Advertisements

आईएएस सृष्टि जयंत देशमुख का जीवन परिचय | IAS Srushti Jayant Deshmukh Biography in Hindi

आईएएस सृष्टि जयंत देशमुख, शिक्षा, जाति, धर्म, जन्मस्थान, आईएएस, यूपीएससी में रैंक (Srushti Jayant Deshmukh biography in Hindi, IAS UPSC rank, family)

यूपीएससी की परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है। IAS के मुकाम तक पहुंचना लगभग हर परीक्षार्थी का सपना होता है लेकिन लाखों परीक्षार्थियों में केवल कुछ चुनिंदा लोग ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं।

आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको भारत की एक ऐसी ही IAS अधिकारी के बारे में बताने वाले हैं जो सोशल मीडिया पर अक्सर अपने बेहतरीन कामों की बदौलत सुर्खियां बटोरती रहती हैं। इस आर्टिकल में हम आपको सृष्टि जयंत देशमुख के बारे में बताएंगे।

Advertisements

आईएएस सृष्टि जयंत देशमुख का जीवन परिचय, बायोग्राफी, बायोडाटा (Who is Srushti Jayant Deshmukh bio, age, caste Education, family, father, mother name)

नाम (Full Name)सृष्टि देशमुख
निक नेमसृष्टि
पद एव प्रसिद्धिआईएएस
जन्म (Date of Birth)28 मार्च 1995
जन्म स्थान (Place of Birth)कस्तूरबा नगर, भोपाल, मध्य प्रदेश, इंडिया
उम्र (Age)27 वर्ष (2022)
ऊंचाई (Height)5 Ft 6 इंच (168 सेंटीमीटर)
राष्ट्रीयता (Nationality)भारत
धर्म (Religion)हिंदू
जाति (Cast)देशस्था ब्राह्मण
पेशा (Profession)आईएएस अधिकारी
UPSC Batch2018
UPSC रैंक5th Rank
पोस्टिंगमध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा
स्कूली शिक्षादिल्ली पब्लिक स्कूल, पटना
पसंदीदा क्रिकेट खिलाड़ीमहेंद्र सिंह धोनी और डेविड वॉर्नर
आईपीएल टीम (IPL Team)मुंबई इंडियन
कोच का नाम (Coach)अजीत मिश्रा व संतोष कुमार
स्कूल (School)कॉर्मेल कॉन्वेंट स्कूल (BHEL) भोपाल
शिक्षा (Education Qualification)B.Tech स्नातक
कॉलेज (College)लक्ष्मी नारायण इंजियरिंग कॉलेज
पिता (Father Name)जयंत देशमुख
माता (Mother Name)सुनीता देशमुख
वैवाहिक स्थितिविवाहित
विवाह की तारीख23 अप्रैल 2022
पति का नामडॉ. नागार्जुन बी. गौड़ा (IAS)
IAS-Srushti-Jayant-Deshmukh-Biography-in-Hindi

IAS सृष्टि जयंत देशमुख का जीवन परिचय (IAS Srushti Jayant Deshmukh Biography in Hindi)

हमारे देश की आईएस ऑफिसर सृष्टि जयंत देशमुख का जन्म कस्तूरबा नगर , भोपाल , मध्यप्रदेश मे 28 मार्च 1995 को  हुआ था। वर्तमान समय में इनकी उम्र 27 वर्ष है।

सृष्टि जयंत देशमुख एक ब्राह्मण परिवार से हैं। इन के पिता जयंत देशमुख पेशे से एक कंपनी में इंजीनियर है और माता सुनीता देशमुख प्राइमरी स्कूल में शिक्षक के तौर पर काम करती है। इसके अलावा इनके परिवार में इनका एक छोटा भाई भी है।

आईएएस बनकर हमारे देश की महिलाओं को आर्थिक और सामाजिक उन्नति में मदद करना इनका बचपन से सपना रहा है। माता-पिता के सहयोग के साथ-साथ सृष्टि जयंत देशमुख बचपन से ही अध्ययन में काफी संघर्ष और मेहनत करती रही। इसी मेहनत और लगन का नतीज़ा है कि इन्होंने IAS परीक्षा 2018 में पूरे भारत में पांचवां रैंक हासिल किया था।

सृष्टि जयंत देशमुख ने अपने बौद्धिक संघर्ष से भारत की सबसे कठिन परीक्षा महज 23 साल की उम्र में पास कर ली थी। इस समय श्रुति जयंत देशमुख मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा में उपखंड अधिकारी पद पर है ।

सृष्टि जयंत देशमुख अपने काम को लेकर अक्सर सोशल मीडिया पर बनी रहती है। और ख़ासकर इंस्टाग्राम अकाउंट पर ज्यादा से ज्यादा एक्टिव रहती है। सृष्टि जयंत देशमुख अक्सर अपने निजी जिंदगी से जुड़ी जानकारियां शेयर करती हैं। इस लिए लोग उनसे Inspiration लेते हैं और पसन्द करते हैं।

आज हम इस आर्टिकल के जरिए आपको आईएएस ऑफिसर सृष्टि जयंत देशमुख के जीवन परिचय IAS Srushti Jayant Deshmukh Biography in Hindi के साथ साथ उनके कठिन संघर्ष और सफलता के बारे में बताएंगे।

आइये इन्हें भी जानें-

सृष्टि जयंत देशमुख की प्रारंभिक  शिक्षा

सृष्टि जयंत देशमुख शुरुआती दिनों से ही पढ़ने में बहुत मेहनती लड़की थी। इनकी प्रारंभिक स्कूल की शिक्षा भोपाल के कारमेल कान्वेंट स्कूल से पूरी हुई है। सृष्टि जयंत देशमुख ने 8 CGPA  मार्क्स दसवीं की परीक्षा में प्राप्त किया था और 93.4% अंको के साथ 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की। अच्छे मार्क्स के साथ इन्होंने आगे कि शिक्षा के लिए भोपाल के लक्ष्मी नारायण कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी में दाखिला लिया था।

बचपन से ही सृष्टि जयंत देशमुख का सपना आईएएस ऑफिसर बनने का था फिर भी इन्होंने भोपाल के इस कॉलेज से बीटेक की पढ़ाई केमिकल इंजीनियरिंग से किया था। इन्होंने सोचा था कि अगर ये आईएएस ऑफिसर नहीं बन पाई तो उस समय  इंजीनियरिंग की पढ़ाई इनको काम आएगी।

सृष्टि जयंत देशमुख का संघर्ष –

सृष्टि जयंत देशमुख ने UPSC की तैयारी का निर्णय इंजीनियरिंग की पढ़ाई के समय से ही लिया था और वैकल्पिक विषय के रूप में समाजशास्त्र को चुना था।

सृष्टि जयंत देशमुख घर पर ही रहकर आठ से 9 घंटा पढ़ाई करते हुए यूपीएससी की तैयारी घर पर ही करती थी। यूपीएससी की तैयारी के लिए खासकर इंटरनेट से उन्होंने कई सारी जानकारियां भी निकाली और अपनी तैयारी शुरु कर दी।

2017 में इन्होंने अच्छे मार्क्स के साथ प्रीलिम्स एग्जाम में क्वालिफाई किया और मेंस के योग्य हुईं। अच्छे मार्क्स से उत्तीण होने के बाद इन्होंने दृष्टि आईएएस कोचिंग में दाखिला लेकर इंटरव्यू की तैयारी किया। पूर्व आईएएस ऑफिसर विकास दिव्यकीर्ति इस कोचिंग सेंटर में पढ़ाते हैं।

सृष्टि जयंत देशमुख ने यूपीएससी का इंटरव्यू साल 2018 में दिया था। इस इंटरव्यू में इन्हें बहुत ही अच्छा स्कोर मिला और आखिरकार सृष्टि जयंत देशमुख ने यूपीएससी परीक्षा में 2025 मार्क्स में 1068 मार्क्स प्राप्त किया।

इस दौरान सृष्टि जयंत देशमुख पांचवा रैंक पाने वाली पहली महिला अभ्यार्थी बनी।

सृष्टि जयंत देशमुख ने यूपीएससी की तैयारी के संघर्ष के साथ-साथ अपने परिवार को भी श्रेय दिया है उनका कहना था कि मेरा परिश्रम मेरे परिवार के वजह से सफल हुआ है उन्होंने मेरा बराबर सपोर्ट और हर कदम पर मेरा साथ दिया है।

सृष्टि जयंत देशमुख का वैवाहिक जीवन

सृष्टि जयंत देशमुख की शादी 23 अप्रैल 2022 में आईएस डॉ नागार्जुन बी गोडवा से  हुआ था इनकी मुलाकात यूपीएससी की तैयारी के समय से ही जारी हुई थी धीरे-धीरे इनकी मुलाकात प्यार में बदल गई। मां-बाप की मंजूरी लेकर उन्होंने शादी का निर्णय लिया और फिर 23 अप्रैल 2022 में शादी किया। और दोनों अपने वैवाहिक जीवन में एक दूसरे से काफी खुश भी हैं, दोनों कपल को सभी का खूब सारा प्यार मिला।

आईएएस ऑफिसर सृष्टि जयंत देशमुख की पोस्टिंग-

आईएएस ऑफिसर सृष्टि जयंत देशमुख ने 2018 की यूपीएससी परीक्षा में भारत वर्ष में पांचवा रैंक हासिल करते हुए IAS पद को हासिल किया है। सृष्टि जयंत देशमुख ने ग्रामीण लोगों के चुनाव में भोपाल के निर्वाचन अधिकारियों में भाग लिया था। इसके बाद इन्होंने कई गांव में जाकर लोगों को चुनाव का मतलब समझाया था और इनके प्रेरणा का असर कई सारे लोगों पर हुआ और कई सारे लोग चुनाव में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया। इसी तरह यह महिलाओं का एक प्रेरणा स्रोत बन गई महिलाओं के मन में उन क लिए और भी आदर सत्कार पड़ गया।

 सृष्टि जयंत देशमुख की पहली पोस्टिंग असिस्टेंट कलेक्टर के रूप में मध्यप्रदेश के डिंडोली में हुई थी। इस समय इनका पोस्ट वहां से ट्रांसफर होकर उपखंड अधिकारी के रुप में मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा में हुआ है।

Homepage Follow us on Google News

आइये इन्हें भी जाने-

Leave a Comment