Advertisements

मुलायम सिंह यादव का जीवन परिचय, निधन | Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi

कौन है मुलायम सिंह यादव? राजनीतिक सफर, निधन, जीवन परिचय, परिवार, नेटवर्थ, कुल-सम्पत्ति, राजनीतिक पार्टी (Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi, age, death, birth place, cast, family, net worth)

तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी के संस्थापक और अध्यक्ष भी थे।

समाजवादी पार्टी का नेतृत्व करते हुए मुलायम सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश में कई बार चुनाव जीते जिनमें से तीन बार वह स्वयं मुख्यमंत्री बने। मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इतना ही नहीं मुलायम सिंह ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में भी रक्षा मंत्री का पद संभाला था।

Advertisements

लंबी बीमारी के चलते 10 अक्टूबर 2022 को मुलायम सिंह यादव का 82 साल की उम्र में निधन हो गया।

तो आइए आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको मुलायम सिंह यादव के जीवन परिचय (Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi) के बारे में बताते हैं।

Mulayam-Singh-Yadav-Biography-in-hindi

विषय–सूची

मुलायम सिंह यादव की जीवनी (Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi)

मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी के संस्थापक और अध्यक्ष भी थे। राजनीति की दुनिया में मुलायम सिंह यादव को नेताजी के नाम से जाना जाता है। मुलायम सिंह यादव 22 नवंबर 1939 को उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई गांव में पैदा हुए थे।

मुलायम सिंह यादव के पिता का नाम सुघर सिंह यादव था जबकि उनकी माता का नाम मूर्ति देवी था। मुलायम सिंह यादव के चार भाई और एक बहन थी। अपने पांचों भाई बहन में मुलायम सिंह यादव दूसरे नंबर पर थे।

उनकी इकलौती बहन का नाम कमला देवी यादव है जबकि उनके चारों भाइयों का नाम रतन सिंह यादव, अभय राम यादव, शिवपाल सिंह यादव तथा राजपाल सिंह यादव है। मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई शिवपाल यादव भी एक राजनेता हैं इतना ही नहीं उनके चचेरे भाई रामगोपाल यादव भी एक राजनेता हैं।

वर्तमान समय में इनका पूरा परिवार राजनीति से जुड़ा हुआ है। इनके बेटे अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके हैं जबकि इनकी बड़ी बहू डिंपल यादव भी विधायक हैं। जबकि मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव भारतीय जनता पार्टी की सदस्य हैं।

पहलवानी से शुरू हुआ था राजनीति का सफर–

बचपन से ही मुलायम सिंह यादव को पहलवानी का शौक था। मुलायम सिंह यादव अपनी जवानी में पहलवानी लड़ा करते थे। लेकिन बहुत कम ही लोगों को यह पता है कि पहलवानी के कारण ही उनके राजनीतिक करियर की शुरुआत हुई थी।

कहा जाता है कि एक बार मैनपुरी में आयोजित पहलवानी प्रतियोगिता के दौरान उनकी मुलाकात नत्थू सिंह से हुई जो उस समय राजनीति में अपनी भूमिका निभा रहे थे। उन्हीं के संपर्क में आने के बाद मुलायम सिंह यादव के राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुई।

मुलायम सिंह यादव नत्थू सिंह को अपना राजनीतिक गुरु भी मानते थे। नाथू सिंह के सहयोग से ही मुलायम सिंह यादव पहली बार जसवंत नगर से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके थे और जीते भी थे।

मुलायम सिंह यादव ने अपने जीवन में पहले पहलवानी की फिर शिक्षण कार्यों में लिप्त हुए और बाद में इनके राजनीतिक सफर की शुरुआत हुई।

मुलायम सिंह यादव का जीवन परिचय (Who is Mulayam Singh Yadav bio, age, caste Education, family, father, mother name, networth)

पूरा नाम (Full Name)श्री मुलायम सिंह यादव
प्रसिद्ध नाम (Nick Name)नेता जी
पद एव प्रसिद्धिभूतपूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश
समाजवादी पार्टी के संस्थापक और अध्यक्ष
जन्म (Date of Birth)22 नवम्बर 1939
जन्म स्थान (Place of Birth)सैफई गाँव, इटावा (उत्तर प्रदेश)
उम्र (Age)82 वर्ष (2022)
निधन10 अक्टूबर 2022
गृहनगर (Hometown)इटावा, उत्तर प्रदेश
राष्ट्रीयता (Nationality)भारत
धर्म (Religion)हिंदू
जाति (Cast)यादव
शैक्षणिक योग्यताबी.ए. राजनीति शास्त्र (इटावा)
आगरा विश्वविद्यालय से एम.ए. राजनीति शास्त्र
राजनैतिक पार्टीसमाजवादी पार्टी
नेटवर्थ, कुल-सम्पत्ति (Net-worth)21 करोड़ रुपये

मुलायम सिंह यादव का परिवार, विवाह, पत्नी और बच्चे (Mulayam Singh Yadav Family Detail)

पिता का नामस्वं. सुघर सिंह यादव
माता का नाममूर्ति देवी
बहन का नामकमला देवी यादव
भाइयों के नामरतन सिंह यादव, अभय राम यादव,
शिवपाल सिंह यादव, राजपाल सिंह यादव
वैवाहिक स्थितिदो शादियां
विवाहपहला विवाह 1957 में
दूसरी शादी 2003 में
पत्नियों के नामपहली पत्नी मालती देवी
दूसरी पत्नी का नाम साधना गुप्ता
बच्चेंराजनेता – अखिलेश यादव
व्यवसायी- प्रतीक यादव

मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की थी। उनकी पहली पत्नी का नाम मालती देवी था। अखिलेश यादव मुलायम सिंह यादव और मालती देवी के बेटे हैं।

साल 1957 में 18 साल की उम्र में मुलायम सिंह यादव का पहला विवाह मालती देवी के साथ हुआ था। लेकिन 2003 में मुलायम सिंह यादव की पहली पत्नी मालती देवी की मौत हो गई थी।

पहली पत्नी मालती देवी की मृत्यु के बाद मुलायम सिंह यादव ने उसी साल 2003 में दूसरी शादी कर ली। उनकी दूसरी पत्नी का नाम साधना गुप्ता था जिनकी 62 साल की उम्र में लंबी बीमारी के चलते मृत्यु हो गई। साधना गुप्ता एक तलाकशुदा औरत थी जिनका एक बेटा भी था जिसका नाम प्रतीक यादव है। प्रतीक यादव ज्यादा चर्चा में नहीं रहते क्योंकि वह एक व्यवसाई हैं और उनका राजनीति से कोई लेना देना नहीं लेकिन उनकी पत्नी अपर्णा यादव इस समय भारतीय जनता पार्टी की सदस्य हैं।

मुलायम सिंह यादव की शिक्षा –

मुलायम सिंह यादव को अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव से सैफई से ही मिली थी। मुलायम सिंह यादव पढ़ाई में काफी रूचि रखते थे। उन्होंने इटावा में स्थित के.के. कॉलेज से राजनीति शास्त्र में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की थी। आगे चलकर इन्होंने राजनीति शास्त्र के अध्ययन के लिए आगरा विश्वविद्यालय में मास्टर आफ आर्ट्स मैं दाखिला ले लिया और यहीं से M.A. की डिग्री प्राप्त की।

M.A. की डिग्री प्राप्त करने के बाद मुलायम सिंह प्रशिक्षण के काम में लग गए। आगे चलकर इन्होंने मैनपुरी के करहल के जैन इंटर कॉलेज में प्रधानाध्यापक के तौर पर काम भी किया।

इन्हें भी जानें

मुलायम सिंह यादव का राजनीतिक सफर –

  • मुलायम सिंह यादव के राजनीतिक सफर की शुरुआत 1967 में हुई जब वह पहली बार जसवंतनगर से विधानसभा का चुनाव जीते और महज 28 साल की उम्र में विधायक बने।
  • साल 1974 में दोबारा मुलायम सिंह यादव जसवंत नगर से विधानसभा के सीट जीत गए और दोबारा विधायक बने।
  • 1967 में राजनीतिक सफर की शुरूआत करने के बाद मुलायम सिंह यादव 1996 तक लगातार आठ बार विधानसभा के सदस्य बने।
  • 1977 में पहली बार मुलायम सिंह यादव ने मंत्री पद की कमान संभाली और जनता दल की कांग्रेस विरोधी सरकार में राज्य मंत्री बने।
  • 1980 में उन्हें जनता दल का अध्यक्ष बनाया गया तब उसका नाम लोकदल पार्टी था।
  • 1982 से लेकर 1987 तक एक बार फिर वह विधानसभा की सीट जीतकर विधायक के पद पर रहे।
  • साल 1987 में मुलायम सिंह यादव बीपी सिंह के संपर्क में आ गए और संयुक्त मोर्चे की स्थापना में सहयोग दिया।
  • 1989 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जनता दल सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी और वीपी सिंह के सहयोग से पहली बार मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। भारत में भी जनता दल की सरकार बनी है और वीपी सिंह प्रधानमंत्री बने।
  • लेकिन जब नवंबर 1990 में वीपी सिंह की सरकार गिर गई तो मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के लिए कांग्रेस का समर्थन ले लिया और चंद्रशेखर की जनता दल (समाजवादी) पार्टी में शामिल हो गए।
  • लेकिन 1991 में कांग्रेस ने मुलायम सिंह की सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया और उनकी सरकार गिर गई।
  • लोक दल पार्टी के विभाजन के बाद साल 1992 में मुलायम सिंह यादव ने अपनी समाजवादी पार्टी की स्थापना की।
  • इसी दौरान बहुजन समाजवादी पार्टी की प्रमुख मायावती जी के संपर्क में आ गए और बहुजन समाजवादी पार्टी के समर्थन में एक बार फिर से 1992 में उत्तर प्रदेश में पुनः सरकार बनाई और दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
  • 1996 में मुलायम सिंह यादव मैनपुरी की लोकसभा सीट से जीत गया और लोकसभा के सदस्य बने। इसी दौरान देश में संयुक्त मोर्चा की सरकार भी बनी और पहली बार मुलायम सिंह यादव को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने का मौका मिला। संयुक्त मोर्चे की सरकार में मुलायम सिंह यादव को रक्षा मंत्री पद की कमान संभालने के लिए दी गई।
  • साल 2003 में एक बार फिर मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री चुने गए। और यह तीसरी बार था जब मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
  • मुलायम सिंह यादव अपने राजनीतिक जीवन में लगातार सदन में ही रहे लेकिन साल 2012 में बिगड़ती तबीयत के कारण समाजवादी पार्टी की बड़ी जीत के साथ ही उन्होंने पार्टी का पूरा कार्यभार अपने बेटे अखिलेश यादव पर डाल दिया।
  • इस प्रकार नेताजी कहे जाने वाले मुलायम सिंह यादव तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और एक बार देश के रक्षा मंत्री रह चुके थे।

राजनीति से जुड़ा हुआ है मुलायम सिंह यादव का पूरा कुनबा –

मुलायम सिंह यादव का पूरा परिवार राजनीति से जुड़ा हुआ है। उनके बड़े बेटे अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके हैं। उनका परिवार देश का सबसे बड़ा सियासी परिवार है उनकी बड़ी बहू डिंपल यादव भी राजनीति से जुड़ी हुई है।

हालांकि इन के छोटे बेटे प्रतीक यादव एक व्यवसाई हैं उनका राजनीति से कोई संबंध नहीं जबकि उनकी पत्नी अपर्णा यादव भारतीय जनता पार्टी से संबंध रखती हैं और बीजेपी की ही सदस्य हैं। इतना ही नहीं उनके छोटे भाई शिवपाल यादव भी राजनीति के बहुत बड़े खिलाड़ी हैं।

Homepage Follow us on Google News

FAQ

मुलायम सिंह यादव कहां के रहने वाले हैं।

सैफई गाँव, इटावा (उत्तर प्रदेश)

मुलायम सिंह यादव का निधन कब हुआ?

मुलायम सिंह जी का निधन 10 अक्टूबर 2022 को मेदांता अस्पताल, गुरुग्राम में सुबह 8.15 पर हुआ।

उनकी माता का नाम क्या है?

मूर्ति देवी

मुलायम सिंह यादव की पहली पत्नि का नाम क्या था?

मालती देवी

मुलायम सिंह यादव कितनी बार मुख्यमंत्री पद पर रहें।

वह तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पर रह चुके हैं जिसमें पहली बार 1989, 1993 व 2003 में मुख्यमंत्री पद प्राप्त किया।

मुलायम सिंह यादव की कितनी शादी की थी?

पहला विवाह 1957 में मालती देवी से, दूसरी शादी 2003 में साधना गुप्ता से विवाह किया।

मुलायम सिंह यादव कब पैदा हुए थे?

मुलायम सिंह 22 नवंबर 1939 को उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई गांव में पैदा हुए थे।

Leave a Comment