लवलीना बोरगोहेन का जीवन परिचय | Lovlina Borgohain Biography, Indian Boxer, Tokyo Olympic

लवलीना बोरगोहेन भारतीय मुक्केबाज का जीवन परिचय, उम्र lovlina borgohain olympics medals, Indian Boxer, Tokyo Olympic matches, Lovlina Borgohain Family education

आज के इस लेख में ऐसी भारतीय नारी के जीवन पर प्रकाश डालेंगे जिन्होंने बॉक्सिंग में भारत का नाम रोशन कर दिया। हाल ही में चल रहे टोक्यो ओलंपिक 2021 में लवलीना बोरगोहेन (Indian Boxer Lovlina Borgohain biography hindi) ने शानदार प्रदर्शन करते हुए सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। इससे पहले लोवलीना ने विश्व महिला चैंपियनशिप में 2 बार कांस्य पदक अपने नाम किया है और भारत देश को मुक्केबाजी में गौरवान्वित किया था। आज हम इनकी सफलता के पीछे इनके संघर्ष पर भी प्रकाश डालेंगे और जानेंगे की कैसे ये इतनी बड़ी बॉक्सर बनी हैं।

मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन का जीवन (Lovlina Borgohain Biography)

लवलीना बोरगोहेन का प्रारंभिक जीवन (Family and education)

भारतीय मुक्केबाज लवलीना बार्गोहेन की जन्मतिथी 2 अक्टूबर सन् 1997 की है। यह असम राज्य के शहर गोलाघाट में इनका बचपन बीता। इनके पिता का नाम टिकेन बोरगोहेन है जोकि एक छोटे सा व्यवसाय चलाते थे उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी फिर भी उन्होंने अपनी बेटी के सपने को पूरा करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। इनकी माता का नाम मामोनी बोर्गाेहेन है जोकि एक घरेलू महिला हैं। लवलीना बोर्गाेहेन ने अपनी शिक्षा बारापत्थर गर्ल्स हाई स्कूल जोकि गोलाघाट मे ही स्थित स्कूल से प्राप्त करी है।

लवलीना बोरगोहेन ने बॉक्सिंग कैरियर की शुरुआत अपनी बड़ी बहन से प्रेरित होकर की थी। लवलीना ने अपनी बॉक्सिंग की शुरुआत किक बॉक्सर से शुरू की थी जिसमे उनकी मदद उनकी बहन ने करी थी। बाद में उन्होंने अपने आपको किक बॉक्सिंग से अलग कर लिया और बॉक्सिंग में आ गई। क्योकि बॉक्सिंग में लवलीना को किक बॉक्सिंग के मुकाबले ज्यादा मौका मिलने की उम्मीद थी और वह जान गई थी बॉकि्ंसग में वह ज्यादा अच्छा कर सकती है।

लवलीना बोरगोहेन के बारे में जानकारी (Lovlina Borgohain Family, Education, birth place, height, weight, caste)

पूरा नाम (Full Name)लवलीना बोरगोहेन
पिता (Father Name)टीकेन बोर्गोहेन
माता (Mother Name)मामोनी बोर्गोहेन
जन्म (Date of Birth)2 अक्टूबर 1997
बहनें (Sibling)लीमा, लीना
जन्म स्थान (Birth Place)गोलाघाट, असम
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
स्कूल (School)बारापत्थर गर्ल्स हाई स्कूल
पेशा (Occupation)भारतीय मुक्केबाज (बॉक्सर)
धर्म (religion)हिन्दू (Hindu)
जाति (Caste)आसामी
कोच (Coach)पदुम बोरो, शिव सिंह 
नेटवर्थ (Net-Worth)1.5 (मिलियन डॉलर)
कद (लम्बाई)1.78 मीटर (5 फीट 10 इंच)
वजन (Weight)69 किग्रा

लवलीना बोरगोहेन मुक्केबाजी का शुरूआती प्रशिक्षण (Lovlina Borgohain boxing training )

लवलीना बोरगोहेन का बॉक्सिंग प्रशिक्षण तब शुरू हुआ जब लवलीना स्कूल में थी और स्कूल द्वारा कराए गए  Sports Authority of India में परीक्षण टेस्ट में उनके अंदर का बॉक्सिंग हुनर पोडम बोरो नाम के व्यक्ति ने बखूबी पहचाना। जोकि खुद एक बॉक्सिंग कोच थे उन्होंने लवलीना के हुनर की काफी प्रशंसा की थी इसके बाद 2012 में उन्होंने मुक्केबाजी कोच पोडम बोरों से प्रशिक्षण लेना शुरु कर दिया।

लवलीना ‘‘मेरी कोम’’ की अपना सच्ची मार्गदर्शक मानती थीं और उनसे ही अपना आर्दश मानती थी। इसके बाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण लेने के लिए पोडम बोरो ने लवलीना को शिव सिंह नामक महिला बॉक्सिंग कोच के पास भेजा ताकि उनके हुनर में कोई कमी न रह जाए। लवलीना नेे बॉक्सिंग कैरियर में आने वाली सभी चुनौतियों का सामना डटकर किया।

लवलीना बोर्गाेहैन का बॉक्सिंग कैरियर (boxing Career )

लवलीना ने अपने बॉक्सिंग कैरियर में प्रदुम बोरो से प्रशिक्षण लेते हुए कई सारी जूनियर और सीनियर लेवल की बॉक्सिंग कॉम्पटीशन मे हिस्सा लिया और शानदार प्रदर्शन करते हुए कई सारे स्वर्ण पदक भी अपने नाम किए और प्रदुम बोरो का और अपने परिवार का नाम रोशन किया।

इसके बाद लवलीना ने अपना इंटरनेशनल कैरियर की शुरुआत की और वर्ष 2017 में अपना सबसे पहला अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग कंपटीशन कजाकिस्तान में आयोजित Presidents Cup in Astana, Kazakhstan में खेला था।  इस कंपटीशन में लवलीना बोरगोहेन ने 75 Kg की category में भाग लिया था और कांस्य पदक अपने नाम किया था।

लवलीना बोरगोहैन के अवॉर्ड्स और उपलब्धियां (Awards and achievement)

लवलीना बोरगोहेन ने अपने जीवन कई सारी उपलब्धियां अपने नाम कि और देश का नाम रोशन किया।

1. लवलीना बोरगोहेन को अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है। ये किसी के लिए भी गर्व की बात है और वे 6th person बन गईं है असम की जिन्हें इस अवॉर्ड से नवाजा गया है।

2. वर्ष 2017 में आयोजित एशियाई मुक्केबाजी चौंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था जो कि वियतनाम में आयोजित हुआ।

3. वर्ष 2017 में ही आयोजित प्रेसिडेंट कप जोकि कजाकिस्तान में आयोजित हुआ था वहां पर इन्होंने कांस्य पदक अपने नाम किया था।

4. वर्ष 2018 में आयोजित उलानबटार कप जोकि मंगोलिया में आयोजित हुआ था उसमे इन्होंने रजत पदक अपने नाम किया था।

5. वर्ष 2018 में ही आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सिलेसियन चौंपियनशिप जोकि पोलैंड में आयोजित हुआ है उसमे कांस्य पदक अपने नाम किया था।

2021 के टोक्यो ओलंपिक में लवलीना बोरगोहेन का प्रदर्शन (Tokyo Olympic updates)

लवलीना बोरगोहेन ने क्वार्टरफाइनल मुकाबले में चीन की एक प्रतिद्वंदी ताईपे को हराकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर चुकी है। इस जीत के साथ लवलीना को कांस्य पदक तो अपने नाम कर है लिया है परन्तु हम सबकी मनोकामना यही रहेगी की लवलीना आगे भी अच्छा प्रदर्शन करें और 4 अगस्त को प्रसारित होने वाले सेमीफाइनल मुकाबले में तुर्की की बुसेनाज सुर्मेनेली को हराकर जीत का सिलसिला जारी रखें। ये सेमीफाइनल मैच आप 4 अगस्त को 11 बजे देख सकते हैं।

इन्हें भी पढ़े :  
>  निका बत्रा भारतीय महिला टीम की टेबल टेनिस की सबसे दिग्गज खिलाड़ी
>  भारत के शेरशाह विक्रम बत्रा की कहानी
>  औलम्पिक में रजत मैडल हासिल करने वाली पहली महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू 
>  आठ बार की विश्व चैम्पियनशिप मैरी कॉम का जीवन परिचय 
>  भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु का जीवन परिचय

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने लवलीना बोरगोहेन (Indian Boxer Lovlina Borgohain biography hindi) के जीवन पर प्रकाश डाला और जाना की किस प्रकार वे अपने जीवन में कठिन परिश्रम कर के मुक्केबाजी में अपना नाम कमाई हैं। हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा। यदि पसंद आया हो तो इसे अपने मित्रो के साथ अवश्य शेयर करें।

Leave a Comment