पोर्क्युपाईन – साही जानवर के बारें में रोचक तथ्य | Interesting Facts about Porcupine animal in hindi

आज के इस लेख में हम एक ऐसे जानवर के बारे में बात करने वाले हैं जो दिखने में तो बहुत छोटा और बेहद खतरनाक होता है, जिसको साही के नाम से जाना जाता है। इस जानवर के पूरे शरीर पर नुकीले कांटे (क्विल्स) होते हैं। यह बहुत ही रोचक जानवर है। तो आज के इस लेख में हम साही (Porcupine animal in hindi) की विभिन्न विशेषताओं पर प्रकाश डालेंगे।

साही को इंग्लिश में Porcupine के नाम से जाना जाता है। साही के शरीर पर नुकीले काटे मौजूद होते हैं जो उनको शिकारी जानवरों से बचाते हैं। Hystricidae एक प्रजाति है जिसमें पुरानी दुनिया के साही आते हैं, और नई दुनिया क़े साही Erethizontidae प्रजाति में आते हैं। कैपीबारा और बीवर के बाद “कृंतक साही” की प्रजाति दुनिया में तीसरी सबसे बड़ी जीवित प्रजाति है।

दोनों परिवार Hystricidae और Erethizontidae, रोडेंटिया के भीतर इन्फ्राऑर्डर Hystricognathi में आते है। दोनों परिवार एक दूसरे से अलग है। दोनों परिवार की प्रजातियों के ऊपर कठोर या अर्ध-कठोर लम्बे कांटे होते है। साही क़े शरीर पर नोकिले काटे मौजूद होते हैं जो कि वास्तव मे उसके बाल होते हैं वह  केरातिन से बने हुए होते हैं। आइए साही के विषय में कुछ और रोचक तथ्यों के बारे में जानते हैं।

साही जानवर के बारें में रोचक तथ्य व जानकारी (Information and Facts about Porcupine animal in hindi)

साही का वैज्ञानिक नाम क्या है?

साही का वास्तविक नाम एक फ्रांसीसी शब्द पोर्सस्पिन के आधार पर रखा गया है। जिसका अनुवाद कांटेदार सूअर के रूप में किया जाता है। नई दुनिया के साही Hystricognated और पुरानी दुनिया क़े साही Hystricidae है। यह दोनों परिवार Hystricognathi के अंदर आते हैं।

Hystricidae साही जमीन पर रहते हैं और यूरोप एशिया और अफ्रीका में पाए जाते हैं। Hystricognated साही पूरे अमेरिका में पाए जाते हैं जो पेड़ पर चढ़ते हैं और तैरने का आनंद लेते हैं।

साही (saahi animal) का रूप और व्यवहार के बारें में जानकारी

साही की प्रत्येक प्रजाति एक दूसरे से अलग दिखाई देती है। जबकि उनके पास कुछ चीजें ऐसी है जो सभी में एक जैसी है, जैसे उनके पास मजबूत शरीर और छोटे सिर होते हैं। उनकी त्वचा पर कांटे मौजूद होते हैं जिससे वे किसी भी शिकारी से अपनी रक्षा करते है।

साही के शरीर का अगला भाग कमजोर होता है क्योंकि उस भाग पर किसी भी प्रकार के बाल नहीं मौजूद होते हैं। साही के कांटे (Quills) अलग-अलग रंग मे मौजूद होते हैं जिसमे पीला, गहरा भूरा या काला रंग होता है। उनके काँटों के ऊपरी हिस्से का रंग भी कई बार काफी अलग होता है जैसे पीला, सफ़ेद, काला इत्यादि।

लंबाई – साही की पूछ की लंबाई मिलकर के साही की लम्बाई 20 से 40 इंच के बीच हो सकती है।

वजन – साही लगभग 5 किलोग्राम के होते हैं। दोनों नर और मादा एक ही जैसे मोटे दिखाई देते हैं।

उम्र – साही की उम्र 5-8 साल तक होती है, अगर वह अच्छे वातावरण में रह रहे हैं तो वह इससे ज्यादा भी जिंदा रह सकते हैं।

आहार – साही एक शिकारी जानवर है जो पत्ती, घास और छोटे पौधे खाता है। साही पेड़ों की जड़ें भी खाते हैं।

साही कहां पाए जाते है?

साही की नयी प्रजाति पेड़ पर रहती है और पानी की खोज करना पसंद करते है, जो आपको अधिकांश रूप से अमेरिका मे मिलेंगे। पुराने दुनिया क़े साही मुख्य रूप से आपको यूरोप, एशिया और अफ्रीका मे मिलेंगे। जो भूमि पर रहते है, रेगिस्तान, जंगलों, घास के मैदानों, पहाड़ों और वर्षावनों में  आप उन्हें किसी भी इलाके में देख सकते है। साही को कैसा भी वातावरण मिले वो उसमे आसानी से ढल जाते है। बहुत सारे साही की प्रजाति अपना ज्यादातर समय चट्टानी दरारों, गुफाओं, जड़ों मे, ब्रश, पेड़ की शाखाओं, बिलों और खोखले लट्ठों और पेड़ों के अंदर बिताना पसंद करते है।

साही गर्म खून के प्राणी है, उन्हें निशाचर कहा जाता है, साही शीत निद्रा नहीं करता है, इसका मतलब साही पूरी सर्दिया सोकर नहीं गुजारता है। यह एक गर्म खून का जानवर है जो सर्दियों में भी जमीन पर घूमता रहता है। इसकों बहुत अधिक भोजन आवश्यकता होती है इसके लिये उसे अपने बिल से निकलना ही पड़ता है।

पुराने प्रजाति Hystricidae के साही क़े नाम नीचे दिए गए है-

Malayan porcupineSunda porcupine
Cape porcupineCrested porcupine
Indian porcupineThick-spined porcupine
Philippine porcupineSumatran porcupine
African brush-tailed porcupineLong-tailed porcupine

नयी प्रजाति Hystricognated के साही क़े नाम नीचे दिए गए है-

Bristle-spined ratBaturite porcupine
Bicolored-spined porcupineStreaked dwarf porcupine
Bahia porcupineBlack-tailed hairy dwarf porcupine
Mexican hairy dwarf porcupineBlack dwarf porcupine
Brazilian porcupineFrosted hairy dwarf porcupine

साही जानवर क्या खाता हैं?

साही शाकाहारी जानवर है। वह एक दिन मे लगभग 0.9 पाउंड भोजन करते है। ठंड के मौसम में साही पेड़ो की छाल खाना पसंद करते है। सर्दियों में कुछ परिस्थिति क़े कारण उन्हें अच्छा भोजन नहीं मिल पाता है जिसकी वजह से उनके अंदर नाइट्रोजन की कमी हों जाती है और वह 17% लगभग उनका वजन गिर जाता है।

साही पतियों को खाना बहुत पसंद करते है, अगर पेड़ जहरीले है तो वह शाकाहारी पौधे को ढूंढ़ते है खाने क़े लिए। गर्मियों के समय में उनके खानपान में एक भारी बदलाव आता है, गर्मी से बचने के लिए वे एक ऐसे भोजन को ढूंढते है जिसमे नमक की मात्रा ज्यादा हो। इसीलिए साही पोटेशियम के गुणों से भरी हुई पत्तिया खा जाते है नमकीन पत्तिया खाने के लिए उन्हें जलस्रोत के किनारे जाना होता है।

साही को जब नमक प्रकृति से नहीं मिल पाता है तो मानव के द्वारा बनायीं गई चीजों को ढूंढता है, जिसमे टायर, प्लाईवुड, औजारों के हैंडल और ब्रेक शामिल है। साही सबसे ज्यादा आम के पेड़ की तनो और जड़ को खाना पसंद करते है।

साही (saahi animal) को किस्से खतरा होता है?

साही को सबसे ज्यादा डर बड़े सींग वाले उल्लू, काले भालू, बॉबकैट, मार्टेंस, लंबी पूंछ वाले वीज, इर्मिन, कोयोट, उल्लू और मिंक से होता है। मछुआरे भी उनका शिकार करते है। मछुआरों के द्वारा साही के बहुत बड़ी मात्रा में शिकार होने के कारण साही की संख्या दिन पर दिन कम हो रहीं है।

साही पर अगर कोई शिकारी प्रहार करता है तो साही अपनी सुरक्षा के लिए अपनी पीठ के कांटे वाले हिस्से को शिकारी के ओर कर देता है। अगर शिकारी उनकी पीठ बिगाड़ देते है या उनके कांटे तोड़ देते है तो साही के पास अपने आप को बचाने के लिए और कुछ नहीं बचता है। 

साही प्रहार कैसे करता है?

साही एक छोटा जानवर है जिनके पास एक छोटी सी पूछ और छोटी छोटी टांगे होती है। इनके शरीर पर जो बाल मौजूद होते हैं वह मजबूत और नुकीले होते हैं जिन्हें हम साही के कांटे भी कहते हैं।

अगर साही को हीलाया जाए तो यह कांटे झड़ते हैं लेकिन यह मानना गलत है कि शाही अपने शिकारी के ऊपर कांटों को फेंकते हैं। जब कोई भी शिकारी उनके ऊपर प्रहार करता है तो वह अपने कांटों को खड़े कर लेते हैं और अपनी पूरी शरीर को कांटों से ढक लेते हैं।

साही जानवर से जुडी कुछ रोचक जानकारी (Interesting facts about Porcupine animal in hindi)

1. दुनिया भर में साही जानवर की कुल 24 प्रजातियां पाई जाती है। जो आपको विश्व के विभिन्न देशों अफगानिस्तान, चीन, भारत इत्यादि देशों में मिल जाता है।

2. साही एक स्तनधारी जानवर है जो कि सीधे बच्चे पैदा करती है।

3. जब साही जन्म लेते हैं तो उनके कांटे नरम होते हैं लेकिन कुछ दिनों बाद धीरे-धीरे उनके काटे कड़क और मजबूत होते जाते हैं।

4. साही भी गिलहरी, खरगोश और चूहे की तरह कुतर कर भोजन करते हैं। इनके आगे के दांत हमेशा बढ़ते रहते हैं जिसको वह लकड़ी को कुतर कर घिसते रहते हैं।

5. साही एक डरपोक प्राणी है जो ज्यादातर समय अपने बिल में ही रहता है। जब उसे भोजन की जरूरत होती है तभी वह अपने बिल से निकलता है। साही हमेशा दिन में सोते हैं और रात के समय अपने बिल से बाहर निकलते हैं।

6. दुनिया में सबसे छोटा साही 15 इंच का है जिसको Hairy Dwarf साही के नाम से जाना जाता है।

7. साही के शरीर पर कुल 30 हज़ार से ज्यादा कांटे मौजूद होते हैं। पुराने कांटे निकलते रहते हैं और नए कांटे आते रहते हैं। जब कोई भी शिकारी इन पर हमला करता है तो वह इन कांटों से अपने पूरे शरीर को ढक लेते हैं।

8. साही खुद किसी जानवर पर हमला नहीं करता है जब उसे खतरा महसूस होता है तो वह अपने शिकारी के शरीर पर कांटो को घुसा देता है, जिसकी वजह से शिकारी की मौत भी हो जाती है।

9. साही अपने जन्म के बाद अपनी मां के पास लगभग 3 से 5 महीने तक रहता है।

10. साही को दिखाई बहुत कम देता है लेकिन इसकी सुंघने की शक्ति बहुत अधिक होती है। यह खतरा बहुत जल्दी ही भांप जाता है।

11.  साही के शरीर को अगर हिलाए जाए तो इनके काटे झड़ते हैं, यह मानना गलत है कि यह अपने कांटों (Quills) को अपने दुश्मनों के ऊपर फेंकते हैं।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने साही जानवर ( Porcupine animal in hindi ) के रोचक तथ्य और उससे विशेषता से जुड़ी अन्य जानकारियों पर प्रकाश डाला है। हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा। यदि पसंद आया हो तो कृपया इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

Leave a Comment