शिक्षक दिवस का इतिहास व रोचक तथ्य | Teacher Day in hindi

भारत में 5 सितंबर को Teacher Day मनाया जाता है जबकी दुनिया भर में 5 अक्टूबर को World Teacher Day मनाया जाता है

हेलो दोस्तों आज के इस लेख में हम उनके ऊपर चर्चा करेंगे जो हमारे लक्ष्य प्राप्ति में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं। जी हां दोस्तों आज हम शिक्षक दिवस (Teacher Day in hindi) के ऊपर विस्तार से बात करेंगे। शिक्षक दिवस क्या होता है, Teacher Day क्यों मनाया जाता है? कब मनाया जाता है और इससे संबंधित कई रोचक तथ्यों की जानकारी हम आपको देंगे।

ऐसा कहा जाता है कि गुरु के मार्गदर्शन के बिना हम अपने लक्ष्य की प्राप्ति नहीं कर सकते हैं। वास्तव में शिक्षा का महत्व हमारे जीवन में इतना अधिक है की इसके बगैर हम कामयाब नहीं हो सकते है। शिक्षक के बिना मनुष्य अपूर्ण है। तो अब इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि शिक्षा प्रदान करने वाले शिक्षक कितने महत्वपूर्ण है।

शिक्षक दिवस का इतिहास व रोचक तथ्य (Teacher Day in hindi)

शिक्षक दिवस का महत्व व निबंध

हमारे भारतवर्ष में प्राचीन काल से ही गुरुओं को सर्वोच्च सम्मान देने की परंपरा रही है। हमारे हिंदु धर्म में गुरुओं को एक बहुत बड़ा स्थान दिया जाता है इसके उपलक्ष्य में शिक्षा दिवस की तरह ही गुरु पूर्णिमा नाम का पर्व भी मनाया है।

क्योंकि वो गुरु ही है जो हमारे जीवन का मार्ग प्रशस्त करते है एक अच्छे गुरू के अभाव में व्यक्ति भटक जाता है। किसी भी देश व राष्ट्र की मजबूत नींव रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है गुरु।

किसी भी व्यक्ति की सफलता उसके गुरु की शिक्षा और मार्गदर्शन पर निर्भर करता है। शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के प्रति सम्मान व्यक्त करने के लिये शिक्षक दिवस मनाया है। तो आइए हम बात करते हैं कि शिक्षक दिवस कब मनाया जाता है।

शिक्षक दिवस कब मनाया जाता है?

गुरु के प्रति सच्ची श्रद्धा रखते हुए हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस का आयोजन हर स्कूल और कॉलेज में होता है। प्रतिवर्ष 5 सितंबर को डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन की याद में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। जिसे हम टीचर्स डे के नाम से भी संबोधित करते हैं। सबसे प्रथम बार शिक्षक दिवस 1962 में मनाया गया था।

शिक्षक दिवस (Teachers Day) क्यों मनाया जाता है?

पिछले जमाने में जहां गुरु हुआ करते थे आज के जमाने में शिक्षक होते है और हर साल टीचर्स डे इसी उपलक्ष्य में मनाया जाता है जिसमे हम अपना प्रेम अपने शिक्षक के प्रति प्रदर्शित करें।

इसके अलावा मुख्य कारण ये भी है कि 5 सितंबर 1888 के दिन डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म तमिलनाडु के तिरुतनी में हुआ था। वे एक महान शिक्षक, विचारक, दार्शनिक यह हमारे स्वतंत्र भारत के द्वितीय राष्ट्रपति और प्रथम उपराष्ट्रपति थे।

उपराष्ट्रपति से पहले उन्होंने 40 साल तक शिक्षा के क्षेत्र में कार्य किया। इन्हें एक महान शिक्षक का दर्जा दिया जाता है। यह एक समाज सुधारक थे इन्होेंने भारतीय संस्कृति को विश्वभर में फैलाया।

जब वह उपराष्ट्रपति के पद पर थे तब उनके कुछ मित्रो और छात्रो ने उनका जन्मदिवस मनाने की जिद की थी तब उन्होंने कहा कि यह दिन सभी शिक्षकों के सम्मान के रूप में मनाया जाना चाहिये। तभी उन्हें असली खुशी मिलेगी। तभी से यह दिन शिक्षक दिवस के रुप से मनाया जाने लगा।

उसके बाद 1962 से भारत सरकार ने सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी के जन्मदिवस पर नेशनल टीचर्स डे मनाने की बहुमूल्य घोषणा की थी।

ज्ञान के संदर्भ में सर्वल्ली जी का यही कहना है कि ‘‘शिक्षा जहां से मिले ग्रहण कर लेना चाहिए और अपने जीवन में उतार लेना चाहिए’’

सर्वपल्ली जी की मृत्यु 86 वर्ष की आयु में 17 अप्रैल को 1975 में हुई थी। शिक्षा जगत में सर्वपल्ली जी का नाम सदैव सर्वप्रथम लिया जाएगा।

इन्हें भी पढ़े : 
1. हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? (History & Facts about Hindi diwas ) 
2. महान साहित्यकार रविन्द्रनाथ टैगोर का जीवन परिचय (rabindranath tagore biography)

शिक्षा के क्षेत्र में सर्वपल्ली राधाकृष्णन का महत्वपूर्ण योगदान

इनका जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था परन्तु इनके भीतर विद्या ग्रहण करने में काफी रुचि थी और ये पूरे विश्व को विद्यालय ही मानते थे। ये अपने जीवन में शिक्षकों के महत्व को भली भांति समझते थे। क्योंकि वो शिक्षक ही थे जो बच्चाें का कल्याण करते थे और उनका मार्गदर्शन करते थे। 40 साल उन्होंने शिक्षा का अध्ययन किया उसके बाद शिक्षा का प्रचार प्रसार करते हुए महान कार्य संपन्न किए।

हमारे देश भारत में टीचर्स डे का इतिहास सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी से जुड़ा है वो भी कुछ इस प्रकार की उनकी काबिलियत को देखते हुए ब्रिटिश गवर्नमेंट ने उन्हें सर की उपाधि से नवाजा। राधाकृष्णन जी को 27 बार नोबल पुरस्कार के लिए नामित किया जा चुका है।

1954 में सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी को भारत रत्न से सम्मानित किया गया। उस वक्त वे एक शिक्षक के तौर पर कार्य भी कर रहे थे।

डॉ. एस राधाकृष्णन भारत के महान विद्वान व प्रसिद्ध लेखक थे। उन्होंने कई महत्वपूर्ण विषयों पर लेख लिखे और हिंदु धर्म व भारतीय संस्कृति कों विदेशों में फैलानें का कार्य किया है।

डॉ. एस. राधाकृष्णन ने लगभग तीन दशकों तक शिक्षक के रुप में कार्य किया। इसके पश्चात उन्होंने यूनेस्कों में भारत का प्रतिनिधित्व करने का गौरव प्राप्त है

सन् 1949 से 1952 तक वह मास्को, रुस के राजदूत पद भी रहे। उन्होंने भारत और रूस के राजनैतिक सबंधों को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाई।

डॉ. राधाकृष्णन देश के प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों जैसे कि दिल्ली विश्वविद्यालय, बी.एच.यू. व आंध्र यूनिवर्सिटी के कुलपति जैसे प्रतिष्ठित पद पर रह चुके हैं।

राधाकृष्णन सर्वपल्ली जी का एक कथन जिसे हम सब सदैव याद रखेंगे वो ये कि “शिक्षकों का दिमाग सदैव सही होना चाहिए क्योंकि देश को बढ़ाना में या बच्चो को अच्छी शिक्षा देनी में उन्ही का अहम योगदान होता है।

डॉ. राधाकृष्णन देश के प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों जैसे कि दिल्ली विश्वविद्यालय, बीएचयू, व आंध्र यूनिवर्सिटी के कुलपति जैसे प्रतिष्ठित पद पर रह चुके हैं।

Teacher Day in hindi quotes

कैसे मनाते हैं शिक्षक दिवस (Teacher Day in hindi)

शिक्षक दिवस के अवसर पर सभी विद्यालयों में शिक्षकों के लिए सम्मान समारोह आयोजित किया जाता है शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वालें शिक्षकों को पुरुस्कृत किया जाता है। छात्र अपने पसंदीदा शिक्षक को ग्रीटिंग कार्ड व उपहार देकर धन्यवाद व्यक्त करते हैं।

इसके अलावा उनके मनोरंजन के लिए कविताएं, संगीत और नृत्य पेश करते हैं और टीचर्स को स्टेज पर बुलाकर अपना अनुभव साझा करने की कामना करते हैं की टीचर्स आएं और अपना कीमती अनुभव हमारे साथ शेयर करें। यह देखकर टीचर्स भी काफी खुश होते हैं और खुशी-खुशी अपना अनुभव साझा करते हैं।

विश्वभर में शिक्षक दिवस कब मनाया जाता है? (World Teacher Day in hindi)

टीचर्स डे से जुड़े अनेक रोचक तथ्य हैं वो ये कि हर देश में शिक्षक दिवस अलग अलग दिन मनाया जाता है। भारत में 5 सितंबर तो दुनिया भर में 5 अक्टूबर, को टीचर्स डे मनाया जाता है। और लोगो के मन में अक्सर ये सवाल आता है कि Teacher’s Day दुनिया भर में 5 अक्टूबर, तो भारत में 5 सितंबर को क्यों मनाया जाता है।

सन 1966 में 5 अक्टूबर के ही दिन पेरिस में आयोजित अंतराष्ट्रीय सम्मेलन में Teaching in freedom की संधि की गई और इसके दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किया गया। इस संधि में शिक्षकों की स्थिति को सुधारने, उनके अधिकारों की सुरक्षा, जिम्मेदारियों, सिखने-सिखानें और शिक्षा के महत्व पर विशेष जोर दिया गया।

UNESCO ने स्वयं 1994 में शिक्षक दिवस मनाने का आधिकारिक दिन तय किया है और उसके मुताबिक 5 अक्टूबर को टीचर्स डे मनाया जाएगा इसलिए 100 से भी ज्यादा देशों में 5 अक्टूबर को टीचर्स डे मनाया जाने लगा।

1. इसके अलावा आपको जानकर हैरानी होगी कि अमेरिका में एक दिन कि बजाय दो दिन शिक्षक दिवस मनाया जाता है। कहीं कहीं ये मई के पहले सप्ताह में मनाया जाता है तो कहीं जून के पहले इतवार को मनाया जाता है। तो कहीं जून के पहले इतवार को मनाया जाता है।

2. भारत में प्रति वर्ष शिक्षक दिवस 5 सितंबर को डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी की याद में मनाया जाता है फर्क नहीं पड़ता कि 5 सितंबर को कौन दिन पड़ता है।

3. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को भारत रत्न से सम्मानित किया जा चुका है। उनका ऐसा मानना है कि शिक्षा से ही मानव मस्तिष्क का उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा लोगो के मन में अक्सर ये सवाल आता है कि शिक्षक दिवस दुनियाभर में 5 अक्टूबर जबकि भारत में यह 5 सिंतबर को क्यों मनाया जाता है?

4. सिंगापुर में 1 सिंतबर को मनाया जाता है इस दिन यहां अधिकारिक छुट्टी होती है। यह स्कूलों में एक दिन पूर्व ही मना लिया जाता है।

5. चाइना में Teacher Day 10 सितम्बर के दिन मनाते है इस दिन छात्र शिक्षकों को कार्ड व फूल देकर उनका सम्मान करते हैं।

6. आस्ट्रेलिया में World Teachers’ Day अक्टूबर महिने के अंतिम शुक्रवार को मनाया जाता है।

7. थाईलैंड में 16 जनवरी के दिन Teachers’ Day मनाया जाता है।

इन्हें भी पढ़े :  
1. नंबी नारायणन का जीवन परिचय (ISRO Scientist Nambi Narayanan ) 
2. मिल्खा सिंह का जीवन परिचय (Milkha Singh Biography & Success Story)
3. भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी (Freedom Fighters of India in hindi)
4. ब्रह्मकुमारी शिवानी दीदी का जीवन परिचय

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने शिक्षक दिवस पर विस्तार से जानकारी प्राप्त की है और जाना की भारत में ही नहीं अपितु पूरे विश्व में शिक्षक दिवस की प्रतिष्ठा है। इसके अलावा हमने जाना की टीचर्स डे क्यों मनाया जाता है, कब मनाया जाता है पूरी जानकारी प्राप्त करी है।

हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा। यदि पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने मित्रो व सगे संबंधियों के साथ अवश्य शेयर करें।

FAQ:

प्रश्न- शिक्षक दिवस कब मनाया जाता है?

उत्तर: भारत के द्वितीय राष्ट्रपति डॉ. राधा सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस के अवसर शिक्षक दिवस 5 सिंतबर को मनाया जाता है।

प्रश्न- 5 सितंबर को ही शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है?

उत्तर: इस दिन भारत के महान शिक्षक, दार्शनिक डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन (पूर्व राष्ट्रपति) का जन्म दिवस होता है। चूंकि उनके द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में काफी सराहनीय कार्य किये थे। इस उपलक्ष्य में गुरू की महिमा और शिक्षकों के प्रति सम्मान और धन्यवाद व्यक्त करने के लिये इस दिन यानि 5 सिंतबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

प्रश्न- विश्व में शिक्षक दिवस (World Teacher Day) कब मनाया जाता है।

उत्तर: यूनेस्कों द्वारा अधिकारिक तौर पर घोषित विश्वभर में 5 अक्टूबर को विश्व शिक्षक दिवस के रुप में मनाया जाता है।

प्रश्न- भारत में सर्वप्रथम शिक्षा दिवस कब मनाया गया था?

उत्तर: भारत में सर्वप्रथम 1962 में पहली बार टिचर्स डे मनाया गया था।

Leave a Comment