Advertisements

महान फुटबॉलर पेले का जीवन परिचय, निधन | Great Pele Footballer Biography in hindi

आइये जाने ब्राजील के महान फुटबॉलर पेले का जीवन परिचय, King of Football महान फुटबॉलर पेले का निधन(Death of Pele News, brazilian pele footballer biography in hindi, three time FIFA World champion Pelé biography hindi)

पेले ब्राज़ील के जानें मानें और दुनियां के सबसे बेहतरीन और महान फुटबॉल खिलाड़ियों में से एक थे जिन्हें अपने दौर में King Of Football के नाम से जाना जाता था। आज भी दुनियां भर के लोग उन्हें फुटबॉल का शहंशाह मानते हैं। इतना ही नहीं फुटबॉल के इस महान खिलाडी को दुनिया में ब्लैक डायमंड (Black Diamond) और ब्लैक पर्ल के नाम से भी जाना जाता है।

पेले अपने जमाने के इतने बेहतरीन फुटबॉल खिलाड़ी थे कि उन्हें आज भी खेल विशेषज्ञों द्वारा फुटबॉल का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी माना जाता है। फुटबॉल की दुनिया में पेले ने कई सारे रिकॉर्ड्स दर्ज किए और फुटबॉल के इतिहास में सदा के लिए अपना नाम अमर कर दिया है।

Advertisements

पेले दुनियां के पहले और एक मात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने फुटबॉल करियर में 3 बार फुटबॉल विश्व कप (FIFA World Cup) जीतने का खिताब हासिल किया है।

अपने करियर में फुटबॉल के इस महान खिलाड़ी ने कुल 1363 फुटबॉल मैच खेले और 1281 गोल किए। पेले ने दुनियां भर के लोगों को अपनी खेल प्रतिभा प्रभावित किया जिससे लोगों का फ़ुटबॉल की ओर झुकाव बढ़ा। आज के समय में फुटबॉल के कई बेहतरीन खिलाड़ी भी उन्हें अपना प्रेरणा स्रोत मानते हैं।

पेले कोलोन कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी से जूझ रहे थे जिसके कारण उन्हें बार बार अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको फुटबॉल किंग पेले का जीवन परिचय (Pele Biography in Hindi)  बताएंगे ताकि आपको पता चल सके कि उन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी क्यों कहा जाता है।

ब्राजील के महान फुटबॉल खिलाड़ी पेले का निधन

फुटबॉल की दुनिया का राजा अब इस दुनिया को अलविदा कह चुका है। 82 साल की उम्र में ब्राजील के स्टार फुटबॉल खिलाड़ी और फुटबॉल के जादूगर कहे जाने वाले महान पेले अब इस दुनिया में नहीं रहे। 30 दिसंबर 2022 को अस्पताल में पेले का निधन हो गया।

ब्राजील के दिग्गज फुटबॉल खिलाड़ी पेले कोलोन कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे जिसका पता साल 2021 में चला था। 30 2022 को उनकी मृत्यु से पहले वह लगभग 1 महीने से अस्पताल में भर्ती थे।

पेले ब्राजील के एक मात्र ऐसे महान खिलाड़ी थे जिनके नाम तीन बार फीफा विश्व कप जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है। पहले ने साल 1958 में 1962 और 1970 में ब्राजील को फीफा विश्वकप विजेता बनाया था। पेले की मृत्यु ब्राजील और फुटबॉल की दुनिया के लिए एक अपूरणीय क्षति है।

End of Life Care में भर्ती थे दिग्गज फुटबॉल खिलाड़ी पेले (Pele News in hindi)

हाल ही में 30 नवंबर 2022 को पेले की तबीयत अचानक बिगड़ गई थी जिसके बाद उन्हें अल्बर्ट आइंस्टाइन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन अब ब्राजील के इस दिग्गज फुटबाल खिलाड़ी की हालत काफ़ी गंभीर है।

कोलोन कैंसर से जूझ रहे पेले के ऊपर अब कीमोथेरेपी का भी कोई असर नहीं हो रहा और उनके कुछ अंगों ने काम करना भी बंद कर दिया था इस कारण उन्हें एंड आफ लाइफ केयर में भर्ती कराया गया था जो अस्पताल की इमरजेंसी यूनिट का ही एक हिस्सा होता है जहां अंतिम समय के दौरान रोगी की विशेष देखभाल की जाती है और उसे सपोर्ट सिस्टम पर रखा जाता है।

पेले की बिगड़ती हालत फुटबॉल जगत के लिए एक चिंता का विषय है। फुटबॉल और खेल जगत के कई दिग्गज उनके स्वस्थ होने की कामना कर रहे थे।

महान फुटबॉलर पेले  का जीवन परिचय | footballer pele biography in hindi

पेले का शुरुआती जीवन–

पेले 23 अक्टूबर 1940 को ब्राजील के ट्रेस कोरकोएस में पैदा हुए थे। पेले के पिता भी एक फुटबॉल खिलाड़ी थे जिनका नाम डॉनडीनहो था। पेले की माता का नाम डोना सेलेस्टी अरांटेस था। इनका पूरा नाम एडिसन “एडसन” अरांटिस डो नैसिमेंटो है।  

बचपन में पेले को डीको उपनाम (Nick Name) से बुलाया जाता था।

बचपन से ही पेले को फुटबॉल खेल में बेहद रूचि थी। फुटबॉल खेलने की प्रेरणा पेले को अपने पिता से ही मिली थी। बचपन में पेले वास्को डा गामा ‘बिले’ को अपना पसंदीदा और आदर्श खिलाड़ी मानते थे। स्कूल के दौरान उनके दोस्तों ने उन्हें उनके पसंदीदा खिलाड़ी बिले के तर्ज पर पेले नाम से बुलाने लगे और तभी से इनका नाम पेले के रूप में प्रचलित हो गया।

पेले बचपन से ही बहुत प्रतिभाशाली फुटबॉल खिलाड़ी थे। फुटबॉल को लेकर पेले के अंदर एक अलग ही जुनून रहता था। वह पूरी मेहनत और लगन के साथ खेलते थे और हर मैच में गोल करने की प्रतिभा रखते थे। उनकी इन्हीं प्रतिभाओं के चलते जीवन के शुरुआती दिनों में ही उन्हें ब्राजील की राष्ट्रीय टीम से फुटबॉल खेलने का मौका मिल गया और उन्होंने इस मौके का भरपूर फायदा भी उठाया तथा अपनी टीम को तीन बार FIFA विश्व विजेता का खिताब दिलवाया जो आज तक और किसी के पास नहीं है।

पेले का व्यक्तिगत और पारिवारिक जीवन–

पेले काफ़ी खुले और स्वतंत्र विचार के व्यक्ति हैं। उन्होंने अपने जीवन में 3 शादियां की। पेले की पहली पत्नी का नाम रोज़मेरी डोस रईस चोल्बी था। 1966 में उनका पहला विवाह हुआ था जिससे उनकी 2 बेटियां पैदा हुईं लेकिन साल 1982 में उनकी पहली पत्नि का उनसे तलाक हो गया। उनकी दूसरी शादी अस्सिरिया लेमोस सेइक्सास से हुई जिसने दो जुड़वा बच्चों को जन्म दिया।

उनकी दूसरी शादी भी ज्यादा दिनों तक नहीं चली और वह अपनी दूसरी पत्नी से भी अलग हो गए। साल 2016 में उन्होंने मर्सिया ओकी के साथ अपनी तीसरी शादी की। अब आइए आपको उनके फुटबॉल करियर के बारे में बताते है।

पेले ने ब्राजील के लिए किए हैं सबसे ज्यादा गोल –

पेले जिन्हें फुटबॉल किंग के नाम से भी जाना जाता है उन्होंने एक खिलाड़ी के तौर पर ब्राजील के लिए सर्वाधिक गोल किए हैं। इतना ही नहीं पेले ने FIFA World Cup 1958, 1962 और 1970 में ब्राजील को 3 बार विश्व विजेता बनाने में सबसे अहम भूमिका निभाई है।

पेले ने ब्राजील की राष्ट्रीय टीम के लिए कुल 92 मैचों में 77 गोल किए हैं जो अब तक ब्राजील के लिए एक खिलाड़ी का सर्वाधिक गोल है।

पेले का फुटबॉल करियर –

  • पेले ने अपने पेशेवर करियर की शुरुआत 1956 से की। जब उन्हें सेंटोस FC में शामिल किया गया।
  • पेले ने सितंबर 1956 में कोरिन्थिंस सेंटो आंद्रे के खिलाफ अपना पहला पेशेवर मैच खेलते हुए अपने पेशेवर करियर की शुरुआत की और इसी मैच के दौरान उन्होंने अपना पहला पेशेवर गोल भी दागा।
  • 1957 से उन्होंने अपनी टीम में अपनी जगह पक्की की और लीग में टॉप स्कोरर की जगह भी हासिल कर ली।
  • बेहतरीन प्रदर्शन के चलते छोटी उम्र में ही उन्हें ब्राजील की राष्ट्रीय टीम के लिए सिलेक्ट कर लिया गया।
  • जुलाई 1958 में पेले ने पहली बार ब्राजील के खेमे से अर्जेंटीना के खिलाफ़ अपना अंतरराष्ट्रीय मैच खेला। हालांकि इस मैच में ब्राजील को 2-1 से हार का सामना करना पड़ा लेकिन यह मैच पेले के लिए यादगार बन गया क्योंकि इसी मैच में उन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय गोल किया।
  • जुलाई 1958 अर्जेंटीना के खिलाफ अपना पहला अंतरराष्ट्रीय गोल करके पेले अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खेल में गोल करने वाले दुनिया के सबसे युवा खिलाड़ी बन गए।
  • 1958 में पेले ब्राजील के फीफा वर्ल्ड कप टीम स्क्वाड में भी शामिल थे। पेले ने ब्राजील को अपना पहला फीफा वर्ल्ड कप जीतने में काफी योगदान दिया। उन्होंने क्वार्टर फाइनल सेमीफाइनल और फाइनल जैसे महत्वपूर्ण मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किया तथा कुल 4 मैचों में 6 गोल के साथ अपनी राष्ट्रीय टीम ब्राजील को फीफा वर्ल्ड कप 1958 का विजेता बनाया।
  • विश्व कप 1966 में भी पहले ब्राज़ील स्क्वाड का हिस्सा थे लेकिन पहले चरण के बाद ही उन्हें ब्राज़ील खेलने से बाहर निकाल दिया गया।
  • साल 1969 में मरकाना स्टेडियम में पेले ने वास्कोडिगामा के खिलाफ अपना 1000वां गोल पूरा किया।
  • फीफा विश्व कप 1970 पेले के लिए आखरी वर्ल्ड कप था। इस दौरान उन्होंने ब्राज़ील के खेमे से सारे मैच खेले और उन्हीं की बदौलत एक बार फिर ब्राज़ील ने वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया। इस वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में पेले प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट भी रहे।
  • 1992 में पेले को पारिस्थितिकि और पर्यावरण के लिए संयुक्त राष्ट्र में एंबेस्डर के रूप में नियुक्त किया गया।
  • 1995 में वह UNESCO में गुडविल एंबेस्टर भी बने।

पेले इस समय कोलोन कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। सितंबर 2021 में उन्होंने अपने कोलोन कैंसर का ऑपरेशन करवाया था जिसके बाद उन्हें कई बार कीमोथेरेपी का सहारा लेना पड़ा। कोलोन कैंसर जैसी गंभीर बीमारी की वजह से उनके हेल्थ में अक्सर उतार चढ़ाव होते रहते हैं। News Media रिपोर्ट्स के मुताबिक हाल ही में पेले को खराब तबीयत की वजह से अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

इन्हें भी पढ़ें-
> क्रिकेट का इतिहास व रोचक तथ्य (Interesting facts about cricket) 
> टी20 व वनडे क्रिकेट के नियम क्या हैं?
> आईपीएल क्या है? आइये जाने इसके इतिहास के बारे में पूरी जानकारी 
> आईपीएल (IPL) के बारें में 50 रोचक तथ्य
> कॉमनवेल्थ गेम्स का इतिहास एवं रोचक तथ्य
> थॉमस कप क्या है आइये जाने इसका इतिहास क्या है?

Leave a Comment