Advertisements

कब और कैसे हुई थी हॉकी विश्व कप की शुरुआत? हॉकी विश्व कप का इतिहास और इससे जुड़े रोचक तथ्य | Hockey World Cup History and Facts in Hindi

Hockey World Cup 2023, Hockey World Cup History and Facts in Hindi (हॉकी विश्व कप का इतिहास और इससे जुड़े रोचक तथ्य)

Hockey World Cup 2023: भले ही भारत में किसी भी खेल को कानूनन राष्ट्रीय खेल का दर्जा नहीं दिया गया है, लेकिन फिर भी हॉकी खेल को भारत और दुनिया भर में भारत के राष्ट्रीय खेल के रूप में जाना जाता है।

शुरुआती दौर में ओलंपिक खेलों में हो हॉकी को लेकर बेहतरीन प्रदर्शन के कारण दुनिया भर के लोग इसे भारत का राष्ट्रीय खेल समझने लगे और तभी से भारत के लोग भी हॉकी को अपना राष्ट्रीय खेल मानने लगे।

Advertisements

1971 के पहले विश्व में हॉकी के प्रदर्शन का सबसे बड़ा मंच केवल ओलंपिक गेम्स ही था। लेकिन साल 1971 में जब हॉकी वर्ल्ड कप की शुरुआत हुई तो इस खेल को एक नई दिशा मिली।

भारत में एक बार फिर से हॉकी विश्व कप के 15 वें संस्करण की शुरुआत हो चुकी है। 15 वें हॉकी विश्व कप की मेजबानी भारत कर रहा है जिसकी शुरुआत 13 जनवरी 2023 को ही हो चुकी है। 29 जनवरी 2023 को भारत में आयोजित इस हॉकी विश्व कप का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा।

क्या आपको पता है कि हॉकी विश्व कप की शुरुआत कैसे हुई? हॉकी विश्व कप का इतिहास क्या है? (Hockey World Cup History In Hindi)

अगर नहीं पता तो कोई बात नहीं क्योंकि आज इस आर्टिकल में हम आपको हॉकी विश्वकप का इतिहास और इससे जुड़े हुए रोचक तथ्य (Hockey World Cup History and Facts In Hindi) के बारे में बताने वाले हैं।

हॉकी विश्व कप का इतिहास (Hockey World Cup History In Hindi)

हॉकी विश्व कप की शुरुआत साल 1971 में हुई थी हालांकि इससे पहले ओलंपिक गेम ही हॉकी के लिए सबसे बड़ा मंच था। पहले हॉकी विश्वकप की मेजबानी स्पेन ने की थी।

1971 के पहले ओलंपिक खेलों में हॉकी को लेकर एशियाई टीमों का जबरदस्त दबदबा रहता था जिसमें मुख्य रूप से भारत और पाकिस्तान शामिल हैं। लेकिन साल 1970 के करीब ओलंपिक खेलों में हॉकी को लेकर एशियाई देशों की पकड़ काफ़ी कमज़ोर हो गई।

ऐसा माना जाता है कि पाकिस्तान के एयर मार्शल नूर खान ने ही पहली बार हॉकी विश्वकप के आयोजन का सुझाव दिया था। पाकिस्तान के एयर मार्शल नूर खान ने यह सुझाव हॉकी पत्रिका के एडिटर पैट्रिक को दिया था जिन्होंने 1969 में अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (FIH) के सामने यह प्रस्ताव रखा।

परिणाम स्वरूप 26 अक्टूबर 1969 को अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने उनके इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया और 12 अप्रैल 1970 को परिषद की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि साल 1971 में पहली बार हॉकी विश्वकप का आयोजन पाकिस्तान में किया जाएगा।

Hockey-World-Cup-History-and-Facts-in-Hindi

भारत-पाक युद्ध के कारण बदल गया मेजबान–

साल 1971 में एक ओर जहां FIH द्वारा पाकिस्तान में पहले हॉकी विश्वकप के आयोजन का निर्णय लिया गया तो वहीं दूसरी ओर दोनों देश युद्ध की आग में झुलस रहे थे।

दरअसल उस समय बांग्लादेश मुक्ति अभियान चल रहा था। 1971 के पहले बांग्लादेश भी पाकिस्तान का ही एक हिस्सा था जिसने भारत की मदद से अपना एक नया वजूद बनाया।

बांग्लादेश मुक्ति अभियान के चलते भारत और पाकिस्तान साल 1971 में आमने-सामने आ गए थे और दोनों के बीच युद्ध चल रहा था हालांकि इस बात की जानकारी अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के पास नहीं थी।

युद्ध के चलते पाकिस्तानी हॉकी प्लेयर्स और पाकिस्तानी लोगों ने पहले हॉकी विश्व कप में भारत का विरोध भी किया था।

स्पेन ने की थी पहले हॉकी विश्व कप की मेजबानी –

भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध के चलते हुए अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने पहले हॉकी विश्व कप का मेजबान बदल दिया था। परिणाम स्वरूप स्पेन को पाकिस्तान की जगह पहले हाकी विश्वकप की मेजबानी का मौका मिला और पहली बार की विश्व कप 1971 में स्पेन में आयोजित हुआ।

हॉकी विश्वकप से जुड़े रोचक तथ्य (Hockey World Cup History and Facts in Hindi)

  • हॉकी विश्व कप की शुरुआत साल 1971 में हुई थी और यह पहली बार स्पेन में आयोजित किया गया था।
  • पहले हॉकी विश्व कप की मेजबानी पाकिस्तान करने वाला था लेकिन भारत-पाक युद्ध के चलते मेजबानी स्पेन को दे दी गई।
  • पाकिस्तान को हाकी विश्व कप की सबसे सफल टीम माना जाता है, क्योंकि इसने अब तक सबसे ज्यादा हॉकी विश्व कप में का खिताब अपने नाम किया है।
  • पाकिस्तान ने अब तक सबसे ज्यादा 4 बार हॉकी विश्वकप का खिताब जीता है। जबकि भारत ने केवल एक बार यह खिताब अपने नाम किया है।
  • अब तक हॉकी विश्व कप के कुल 15 संस्करण आयोजित हो चुके हैं जिनमें से चार खिताब पाकिस्तान ने जीते जबकि नीदरलैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों टीम में तीन बार हॉकी वर्ल्ड कप चैंपियन रही है।
  • भारत और बेल्जियम ने केवल एक बार हॉकी विश्वकप का खिताब जीता है।
  • भारत ने साल 1975 में अजीत सिंह की कप्तानी में एक मात्र हॉकी विश्वकप का खिताब अपने नाम किया था हालांकि इसके बाद भारतीय टीम सेमीफाइनल में भी पहुंचने में नाकाम रही।
  • भारत के राउरकेला में हॉकी विश्व कप के लिए एक बहुत बड़ा स्टेडियम बनाया गया है जिसका नाम है बिरसा मुंडा स्टेडियम।
  • बिरसा मुंडा स्टेडियम विश्व में हॉकी का सबसे बड़ा स्टेडियम है। इस स्टेडियम में 225 कमरे का वर्ल्ड कप विलेज बनाया गया है जिसमें 400 से अधिक खिलाड़ी, कोच और खेल अधिकारी रह सकते हैं।
  • भारत ने अब तक कुल 4 बार हॉकी विश्व कप की मेजबानी की है। इससे पहले भारत 1982 में मुंबई में, साल 2010 में नई दिल्ली जबकि साल 2018 में भुनेश्वर में हॉकी विश्व कप की मेजबानी कर चुका है। और अब साल 2023 में चौथी बार भुवनेश्वर और राउरकेला में हॉकी विश्वकप की मेजबानी कर रहा है।
  • साल 2023 का हॉकी वर्ल्ड कप भारत के भुनेश्वर और राउरकेला में आयोजित किया गया है। यह पहली बार है कि जब दो शहरों में हॉकीविश्वकप का आयोजन हुआ है।
  • भारत ने लगातार हॉकी की विश्वकप के दो संस्करणों की मेजबानी कर रहा है। साल 2018 में भारत ने ही हॉकी विश्व कप की मेजबानी की थी जिसके बाद अब 2023 में एक बार फिर भारत हॉकी विश्व कप की मेजबानी कर रहा है।
  • भारत एकमात्र ऐसा देश है जो हॉकी विश्वकप की लगातार दो बार मेजबानी कर रहा है।
  • हॉकी को भारत का राष्ट्रीय खेल माना जाता है हालांकि इसे आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय खेल की मान्यता नहीं प्राप्त है।
  • भारत के मशहूर हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद जी को हॉकी का जादूगर कहा जाता है।
  • एक हॉकी विश्व कप में सबसे ज्यादा गोल करने का रिकॉर्ड पाकिस्तान की हॉकी टीम के पास है जिस ने साल 2010 में मुंबई में आयोजित हॉकी विश्व कप में कुल 38 गोल किए थे।
  • साल 1975 के पहले हर 2 साल में हॉकी विश्व कप का आयोजन किया जाता था लेकिन 1975 के बाद इसे संशोधित करके हर 4 साल में एक बार आयोजित किया जाने लगा।
  • साल 2018 में हॉकी विश्वकप का आयोजन भारत की उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर में किया गया था जिसके बाद इसके अगले संस्करण का आयोजन साल 2022 में होने वाला था।
  • कोविड-19 संक्रमण के चलते हॉकी विश्व कप का 15 वा संस्करण 2022 में आयोजित ना होकर 2023 की जनवरी में हो रहा है।

Hockey World Cup 2023: हॉकी विश्व कप 2023 का मेजबान है, भारत –

इस बार भारत लगातार दूसरी बार हॉकी विश्व कप की मेजबानी कर रहा है। भारत ने 2023 के हॉकी विश्व कप मेजबानी के पहले साल 2018 में भी हॉकी विश्व कप की मेजबानी की थी।

भारत में हॉकी विश्व कप (2023) के 15 वें संस्करण की शुरुआत 13 जनवरी 2023 से ही हो गई है जिस का फाइनल मुकाबला 29 जनवरी 2023 को खेला जाना है।

इस बार भारत में आयोजित हॉकी विश्व कप 2023 में कुल 16 देशों की टीमों ने हिस्सा लिया है जिनके बीच कुल 44 मुकाबले खेले जाने हैं।

ऐसा पहली बार है जब भारत के 2 शहरों में Hockey World Cup 2023 का आयोजन किया जा रहा है। हॉकी विश्व कप 2023 के मुकाबले राउरकेला और भुवनेश्वर दोनों शहरों में खेले जाएंगे।

तो दोस्तों आज इस आर्टिकल के जरिए हमने आपको हॉकी विश्व कप का इतिहास और इससे जुड़े रोचक (Hockey World Cup History And Facts In Hindi) के बारे में बताया। उम्मीद करते हैं कि यह आर्टिकल आपको बेहद पसंद आया होगा।

Homepage Follow us on Google News

इन्हें भी पढ़ें-

Leave a Comment