Advertisements

World Soil Day 2022: मृदा दिवस क्यों मनाया जाता है? इसका महत्व, उद्देश्य व इतिहास, विश्व मृदा दिवस 2022 थीम

विश्व मृदा दिवस क्यों मनाया जाता है? इसका महत्व इतिहास, उद्देश्य (World Soil Day 2022 Theme)

आप लोगों ने कहावत सुना होगा कि मिट्टी हमारी मां है और उसे धरती माता भी कहा जाता है। किसान इस धरती का सीना चीरकर हमें अन्न उगाता है जरा सोचिये इस अन्न को उगाने वाली मृदा की उर्वरकता शक्ति निरंतर कम होती जाये तो क्या होगा? पूरा देश ही नहीं पूरे विश्व में भूखा मरी की नोबत आ सकती है। मृदा सरंक्षरण व उर्वरकता शक्ति को बनाये रखने के लिये 5 दिसंबर को पूरी दुनियां में मृदा दिवस मनाते है।

इसके लिये विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें लोगों को मृदा के महत्व के बारे में अवगत कराया जाता है किस प्रकार हम मृदा के कटाव की स्थिति की प्रक्रिया को रोक सकते हैं ताकि हमारा वातावरण प्रदूषित होने से बच सकें। इस दिन मिट्टी संरक्षण के क्षेत्र में कार्य करने वाले जितने भी संगठन और प्रतिनिधि हैं वह यहां पर सम्मिलित होते हैं और अपनी विचारधारा यहां पर रखते हैं ताकि आम जनता को जागरूक किया जा सके अब आपके मन मे सवाल आएगा विश्व मृदा दिवस क्यों मनाया जाता है? World Soil Day का इतिहास, कब से हुई इसकी शुरुआत? क्या है इस साल विश्व मृदा दिवस का थीम और मृदा दिवस मनाने का उद्देश्य और महत्व क्या है आज के लेख में हम इसकी चर्चा विस्तार से करेंगे।

Advertisements

विश्व मृदा दिवस क्यों मनाया जाता है?

विश्व मृदा दिवस खाद्य और कृषि संगठन के द्वारा पार्टी जनसंख्या के कारण जिस प्रकार मिट्टी का कटाव हो रहा है इसके अलावा मनुष्य के कुछ अनैतिक कामों के कारण मिट्टी दिन प्रतिदिन प्रदूषित हो रही है जिससे आसपास का वातावरण भी प्रदूषित हो रहा है सबसे महत्वपूर्ण बातें की मिट्टी के अंदर कई जंतुओं का निवास स्थान होता है ऐसे में मिट्टी अगर प्रदूषित रहेगी तो जी जंतुओं का जीवन खतरे में पड़ जाएगा इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए विश्व दिवस मनाया जाता है इसके अलावा थाईलैंड के राजा स्वर्गीय राजा ‘एच.एम भूमिबोल अदुल्यादेज‘ का जन्मदिन 5 दिसंबर को हुआ था उन्हें मिट्टी प्रेमी मां जाता है यही वजह है कि उनके जन्मदिन को भी याद करने के लिए विश्व मृदा दिवस मनाया जाता है I

विश्व मृदा दिवस कब मनाया जाता?

विश्व मृदा दिवस 5 दिसंबर को पूरे विश्व में एक जागरुकता अभियान के तहत मनाया जाता है। मृदा के कटाव व इसके संरक्षण हेतु मृदा दिवस (World Soil Day) मनाते है। विश्व की जनसंख्या निरंतर बढ़ रही है 2022 में विश्व की कुल जनसंख्या का आकड़ा 8 अरब हो गया है।आज के समय में मिट्टी की जैविकता की रक्षा करना बहुत ही आवश्यक है। किटनाशक के छिड़काव, रासायनिक खाद से मिट्टी का उपजाऊ पन निरंतर कम हो रहा है जिससे मिट्टी बंजर बन जाती है और उसमें कोई भी बनस्पति पनप नहीं पाती है इसके लिये किसानों को इसके बारें में पूरी जानकारी व जागरुकता होनी चाहिये। विश्व में मिट्टी को बचाने के लिये वैश्विक जागरुकता अभियान चलाने की आवश्यकता है इसके लिये सद्गुरु का मिट्टी बचाओं अभियान भी चलाया जा रहा है जिसे सेव सॉयल मूवमेंट के नाम से जानते हैं।

विश्व मृदा दिवस क्यों मनाया जाता है | World-Soil-Day-in-hindi

मृदा दिवस का महत्व और उद्देश्य

विश्व मृदा दिवस का उद्देश्य लोगों में मृदा के महत्व को उजागर करना है। जैसा कि आप जानते हैं कि मिट्टी में कई जीव जंतु रहते हैं ऐसे में अगर मिट्टी का क्षरण होगा तो मिट्टी में अनेकों प्रकार के रासायनिक तत्व सम्मिलित हो जाएंगे जिससे जमीन के नीचे रहने वाले जीव जंतु की मौत हो जाएगी इसीलिए लोगों को मिट्टी को प्रदूषित होने से बचाने के लिए International/World soil day दिवस मनाया जाता है I

विश्व मृदा दिवस का इतिहास

विश्व मृदा दिवस मनाने की शुरुआत 2013 में हुई थी जब संयुक्त राष्ट्र संघ में इस बात की घोषणा की गई कि अब 5 दिसंबर को पूरी दुनिया में विश्व मृदा दिवस मनाया जाएगा ताकि लोगों को मिट्टी संरक्षण के प्रति जागरूक किया जा सके इसके लिए एक संकल्प भी पारित किया गया। हालांकि 2002 में ही विश्व मृदा दिवस मनाने की सिफारिश की गई थी लेकिन 2013 में इसे सर्वसम्मति से मान्यता दी गई और तभी से विश्व मृदा दिवस मनाने की परंपरा शुरू हुई जो आज तक कायम है और आगे भी रहेगी I

विश्व मृदा दिवस क्या है?

विश्व मृदा दिवस पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मिलने वाला एक महत्वपूर्ण दिवस है इस दिन पूरे विश्वभर में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें मिट्टी संबंधित विज्ञानिक और विभिन्न प्रकार के मिट्टी के क्षेत्र में काम करने वाले संगठन और उनके प्रतिनिधि सम्मिलित होते हैं जहां पर इस बात की चर्चा होती है कि किस प्रकार हम अपने मिट्टी को प्रदूषित होने से बचा सकें और उसके लिए और भी क्या कार्य करने होंगे ताकि मिट्टी की गुणवत्ता को बचाया जा सकें इसके अलावा आम जनता को भी कैसे जागरूक किया जाए उसकी पूरी रूपरेखा यहां पर तैयार की जाती हैI

विश्व मृदा दिवस 2022 की थीम

खाद्य और कृषि संगठन (Food and Agriculture Organization) के निर्देशानुसार इस बार विश्व मृदा दिवस 2022 की थीम “मिट्टी: जहां भोजन शुरू होता है” (Soils: where food begins) निर्धारित किया गया है इसके अनुसार इस बार विश्व मृदा दिवस मनाया जाएगा प्रत्येक साल विश्व मृदा दिवस एक अलग थीम के साथ मनाई जाती है I

विश्व मृदा दिवस कैसे मनाया जाता है?

विश्व मृदा दिवस काफी हर्षोल्लास और उत्साह के साथ मनाया जाता है इस दिन विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें मिट्टी के चरण और कटावन को कैसे रोका जाए उसकी एक रूपरेखा यहां पर तैयार की जाती है इसके अलावा लोगों को मिट्टी शासन के प्रति जागरूक भी किया जाता है ताकि लोग मिट्टी के महत्व को समझ सके क्योंकि अगर इसी प्रकार मिट्टी का कटाव होता रहा तो इसके गंभीर परिणाम मानवता जाति को भुगतने पड़ेंगे इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए विश्व मृदा दिवस मनाया जाता है I

इन्हें भी पढ़ें-

FAQ

World Soil Day की शुरुआत कब हुई थी?

विश्व मृदा दिवस की शुरुआत 5 दिसंबर 2017 को हुई थी।

विश्व मृदा दिवस का उद्देश्य क्या था?

विश्व मृदा दिवस का उद्देश्य मिट्टी की सही गुणवत्ता और उसका सही इस्तेमाल के प्रति सभी को जागरूक करना I

विश्व मृदा दिवस कब मनाया जाता है?

विश्व मृदा दिवस 5 दिसंबर को पूरे विश्व भर में मनाया जाता हैI

Leave a Comment