Advertisements

FIFA World Cup 2022: दुनियां के सबसे अमीर देशों में गिना जाता है Qatar, जानिए कैसे बना इतना अमीर देश । Amazing Facts of Qatar in Hindi | Amazing 8 Luxurious Stadium for FIFA Qatar in hindi

FIFA World Cup 2022 Host Country Qatar Facts – फीफा विश्व कप 2022 की मेजबानी करने वाला छोटा सा देश कतर इस समय दुनिया (Amazing Facts of Qatar in Hindi) के सबसे अमीर देशों में गिना जाता है। जब भी दुनियां के सबसे अमीर देशों की बात होती है तो अमेरिका ब्रिटेन और सऊदी अरब का नाम जरूर आता है लेकिन कई रिपोर्ट्स की माने तो कतर इस समय दुनिया का सबसे अमीर देश है।

कुछ रिपोर्ट्स की सर्वे के मुताबिक कतर का हर तीसरा आदमी करोड़पति है। अगर बात की जाए सालाना इनकम की तो कतर में हर तीसरे आदमी की सालाना इनकम भारतीय रुपयों में तकरीबन 94 लाख रुपए है।

लेकिन हम सब जानते हैं कि समय एक जैसा नहीं रहता। कभी कतर का नाम भी पिछड़े और गरीब देशों में शामिल था जहां चारों तरफ रेत ही रेत थी। आज से तकरीबन 60-70 साल पहले रेगिस्तान के अलावा कतर में और कुछ नहीं था। न ऊंची इमारतें थी, न पैसा था और ना ही इतनी सुख सुविधाएं थी। लेकिन आज वही कतर दुनिया के सबसे अमीर देशों में गिना जाता है जहां 8 वर्ल्ड क्लास लग्जरियस स्टेडियम बनाए गए हैं जिनके बल पर इस समय कतर FIFA World Cup 2022 की मेजबानी कर रहा है।

Advertisements

तो चलिए आज इस आर्टिकल के जरिए आपको बताते हैं कि आखिर कतर इतना अमीर देश कैसे बना? इसके अलावा हम आपको इस आर्टिकल के जरिए कतर के 8 एयर कंडीशनिंग वर्ल्ड क्लास स्टेडियम और कतर के बारे में रोचक तथ्य (Amazing Facts of Qatar in Hindi and Details about 8 World Class Stadium of Qatar In Hindi) पर भी चर्चा करेंगे।

इन्हें भी जानें- FIFA ट्रॉफी से जुड़े आश्चर्यजनक और हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य

कतर इतना अमीर देश कैसे बना? (How Qatar become Most Richest Country in the World)

आज से तकरीबन 50-70 वर्ष पूर्व कदर की स्थिति बहुत नाजुक थी। ना कतर में ऊंची इमारतें थी, ना इतने पैसे थे और ना ही कोई वर्ल्ड क्लास स्टेडियम अगर कुछ दिखाई देता था तो केवल रेगिस्तान। चारों तरफ रेत ही रेत थी और आज की सुख-सुविधाओं के मुकाबले तब कुछ भी नहीं था।

पहले कतर के ज्यादातर लोग मोतियों का व्यापार करते थे जिसे मूंगे के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन आज यही कतर दुनिया के सबसे अमीर देशों में गिना जाता है। यहां तक कि कुछ रिपोर्ट्स में कतर को दुनिया का सबसे अमीर देश भी बताया जाता है।

कतर की अमीरी का सबसे बड़ा कारण है यहां के पेट्रोलियम तेल और प्राकृतिक गैसों के भंडार। कहा जाता है कि 1950 में कतर के भीतर पेट्रोलियम तेल (पेट्रोल, डीजल और कैरोसिन) और प्राकृतिक गैस ईंधन के भंडार खोजे गए जिसके बाद कतर की किस्मत ही बदल गई।

इस समय कतर पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस ईंधन के उत्पादन में अग्रणी देशों में शामिल है। यही कारण है कि इस समय कतर और उसके पड़ोसी देश सऊदी अरब के बीच आपसी संबंध कुछ ठीक नहीं है। पिछले 60-70 सालों में कतर ने खूब तरक्की की।

इतना ही नहीं इस समय कतर ने पेट्रोलियम उत्पादन, अमीरी और जीडीपी के मामले में सऊदी अरब को भी काफी पीछे छोड़ दिया है। कदर इस समय दुनिया भर के देशों को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस ईंधन मुहैया करा रहा है और खूब पैसे भी कमा रहा है। इस समय कतर में मछलियां पकड़ने का कारोबार और व्यापार भी खूब तेजी से चल रहा है।

कतर के पास इतना पैसा है कि आज दुनिया के बड़े-बड़े मुल्कों से लोग वहां कमाने के लिए जाते हैं और कतर वासियों के घरों में नौकर तक का काम भी करते हैं। कतर की कुल आबादी में केवल 9% से 10% लोग कतर के मूल निवासी हैं बाकी की जनसंख्या में बाहरी देशों से आए हुए लोग शामिल हैं। यानी कि कतर में पूरी आबादी का 90% हिस्सा बाहरी देश के लोगों की जनसंख्या का है जो यहां कमाने के लिए गए हैं।

इन्हें भी जानें- एपीजे अब्दुल कलाम के जीवन से जुड़ें किस्से व खास बातें 

Amazing-Facts-of-Qatar-in-hindi-FIFA-world-cup-host-Facts About Qatar Stadium in hindi

कतर के लोगों को नहीं देना पड़ता इनकम टैक्स –

अब हम कतर के बारे में आपको एक ऐसी बात बताने जा रहे हैं जिसे सुनने के बाद आपके होश उड़ जाएंगे और आप दंग रह जाएंगे।

बात यह है कि कतर के लोगों को इनकम टैक्स नहीं देना पड़ता और ना ही किसी प्रकार का सर्विस टैक्स देना होता है। हालांकि जिन चीजों पर टैक्स लगाए भी जाते हैं तो वे के बराबर होते हैं।

अब आप यह सोच रहे होंगे कि अगर कतर की सरकार इनकम टैक्स और सर्विस टैक्स नहीं लेती तो कतर के पास इतने पैसे कहां से आते हैं? कतर की बुलंदी का सबसे बड़ा कारण पेट्रोलियम तेल और प्राकृतिक गैस ईंधन का भंडार है जिसके बलबूते कतर अपने नागरिकों को मुफ्त सेवाएं दे रहा है और बदले में इनकम टैक्स और सर्विस टैक्स भी नहीं ले रहा।

सन् 1971 में आजाद हुआ था कतर –

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया की कतर की हालत हमेशा से ऐसी नहीं थी। पहले कतर बहुत ही गरीब देश हुआ करता था। ऐसा इसलिए क्योंकि कतर को दो बार गुलाम बनाया जा चुका है। शुरू में कतर को तुर्की ने गुलाम बनाया था जिसके बाद ब्रिटेन के अंग्रेजों ने भी कतर को अपना गुलाम बना लिया।

लेकिन ब्रिटेन कतर को गुलामी की बेड़ियों में जकड़ने के लिए ज्यादा दिनों तक मजबूर नहीं कर सका और अंततः साल 1971 में कतर ब्रिटिश शासन से आजाद हो गया। आजादी के बाद कतर की कामयाबी के नए द्वार खुल गए हालांकि 1950 में ही कतर में पेट्रोलियम तेल और गैस भंडार खोजे जा चुके थे लेकिन गुलामी की बेड़ियों में उनके बलबूते पर आगे बढ़ना कतर के लिए नामुमकिन सा था।

आजाद होने के बाद कतर ने अपने पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस भंडारों को अपना सबसे बड़ा हथियार बना लिया और आज वह दुनिया का सबसे बड़ा प्राकृतिक गैस एक्सपोर्ट करने वाला देश है।

अब आइए आपको कतर से जुड़े हुए कुछ और मजेदार रोचक तथ्यों के बारे में बताते हैं जिनके बारे में शायद ही आपको पता हो।

इन्हें भी जानें- फीफा वर्ल्ड कप का इतिहास इससे जुड़े रोचक तथ्य

कतर से जुड़े कुछ मजेदार रोचक तथ्य (Interesting & Amazing Facts of Qatar in Hindi)

  • कतर दुनिया के सबसे अमीर देशों में गिना जाता है। हालांकि कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक इसे दुनिया का सबसे अमीर देश भी बताया गया है लेकिन यह बात स्पष्ट नहीं है।
  • कतर अरब देशों में से सबसे अमीर देश है। इसकी जीडीपी अरब देशों के मुकाबले सबसे ज्यादा है जिसमें सऊदी अरब भी शामिल है।
  • अगर पेट्रोलियम तेल उत्पादन की बात करें तो कतर का नाम भी दुनिया के बड़े पेट्रोलियम तेल उत्पादक देशों में गिना जाता है। विकिपीडिया के मुताबिक वैश्विक तेल के उत्पादन में 15वें स्थान पर है।
  • कतर की अमीरी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कतर में पेट्रोल की कीमत एक पेप्सी की बोतल और बर्गर से भी सस्ती है।
  • इस समय कतर की कुल जनसंख्या 28 लाख से 29 लाख के बीच है। हालांकि कई रिपोर्ट्स नई से 29 लाख भी बताया गया है। लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि तकरीबन 29 लाख आबादी के इस देश में केवल 9% से 10% लोग ही कतर के मूल निवासी हैं बाकी के 90% से 91% लोग बाहरी हैं।
  • कतर में गरीबी लगभग ना के बराबर है अगर आंकड़ों की बात करें तो यहां केवल पूरी आबादी के केवल एक परसेंट लोग ही मध्यम रेखा के नीचे आते होंगे लेकिन वह भी भारत के मुकाबले मध्यमवर्गीय नागरिकों से अमीर हैं।
  • कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक कतर का हर तीसरा आदमी करोड़पति है और हर तीसरे आदमी की वार्षिक आय यानी कि एनुअल इनकम तकरीबन 94 लाख रुपए है।
  • कतर की आकृति मानचित्र में अंगूठे जैसी है और यह बहुत छोटा देश है जिसका क्षेत्रफल भारत के छोटे से छोटे राज्य से भी कम होगा।
  • इस समय पेट्रोलियम तेल उत्पादन के बाद कतर की तरक्की और आय का दूसरा सबसे बड़ा स्रोत टूरिज्म है। यहां की आलीशान और बेशकीमती मारते हैं, आठ आलीशान एयर कंडीशनिंग वर्ल्ड क्लास स्टेडियम और नवाबों जैसी सुख सुविधाएं लोगों के मन को आकर्षित कर लेती हैं।
  • कतर सरकार महिलाओं की स्वतंत्रता और पहनावे को लेकर काफी सख्त है कतर की महिलाएं केवल पारंपरिक पहनावा ही पहन सकती हैं। जैसे कि वहां की महिलाएं शॉर्ट्स कपड़े नहीं पहन सकती और बुर्खा लगाना अनिवार्य होता है।
  • वैसे तो कतर में ज्यादातर स्थानों पर मदिरापान इत्यादि पर कड़े नियम बनाए गए हैं और इसे गैरकानूनी माना जाता है लेकिन कुछ आलीशान होटलों में टूरिज्म के दौरान मदिरा सेवन और मदिरा व्यापार की छूट भी दी गई है।
  • कतर में भले ही डीजल पेट्रोल और केरोसिन आयल काफी सस्ते हो लेकिन यहां खाने पीने की चीजें काफी मांगी है जैसे कि सब्जियां फल और अनाज इत्यादि।
  • कतर में पानी की बोतलें भी काफी महंगी बिकती हैं क्योंकि यहां पर भी दूसरे अरब देशों की तरह पानी की किल्लत है क्योंकि ज्यादातर अरब देशों में चारों तरफ रेतीली मिट्टी ही है जिसके कारण काफी नीचे गहराई के बाद भी जल निकास नहीं हो पाता। कतर में खाने पीने की चीजें अनाज सब्जियां और भी कई दूसरी चीजें दूसरे देशों से मंगाई जाती हैं।
  • कुछ रिपोर्ट्स की मानें तो कतर में प्रवास करने वाले ज्यादातर नागरिक भारतीय हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक कतर में तकरीबन पूरी आबादी के 21% लोग भारतीय हैं। इसके अलावा कतर में बांग्लादेश पाकिस्तान और नेपाल के लोग भी बहुतायत मात्रा में रहते हैं।
  • कतर के पास इतना पैसा है कि यहां के सभी नागरिकों के लिए बिजली, पानी, ट्रांसपोर्ट और मेडिकल सुविधाएं बिल्कुल मुफ्त है।
  • कतर इस समय फीफा वर्ल्ड कप 2022 की मेजबानी कर रहा है।
  • कतर प्राकृतिक गैस ईंधन के एक्सपोर्ट के मामले में सबसे ऊपर है।
  • कतर ने अपने 8 आलीशान स्टेडियम बनाए हैं जिन पर तकरीबन 230 बिलियन डालर का खर्च आया है जोकि दुनिया के सबसे अमीर इंसान एलोन मस्क की कंपनी टेस्ला और स्पेसएक्स के पूरे शेयरों की कीमत से भी जाता है।
  • कतर में लगभग सभी घरों में नौकर रखे जाते हैं जो ज्यादातर बांग्लादेशी पाकिस्तानी और नेपाली होते हैं।
  • भारत के बड़े बड़े पैसे वाले लोग भी कतर के मध्यम वर्गीय नागरिकों की आय से मुकाबला नहीं कर सकते।
  • कतर की तरक्की और आय का सबसे बड़ा स्रोत टूरिज्म और गैस निर्यात है।
  • कतर तीन ओर से समुद्र से घिरा हुआ है जबकि इसके चौथी ओर इसकी सीमा पड़ोसी अरब देश सऊदी अरब से लगी हुई है।
  • जीडीपी के मामले कतर अरब देश में सबसे अमीर है जिसकी जीडीपी सऊदी अरब से भी ज्यादा है।

इस समय कतर में मौजूद हैं दुनियां के सबसे बेहतरीन 8 वर्ल्ड क्लास एयर कंडीशनिंग स्टेडियम , तो आइये इनके बारें में विस्तार से जानते हैं।

इन्हें भी जानें- दुनियां की सबसें ऊंची मूर्ति स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के बारें में खास बातें

कतर स्टेडियम से जुड़े रोचक तथ्य एवं खास बातें (Interesting Facts About Qatar Stadium in hindi)

कतरने आठ वर्ल्ड क्लास एयर कंडीशनिंग स्टेडियम बनाए हैं जिनके बलबूते पर आज वह फीफा वर्ल्ड कप 2022 की मेजबानी कर रहा। फीफा वर्ल्ड कप 2022 के सारे मैच इन आठों स्टेडियम में खेले जाएंगे।

स्टेडियम न केवल वर्ल्ड क्लास और एयर कंडीशनिंग स्टेडियम है बल्कि दुनिया के सबसे बेहतरीन स्टेडियम भी हैं। कतर की तपती धूप और गर्मी को देखते हुए कतर सरकार ने बड़े बेहतरीन ढंग से इन आठों एयर कंडीशनिंग स्टेडियमों को डिजाइन करवाया है जिनमें खिलाड़ियों को बाहर की गर्मी छू भी नहीं सकती।

द गार्जियन पत्रिका की एक रिपोर्ट के मुताबिक कतर हर हफ्ते 500 मिलियन डॉलर इन स्टेडियमों के निर्माण में खर्च किए हैं। कतर ने अब तक इन आठों स्टेडियम के ऊपर तकरीबन 230 बिलियन डालर खर्च कर चुका है जिसकी कीमत भारतीय रुपयों में 19 हज़ार अरब रूपए से भी अधिक और पाकिस्तानी मुद्रा में तकरीबन 50 हज़ार अरब है।

साल 2010 के बाद कतर ने लगातार इन आठ स्टेडियम पर काम किया है। कतर की मौजूदा सरकार ने खेल आयोजन में रुचि रखते हुए कतर को एक मेजबान देश बना दिया है। आइए अब आपको इन आठ स्टेडियम के नाम और इनकी क्षमता के बारे में बताते हैं।

  • कतर के पहले स्टेडियम का नाम अल बयात स्टेडियम है जिसमें एक साथ तकरीबन 60,000 से 63,000 दर्शक मौजूद हो सकते हैं। इसे खानाबदोश टेंट मॉडल के आधार पर तैयार किया गया है।
  • कतर के दूसरे स्टेडियम का नाम अल जानुब स्टेडियम है जिसकी क्षमता 40,000 है।
  • तीसरा स्टेडियम अल रयान स्टेडियम है जिसकी क्षमता 40,000 दर्शकों की है।
  • इसके अलावा इन आठ स्टेडियमों में अल थुआमा स्टेडियम (दर्शक क्षमता 40,000), एजुकेशन सिटी स्टेडियम (दर्शक क्षमता 40,000), खलीफा स्टेडियम (दर्शक क्षमता 40,000), लुसैल आइकॉनिक स्टेडियम (दर्शक क्षमता 80,000) रस अबु अबुद स्टेडियम (दर्शक क्षमता 40,000) शामिल हैं।
Homepage Follow us on Google News
इन्हें भी पढ़ें-
> क्रिकेट का इतिहास व रोचक तथ्य (Interesting facts about cricket)
> टी20 व वनडे क्रिकेट के नियम क्या हैं?
> आईपीएल क्या है? आइये जाने इसके इतिहास के बारे में पूरी जानकारी
> आईपीएल (IPL) के बारें में 50 रोचक तथ्य
> कॉमनवेल्थ गेम्स का इतिहास एवं रोचक तथ्य
> थॉमस कप क्या है आइये जाने इसका इतिहास क्या है?

Leave a Comment