उन्होंने भारतीय जनता पार्टी में सदस्यता भी प्राप्त की। पार्षद बनने के लगभग 3 वर्ष बाद इन्हें उसी क्षेत्र से राज्य विधानसभा सदस्य के रूप में चुना गया।

2. साल 2000 से 2004 तक इन्होंने उड़ीसा सरकार में राज्य मंत्री के पद पर काम किया जिस दौरान इन्हें यातायात और वाणिज्य विभाग की जिम्मेदारी दी गई। इन्हीं 4 सालों के दौरान इन्हें पशुपालन और मत्स्य पालन विभाग की जिम्मेदारी भी दी गई।

3. 2002 से मई 2004 तक यह मत्स्यू पालन एवं पशुपालन विकास मंत्रलाय में राज्यमंत्री रह चुकी हैं।

4. द्रोपदी मुर्मू साल 2002 से 2009 तक मयूरभंज से भाजपा जिलाध्यक्ष के पद पर रही, आगे 2013 में अध्यक्ष पद भी संभाला।

5. साल 2006 में इन्हें बीजेपी के एस टी ST मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में भी चुना गया उन्होंने साल 2009 तक भारतीय जनता पार्टी ST मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष के रूप में कार्य किया।

6. अपना संघर्ष भरा राजनीतिक जीवन व्यतीत करते हुए वर्ष 2015 में इन्हें झारखंड की राज्यपाल के रूप में चुना गया जिसके बाद सन् 2015 से 2021 तक यह झारखंड के राज्यपाल के रूप में कामकाज किया।

उड़ीसा की पहली महिला नेता जो बनी राज्यपाल –

द्रोपदी मुर्मू उड़ीसा की पहली ऐसी राजनेता है जो राज्यपाल बनी। आपको बता दें कि यही द्रौपदी मुर्मू रायरंगपुर से दो बार भारतीय जनता पार्टी की ओर से विधानसभा सदस्य रही हैं।

नीलकंठ पुरस्कार से सम्मानित मुर्मूू

ओडिशा राज्य के विधानसभा से द्रोपदी मुर्मूू को 2007 में सर्वश्रेष्ठ विधायक पुरस्कार नीलकंठ से सम्मानित किया गया।

मुर्मू हाेंगी, सबसे कम उम्र की युवा महिला राष्ट्रपति

द्रौपदी मुर्मू अगर इस वर्ष राष्ट्रपति चुनाव में जीती हैं तो वह भारत की सबसे युवा राष्ट्रपति बन सकती हैं। आपको बता दें कि इस समय उनकी उम्र 64 वर्ष है। इसके पूर्व सबसे युवा राष्ट्रपति के रूप में नीलम संजीव रेड्डी को चुना गया था जिनकी उम्र 64 वर्ष 6 महीने थी। लेकिन द्रौपदी मुर्मू की उम्र अभी 64 वर्ष कुछ दिन ही है।

 इसके साथ ही साथ और भारत की दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं इसके पूर्व प्रतिभा देवी सिंह पाटिल भारत की पहली महिला राष्ट्रपति थी। द्रौपदी मुर्मू की तरह ही प्रतिभा देवी सिंह पाटिल भी राष्ट्रपति बनने के पूर्व राज्यपाल पद पर विराजमान हो चुकी थी।

इन्हें भी जाने

क्यों कह रहे है मुर्मू ही बनेंगी अगली महिला राष्ट्रपति

भारत में लगभग पूरी आबादी का 8% आदिवासी समाज है। यानी कि भारत में लगभग एक करोड़ आदिवासी समाज के लोग रहते हैं। लेकिन आज तक कभी भी किसी आदिवासी को राष्ट्रपति उम्मीदवार नहीं बनाया गया। हालांकि भारत में सिख समाज की आबादी आदिवासियों से कम ही है भारत में सिख समाज की आबादी पूरी आबादी का केवल डेढ़ फ़ीसदी के लगभग है लेकिन सिख समाज के राजनेताओं को राष्ट्रपति प्रधानमंत्री एवं अन्य सभी पदों के उम्मीदवार के रूप में मौका मिला है। ऐसे में द्रौपदी मुरमू पहली आदिवासी उम्मीदवार हैं जिन्हें भारतीय जनता पार्टी ने चुना  है।

भारतीय जनता पार्टी और एनडीए का द्रोपदी मुर्मू को राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में चुना अत्यंत सराहनीय निर्णय है इस निर्णय के आदिवासी समाज के लोगों को भी प्रतिनिधित्व का अवसर मिलेगा और आदिवासी समाज के संघर्षपूर्ण जीवन में एक क्रांतिकारी परिवर्तन लाने में सहयोग करेगा।

तो आज इस आर्टिकल के जरिए हमने भारतीय जनता पार्टी द्वारा बनाई गई राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के जीवन से संबंधित जानकारियां प्राप्त की उम्मीद करते हैं कि आर्टिकल आपको बेहद पसंद आएगा।

FAQ

द्रोपदी मुर्मू किस राज्य की पहली राज्यपाल थी?

द्रोपदी झारंखंड की पहली महिला राज्यपाल (2015-2021 तक ) है।

द्रोपदी मुर्मू किस पद की उम्मीदवार हैं?

भारत के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार है।

द्रोपदी मुर्मू किस जाति से हैं?

वह ओडिसा के आदिवासी समाज से हैं।

द्रोपदी मुर्मू की उम्र कितनी हैं?

64 वर्ष (2022) इनकी जन्म तिथि 20 जून 1958 हैं।

द्रोपदी मुर्मू कहां तक पढ़ी हुई हैं?

स्नातक

द्रोपदी मुर्मू किस राजनीतिक दल से है?

बीजेपी, भारतीय जनता पार्टी

आइये इन्हे भी जाने-
1.  भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी
2. स्वामी विवेकानंद - राष्ट्रीय युवा दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?
3. सरदार वल्लभ भाई पटेल का जीवन परिचय
4. जनरल मनोज मुकुंद नरवणे जी का जीवन परिचय
5. जनरल बिपिन रावत का जीवन परिचय 

Leave a Comment