Chandrayaan 3 Mission in hindi: चांद पर भारत की फतह, सफलतापूर्वक उतरा चंद्रयान 3 जानिए इस मिशन से जुड़ी खास बातें।

Advertisements

Chandrayaan 3 Mission Facts in Hindi, Chandrayaan 3 Live Location Today News, Live updates in hindi, Chandrayaan 3 Mission In Hindi, Chandrayaan 3 launch date and time in (India) hindi, Chandrayaan 3 kab launch hua, Moon Missions History and Facts in Hindi (चंद्रमा की सतह पर आज उतरेगा, चंद्रयान 3 लॉन्च की तारीख़, समय? चंद्रयान 3 कब हुआ था लॉन्च? चंद्रयान चंद्रयान 3 मिशन का उद्देश्य, चंद्रयान 3 की पूरी जानकारी)

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram group Join Now

अंतरिक्ष की दुनियां में भारत दिन पर दिन नई नई उपलब्धियां हासिल करता जा रहा है। पिछले कुछ सालों में भारत ने अंतरिक्ष से जुड़े कई स्पेस मिशन लांच किए और सफलताएं भी हासिल की। जिनमें चंद्रयान तथा मंगलयान मिशन बेहद महत्वपूर्ण साबित हुए।

मिशन चंद्रयान 3 की उपलब्धि के बाद अब ISRO एक नई मिशाल कायम कर दी है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 23 अगस्त 2023 को शाम 6:04 पर भारत ने चंद्रमा की सतह पर सफलतापूर्वक चंद्रयान-3 के विक्रम को लैंड करा लिया है।

Advertisements

भारत में जिस चंदा मामा की कहानी बच्चों को सुनाई जाती थी आज उस चंद्रमा पर भारत ने अपनी पहुंच बना ली है अब चंदा मामा दूर के नहीं रहे बल्कि वह हमारे अपने हो गए हैं। आज पूरा भारत इसरो की इस कामयाबी का जश्न मना रहा है।

केवल ISRO और भारत सरकार ही नहीं बल्कि भारत की पूरी जनता Chandrayaan-3 की सॉफ्ट लैंडिंग को लेकर बेहद उत्साहित है। इस समय पूरी दुनिया की नजरें भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केन्द्र के इस महत्वपूर्ण मिशन पर टिकी हुई थी।

चंद्रयान-3 मिशन को 14 जुलाई को दोपहर 2.35 मिनट पर लांच किया गया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह राकेट लांच श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केंद्र सतीश धवन से लॉन्च हुआ था।

इस साल इसरो ने कई महत्वपूर्ण स्पेस मिशन लांच करने की योजनाएं बनाई हैं जिनमें मुख्य रुप से चंद्रयान 3 मिशन, गगनयान तथा आदित्य L1 शामिल हैं।

Chandrayaan-Mission-3-land-on-moon-Facts-in-hindi

Chandrayaan-3 ISRO द्वारा एक बड़ी कामयाबी हासिल की है। हालांकि इसरो के द्वारा Chandrayaan-2 भी लॉन्च किया गया था जो कि एक असफल प्रोजेक्ट रहा था उसी कमी को पूरा करते हुए इसरो ने Chandrayaan-3 को चंद्रमा पर भेजने का निर्णय लिया था।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आखिरकार आज चंद्रयान 3 की लैंडिंग चंद्रमा की सतह पर हो चुकी है। 23 अगस्त 2023 का दिन वह ऐतिहासिक दिन बन गया है जब भारत और ISRO ने चांद के दक्षिणी ध्रुव पर लैंड कर चुके हैं। चांद के इस हिस्से पर दुनियां का कोई भी देश नहीं पहुंच पाया है। यहां साफट लैडिंग कराना बहुत ही मुश्किल माना जाता रहा है। चंद्रयान 3 के सोफ्ट लैंडिग के साथ ही इसरों दुनियां में अपनी धाक जमा चुका है।

केवल भारत ही नहीं बल्कि आज पूरा विश्व उस स्वर्णिम पल का इंतजार कर रहा था जब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र का चंद्रयान 3 चंद्रमा की सतह पर उतरता आखिरकार सभी भारतवासियों की दुआ कम आई और इंतजार भी खत्म हुआ अब इसरो चंद्रमा तक अपनी पहुंच बन चुका है।

आज इस लेख के जरिए हम आपको बताएंगे कि Chandrayaan-3 चंद्रमा की सतह पर कब उतरा तथा इसका उद्देश्य क्या है?

अगर आप भी चंद्रयान 3 के बारे में संपूर्ण जानकारी चाहते हैं, तो हमारे आज के इस आर्टिकल को अवश्य पढ़ें आज के इस आर्टिकल में हम आपको चंद्रयान से जुड़ी संपूर्ण जानकारी देंगे।

विषय–सूची

भारत ने की चांद पर फतह, सॉफ्ट लैंड हुआ चंद्रयान –

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब आखिरकार इसरो और भारत ने चांद पर फतह हासिल कर ली है। भारत का चंद्रयान 3 सफलतापूर्वक चांद पर उतर चुका हैं। भारत की यह उपलब्धि करोड़ों लोगों ने सीधे प्रसारण के जरिए देखी और इस महानतम उपलब्धि के गवाह बन गए।

Join Whatsapp Channel Join Now
Join Telegram group Join Now

चंद्रयान-3 की लैंडिंग का हुआ सीधा प्रसारण (Chandrayaan 3 Live Update)-

भारत और इसरो की इस महान उपलब्धि को सदा संजोने के लिए चंद्रयान-3 की लैंडिंग का सीधा लाइव प्रसारण किया गया। इसरो के ऑफिशल युटुब चैनल पर तकरीबन 8 मिलियन लोगों ने इस लैंडिंग का सीधा प्रसारण देखा।

जानकारी के लिए बता दें कि आज शाम 5:20 पर चंद्रयान-3 की सॉफ्ट लैंडिंग का सीधा प्रसारण इसरो के आधिकारिक यूट्यूब चैनल तथा फेसबुक पेज पर हो रहा था जिससे करोड़ों भारतीय जुड़े थे और पलपल-भारत की नई उपलब्धि के साक्षी बना रहे थे।

इन सब के अलावा दूरदर्शन इंटरनेशनल समेत कई सारे टीवी चैनलों पर भी चंद्रयान-3 की लैंडिंग का सीधा लाइव प्रसारण किया गया।

चंद्रयान-3 की लैंडिंग का सीधा लाइव प्रसारण देखेंशाम 5:20
ISRO Official WebsiteClick Here
ISRO Youtube ChannelClick Here
ISRO FacebookClick Here
Join our Whatsapp Group HK 1

मिशन चंद्रयान 3 हुआ था सफलतापूर्वक लॉन्च-

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र ISRO ने हाल ही में मिशन चंद्रयान 3 के लॉन्चिंग की थी। ISRO द्वारा यह महत्वपूर्ण मिशन 14 जुलाई 2023 की दोपहर 2:35 पर लांच किया गया था।

चंद्रमा की सतह पर कब पहुंचेगा चंद्रयान 3?

आशा जताई जा रही है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र द्वारा प्रक्षेपित यह चंद्रयान आज 23 अगस्त 2023 को चंद्रमा की सतह पर शाम 6 बज कर 4 मिनट पर लैंडिंग करेगा।

पूरा देश इस मिशन की कामयाबी के लिए प्रार्थना कर रहा है। भारतवासी अब उस स्वर्णिम घड़ी का इंतजार कर रहे हैं जब इसरो का यह चंद्रयान चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करेगा।

चलिए अब आपको इस मिशन के विषय में विस्तार पूर्वक बताते हैं।

चंद्रयान 3 मिशन क्या है?(ISRO Chandrayaan 3 Mission in Hindi)

दोस्तों सबसे पहले आपको Chandrayaan-3 के बारे में जानना आवश्यक है कि यह क्या है, तो मैं आपको बता दूं कि चंद्रयान-3 चंद्रमा पर भेजे जाने वाली तीसरी सेटेलाइट है, और इस सेटेलाइट की लागत 600 करोड़ से अधिक बताई जा रही है।

मैं आपको यह भी बता दूं कि chandrayaan-3 के तीन प्रमुख हिस्से हैं, इन्हें अंग्रेजी भाषा में मॉड्यूल भी कहा जाता है।

  • उड़ने वाला हिस्से  – प्रोपल्शन मॉड्यूल
  • नीचे उतरने वाला हिस्सा  – लैंडर मॉड्यूल
  • जानकारी जुटाने वाले हिस्सा – रोवर

ऊपर हमने आपको चंद्रयान में प्रयोग किए गए कुछ भागों (Parts) के बारे में बताया गया है कि यह हिस्सा chandrayaan-3 के अंदर प्रयोग किए जा रहे हैं।

Chandrayaan-2 के अंदर एक हिस्सा और मौजूद था जो कि इस बार Chandrayaan-3 के अंदर नहीं दिया गया।

प्रोपल्शन चंद्रयान को पूरी शक्ति से उड़ने की सहायता प्रदान करेगा जिसकी वजह से चंद्रयान धरती से अंतरिक्ष तक पहुंच पाएगा चंद्रमा पर पहुंच जाने के बाद इस यूनिट का काम खत्म हो जाएगा।

इसके बाद लैडर की बारी आएगी जाने के बाद अगला कार्य  लैडर‌ करेगा उस पूरे सेटअप को चंद्रमा पर उतरने का कार्य करेगा और यह अपने साथ रोवर को लेकर उतरेगा।

इसके बाद सारा काम रोवर पर आ जाएगा रोवर हमें अधिक से अधिक जानकारियां जुटा कर देगा रोवर के अंदर चार चक्के लगे हुए होते हैं रोबोट है, घूमेगा, फोटो खींचेगा, वीडियो बनाएगा यानी कि हम कह सकते हैं कि यह बैटरी रहने तक हमें चंद्रमा की संपूर्ण जानकारी पृथ्वी तक भेजने में मदद करेगा।

मिशन चंद्रयान 3 का उद्देश्य –

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र ने तीन प्रमुख लक्ष्य के साथ चंद्रयान 3 के लांचिंग की योजना बनाई है।

  • भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र का पहला लक्ष्य chandrayaan-3 कैलेंडर की चंद्रमा सतह पर सुरक्षित स्मूथ लैंडिंग करवाना है।
  • भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र का दूसरा प्रमुख उद्देश्य चंद्रयान के रोवर को चांद की सतह पर चला कर दिखाना है।
  • साथ ही साथ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र ने अपना तीसरा प्रमुख उद्देश्य वैज्ञानिक परीक्षण को भी लेकर कई सारी योजनाएं बनाई हैं।

मिशन चंद्रयान 3 की पूरी जानकारी (All Information about Chandrayaan 3 Mission)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ISRO ने चंद्रयान 3 का लैंडर चंद्रमा की सतह पर उतारने की योजना बनाई है जिसके बारे में अभी तक कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं है। ISRO का यह प्रयास चंद्रमा के बीच कई महत्वपूर्ण जानकारियां जुटा सकता है।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र पृथ्वी के इकलौते उपग्रह चंद्रमा के बारे में ऐसी महत्वपूर्ण जानकारियां जुटाना चाहता है जो अभी तक किसी अन्य अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र या दूसरे देश हासिल नहीं कर पाए हैं। इसलिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान का यह प्रयास है कि इस बार चंद्रयान 3 को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुवी क्षेत्र में सॉफ्ट लैंडिंग कराने का है।

मिशन चंद्रयान 2 के बारे में कुछ विशेष जानकारियां।

Chandrayaan-2 के बारे में मैं आपको कुछ रोचक बातें बता देता हूं।

chandrayaan-2 भारत का दूसरा सेटेलाइट था जो चंद्रमा पर भेजा गया था इसे 22 जुलाई 2019 को 02:43 पर सफलतापूर्वक उड़ाई गई लेकिन इसके अंदर कुछ तकनीकी खराबी आ जाने के कारण यह मिशन फेल हो गया।

लेकिन इस मिशन के अंदर भी भारत की एक बड़ी कामयाबी शामिल है इसी कमी को पूरा करते हुए भारत ने chandrayaan-3 को मैदान में उतारा है, ऐसा मानना है, कि चंद्रयान-2 में रह गई कमियों को और कुछ विशेषज्ञों की सहायता से Chandrayaan 3 को बनाया गया है।

चंद्रयान के साथ-साथ कई अन्य महत्वपूर्ण मिशन हो सकते हैं लांच-

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह साल इसरो की अंतरिक्ष की दुनिया में उपलब्धि के लिए बेहद खास होने वाला है क्योंकि इसी साल Chandrayaan-3 समेत कई महत्वपूर्ण स्पेस मिशन लांच किए जाने हैं। इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारियों के मुताबिक इसी साल के अंत तक इसरो का गगनयान मिशन भी लांच किया जाएगा जो तीन चरणों में पूरा होगा।

केवल इतना ही नहीं इसी साल भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा आदित्य L1 अंतरिक्ष मिशन लांच करने की भी संभावनाएं जताई जा रही हैं।

निष्कर्ष (Conclusion):-

तो दोस्तों कैसा लगा आपको हमारा आज का ही आर्टिकल आज के आर्टिकल में हमने आपको Chandrayaan-3 से जुड़ी तमाम जानकारियों से अवगत कराया है।

अगर आपको हमारा आज का यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे लाइक शेयर कमेंट अवश्य करें और साथ ही साथ इसे अपने सोशल मीडिया साइट पर शेयर करना ना भूले और इसे अपने व्हाट्सएप ग्रुप पर अवश्य शेयर करें।

ताकि आपके दोस्तों को भी Chandrayaan-3 मिशन के बारे में पता चल सकें और अगर हमारे आर्टिकल में कोई भी कमी नजर आई है तो हमें कमेंट सेक्शन में अवश्य बताएं हम आपके कमेंट का जल्द से जल्द रिप्लाई करें।

Homepage Follow us on Google News

FAQ

चंद्रयान 3 कब हुआ था लॉन्च?

14 जुलाई को दोपहर 2.35 मिनट पर लांच हुआ था।

चन्द्रयान 3 की लैडिंग कहां पर होगी।

चांद के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग की जाएगी।

चन्द्रयान 3 लैंड करने का समय क्या है?

इसरो आज 23 अगस्त को 6 बजकर चार मिनट पर सोफ्ट लैंडिग करवाएगा।

चंद्रयान 3 (लैंडर, रोवर) का नाम क्या है?

चंद्रयान 3 लैंडर का नाम विक्रम और रोवर- प्रज्ञान है।

इसरो के वर्तमान अध्यक्ष कौन हैं?

श्री एम. सोमनाथ इसरो के वर्तमान अध्यक्ष है 14 जनवरी 2022 को पदभार ग्रहण किया था।

Leave a Comment